बहुत कुछ लाया है आपके लिए साल 2022

मेष: (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)

व्यवसाय:-व्यवसायिक कार्य में आसानी से सफलता मिलेगी, दशम और एकादश भाव का शनि आपको हर तरह से मदद करता है, यदि आप नौकरी पेशा हैं तो इस वर्ष आपको गोपनीय किस्म के कार्य, न्याय नीति, प्रशासन, वित्त जैसे महत्वपूर्ण कार्य आपको सौपें जा सकते हैं.

धन-सम्पत्ति:- पुरानी या कम उपयोगी सम्पत्ति का नये ढ़ंग से उपयोग करने पर सक्रियता से विचार होगा तथा इस हेतु बड़ा खर्च भी हो सकता है. तैयार मकान, दुकान की खरीद का भी योग बन रहा है, कृषि या गोदाम कार्य हेतु भी सम्पत्ति की खरीद का संकेत है. सेकेण्ड हैण्ड मशनरी संयंत्र खरीद या बिक्री से भी आप लाभान्वित होगें.

स्वास्थ्य:- आपके स्वास्थ्य की कोई बड़ी समस्या दूर होगी, वर्ष के दौरान आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, कार्य कुशलता में वृद्धि होगी, कोई बड़ी व्याधि स्वास्थ्य में बाधक नहीं होगी, अस्वस्थ्य होने की स्थिति में उपचार से शीघ्र आराम मिलेगा.

परीक्षा प्रतियोगिता:-अनुसंधान कार्यों में रुचि बढ़ेगी और सफलता भी मिलेगी, परीक्षा प्रतियोगिता में सफलता मिलेगी. यदि आप उच्च अध्ययन के लिये बाहर जाना चाहते हैं तो प्रतिष्ठित संस्थान में प्रवेश मिल जायेगा. प्रयत्न करने पर भाग्य आपका साथ होगा.

यात्रा प्रवास तबादला:-यदि आप बाहर कार्यरत हैं तो इस वर्ष आपको अपने गृह नगर या उसके निकट आने का अवसर मिलेगा. उत्तर या पश्चिम दिशा से आप विशेष लाभान्वित होगें. जनवरी का उत्तरार्ध, जून जुलाई यात्रा भ्रमण अथवा लम्बे अवकाश के संकेत हैं. यदि
आपकी जन्म पत्रिका का शनि या राहु प्रतिकूल है तो मई जून के दौरान स्थान परिवर्तन परेशानीदायक रह सकते हैं.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:-चीटियों को पंजीरी चुनाना, पक्षियों को दाना डालना लाभकारी रहेगा. इस वर्ष सत्संग लाभ का अवसर प्राप्त होगा। आध्यात्मिक कार्यों में रूचि बढ़़ेगी, किसी संत पुरूष के दर्शन का योग है.

वृषभ: (इ, उ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो)

व्यवसाय:-व्यवसाय में आपको अधिक परिश्रम करना पड़ेगा, आपका यह श्रम निजी हित की पूर्ति में कम रहेगा और परोपकार में अधिक रहेगा, आपका इरादा व्यवसायिक क्षेत्र में बड़ी पूंजी खर्च करके महत्वाकांक्षी योजनाओं को साकार करने का बनेगा, यह एक दीर्घावधि का उपक्रम सिद्ध होगा, जिसके लाभकारी परिणाम थोड़ी देर से मिलेगें.

धन-सम्पत्ति:- यह भी सम्भव है कि इस वर्ष आपकी पुरानी सम्पत्ति की खरीद बिक्री हो. बड़े उद्देश्यों के लिये पूंजीगत व्यय बढ़ेगा, महत्वाकांक्षी योजना का लाभ होगा, सम्पत्ति का निर्माण होने की स्थिति में उससे भी लाभ का योग है.

स्वास्थ्य:- वर्ष के दौरान अधिकतर स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, मार्च में स्नायु तनाव, चोट मोच, रक्त की कमी सम्भव है. जून में लापरवाही के कारण स्वास्थ्य नरम गरम हो सकता है. एलर्जी से भी कष्ट की सम्भावना है. वर्षान्त में उच्च रक्तचाप के रोगियों को सावधानी रखनी चाहिये, स्वास्थ्य नरम गरम हो सकता है.

परीक्षा प्रतियोगिता:- बौद्धिक श्रम में अच्छी सफलता के योग हैं. प्रतियोगिताओं में दूसरों को काफी पीछे छोड़ने में सफल होगें. प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से अच्छे संस्थान पर प्रवेश मिल सकता है, नौकरी में भी परीक्षाओं के माध्यम से सफलता मिलेगी. समय अच्छा है, परिश्रम से लाभ उठायें.

यात्रा प्रवास तबादला:- आपके व्यवसाय में रद्दोबदल के कारण यात्रायें अधिक होगीं. मई जून और नवम्बर दिसम्बर की यात्रायें विशेष लाभकारी रहेंगी. अप्रैल मई में लम्बी छुट्टी लेनी पड़ सकती है, या बाहर रहना पड़ सकता है. नौकरी में तबादला हो सकता है, तीर्थ दर्शन के योग है.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:- चिंतन, मनन एवं अनुभूति दोनों स्तर पर उपलब्धियां आध्यात्मिक क्षेत्र में होगीं, सिद्ध संत या बुजुर्ग व्यक्ति का आर्शीवाद फलीभूत हो सकता है, राहु केतु के कारण मानसिक अस्थिरता के संकेत हैं, इसलिये चीटियों-मछलियों को दाना चुगाना और भगवान गणेश की उपासना से लाभ होगा.

मिथुन:- (का, की, कु, के, को, घ, ड़, छ, हा)

व्यवसाय:- अप्रैल से जुलाई तक के समय को छोड़कर शेष समय अढ़ैया शनि का प्रभाव रहेगा. आपकी राशि वालों को गुरू का वर्ष भर नवम और दशम भाव में भ्रमण शुभ फल देता शनि जहां आपको परिश्रम अधिक कराते हैं, वहीं सफलताकारक भी हैं.

धन-सम्पत्ति:- गोचर के ग्रह आपको परिश्रम से अच्छा लाभ प्रदान करते हैं, धन लाभ, सम्पत्ति और सम्मान की प्राप्ति होगी, नये धन्धे, कारोबार का विचार होगा, नये कार्यों में एजेंसी परामर्श, दुकान आदि से धन एवं सुख साधनों में उत्तरोत्तर वृद्धि होगी. पारिवारिक उपयोग के लिये सम्पत्ति का क्रय हो सकता है.

स्वास्थ्य:-वर्ष के दौरान अधिकतर स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, किन्तु मार्च में चोट मोच या स्नायु संबंधी तनाव बन सकता है, वर्षान्त में एलर्जीजन्य कष्ट सम्भावित है, वरिष्ठजनों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें. यदि आप उच्च रक्तचाप के मरीज हैं तो अगस्त सितम्बर अक्टूबर सावधानी के हैं.

परीक्षा प्रतियोगिता:- गुरू का गोचर आपको बौद्धिक क्षेत्र में उच्च कोटि की सफलता दिला सकता है, अतएव परिश्रमी बने रहें, प्रतियोगी परीक्षाओं में आप दूसरों को पीछे छोड़कर आगे निकलने में सफल होंगे, जून जुलाई अगस्त का समय इस दृष्टि से विशेष आशाजनक रहेगा, संतान की उन्नति होगी.

यात्रा प्रवास तबादला:- अनचाहे रद्दोबदल नहीं होंगे, मार्च और जून के उत्तरार्ध में नौकरी में अधिकारियों से परेशानी हो सकती है. नवम्बर दिसम्बर में छुट्टी अधिक लेना पड़ सकती है और घर के बाहर भी रहना पड़ सकता है. परिवार के साथ आनंददायक यात्रा के योग हैं, तीर्थ दर्शन का लाभ होगा.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:- अढैÞया शनि के कुप्रभाव से बचने के लिये शनि के बीज मंत्र का जप करना, हनुमान जी को तेल का दीपक रखना, हनुमान चालीसा या बजरंग बाण का पाठ करना लाभकारी रहेगा.

कर्क : (ही, हू हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)

व्यवसाय:-अप्रैल से गुरू का शुभकारक प्रभाव विशेष रूप से रहेगा, अतएव इस वर्ष आप व्यवसाय में कोई नया कार्य अवश्य करेगें. यदि आप नौकरी पेशा हैं तो नये पद बनने से पदोन्नति होने, नये विभाग में प्रतिनियुक्ति मिलने का योग प्रबल है.

धन-सम्पत्ति:- स्थायी संपत्ति भूमि, भवन, दुकान, गोदाम, गैरेज, शोरूम आदि की प्राप्ति आपके व्यवसाय की प्रकृति तथा पत्रिका के ग्रहयोग के अनुसार निश्चय ही हो सकती है. विद्यमान सम्पत्ति में से कुछ का विक्रय कर नयी खरीद होने का संकेत है.

स्वास्थ्य:- आपका स्वास्थ्य अधिकतर ठीक रहेगा, नये उपक्रमों में आपका उत्साह बना रहेगा. यद्यपि मार्च और जून में कुछ निराश रह सकते हैं, पुरानी व्याधि से पीडा हो सकती है. डायविटीज के रोगियों को सकारात्मक रिपोर्ट प्राप्त हो सकती है.

परीक्षा प्रतियोगिता:- बाधाओं के बावजूद आप अध्ययन में सबको पीछे छोड़ते हुये उल्लेखनीय सफलता प्राप्त करेगें. नये विषयों के अध्ययन में आप आगे बढ़ेंगे जिसमें कुछ बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है, परन्तु आपके गोचर के ग्रहयोग के प्रभाव से आने वाली समस्याओं का सरलता से समाधान करते हुये सफलता प्राप्त कर सकेगें.

यात्रा प्रवास तबादला:-आपको कारोबार को लेकर लाभकारी यात्राओं के अवसर भी प्राप्त होंगे. यदि आप इच्छित स्थान या कार्यक्षेत्र में बदलाव करना चाहते हैं तो सफलता प्राप्त हो सकती है. मार्च अप्रैल और जून के अंत में यात्रा आदि के योग बन सकते हैं, जिसमें आपको अपनी सजकता बनाये रखना लाभकारी सिद्ध होगा.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:- परोपकारी गतिविधियां, सामाजिक ट्रस्ट के संचालन आदि में महत्वपूर्ण कार्य मिल सकता है. कोई धार्मिक अनुष्ठान, उत्तर दिशा के तीर्थ का दर्शन करने के अवसर मिलेंगे.

सिंह:- (मा, मी, मू, मे, मो, टा,टी, टू, टे)

व्यवसाय:-आप अपने अथक परिश्रम से इस वर्ष व्यवसाय में अपने लिये एक विशेष जगह बना सकेंगे. यदि आप उद्योग, व्यापार एजेंसी कार्य में उत्पादन कार्य करते हैं तो पूंजीगत किये गये खर्चों की भरपायी इस वर्ष हो सकेगी.

धन-सम्पत्ति:- आपको इस वर्ष चल और अचल दोनों प्रकार की सम्पत्तियों की प्राप्ति हो सकती है, बैंक में जमा पंूजी के बढ़ने, स्वर्ण आभूषण की प्राप्ति होने तथा सुख सुविधा के नये आधुनिक साधन प्राप्ति का योग है. यदि सम्पत्ति की खरीद निर्माण कार्य में बाधा आ रही है अथवा लाभ प्राप्त नहीं हो पा रहा है तो इस वर्ष पूरे हो सकेगें.

घर परिवार:- पारिवारिक क्षेत्र में चली रही तनाव अलगाव की समस्या इस वर्ष दूर हो सकेगी, साथ ही भाई बंधु या पड़ौसी से आपसी मतभेद हो सकता है, किन्तु कोई समस्या नहीं बनेगी. मई से नवम्बर के बीच घर परिवार में शुभ कार्य.

स्वास्थ्य:- अष्टम गुरू और चैथे केतु के कारण आपको पुरानी व्याधि, जोड़ो में दर्द, सर्दी कफ जन्य व्याधियां तथा स्नायविक तनाव या कंधे कमर घुटनों में तकलीफ संभावित है.

परीक्षा प्रतियोगिता:- आपके द्वारा किया गया परिश्रम सार्थक होगा, समय आपका साथ देगा, अत: भाग्य और पुरूषार्थ का मेल होने से उल्लेखनीय सफलता परीक्षा प्रतियोगिता में प्राप्त कर सकेंगे.

यात्रा प्रवास तबादला:- यदि आप नौकरी में बाहर हैं तो इस वर्ष इच्छानुसार तबादला कराकर घर वापिस हो सकते हैं, किसी लम्बी यात्रा, भ्रमण या लम्बे अवकाश लेने की दृष्टि से इस वर्ष महत्वपूर्ण है. इस वर्ष धार्मिक तीर्थ स्थान की यात्रा का योग भी बन रहा है.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:- केले का पूजन करना, मछलियों को दाना चुगाना लाभकारी है. आप धर्मशास्त्रों के अध्ययन में तथा सत्संग लाभ लेने की ओर ध्यान रहेगा।

कन्या:- (टो, पा, पी, पू, पे, पो, ष, ण, ठ)

व्यवसाय:-यदि आपकी पत्रिका में गुरू या शनि या दोनों शुभ हैं तो आपको इस वर्ष व्यवसाय के सिलसिले में देशदेशान्तर का भ्रमण करने अथवा विदेश जाने का अवसर भी मिलेगा, आपको विदेशी पूंजी या तकनीक के माध्यम से अपना कारोबार बढ़ाने का मौका मिलेगा. नौकरी उद्योग धन्धे के सिलसिले में पदोन्नति पर कारोबार की नयी शाखायें खोलने का मौका मिलेगा.

धन-सम्पत्ति:- लम्बे समय से बकाया धन प्राप्त हो सकता है, जिससे आपको आर्थिक लाभ प्राप्त होता रहेगा. बैंक से लोन, किसी की जमानत तथा बडेÞ कर्ज लेने से बचना चाहिये. कानूनी विवाद या झगडे के कारण अपव्यय होने का संकेत है.

स्वास्थ्य:- आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्यायें, लीवर की खराबी, अपच, गैस ट्रबल आदि से कष्ट हो सकता है. यदि पत्रिका में ग्रहयोग अनुकूल नहीं है तो जोडों में दर्द, चोट मोच दुर्घटना आदि से सावधानी बरतना लाभकारी रहेगा तथा इलाज से शीघ्र लाभ होगा.

परीक्षा प्रतियोगिता:- परीक्षा प्रतियोगिता में इच्छानुकूल सफलता प्राप्त करने के लिये अधिक परिश्रम व लगनशीलता से कार्य करना होगा. मार्च से जून के मध्य अप्रत्याशित ढंग से सफलता मिल सकती है, उच्च अध्ययन में विषय परिवर्तन या अन्य विलम्ब सम्भावित हैं। कैरियर की दृष्टि से यह वर्ष उपलब्धियों वाला रहेगा.

यात्रा प्रवास तबादला:- व्यवसाय या नौकरी में एक से अधिक बार परिवर्तन हो सकते हैं, यदि आपकी काफी समय से किसी पद या नगर में वापसी रूकी है तो मार्च से जून के मध्य यह वापसी हो सकती है.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:- हनुमानजी की आराधना करना, राहु के मंत्र का जप करना और श्रीराम रक्षा स़्त्रोत का पाठ करना विशेष लाभकारी है. आपको तीर्थयात्रा, संतों का समागम, धार्मिक कार्य का लाभ होगा.

तुला:- (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)

व्यवसाय:- आप उन्नति की ओर अग्रसर रहेगें, यदि आपने अपने कार्यक्षेत्र में विस्तार, बदलाव तथा नये कार्य आरम्भ या नई तकनीक अपनाने की कोशिश की है तो यह वर्ष आपके जीवन में तरक्की वाला साबित होगा. जिससे आपकी महत्वाकांक्षायें पूरी हो सकेंगी।

धन-सम्पत्ति:- स्थायी सम्पत्ति प्राप्ति की दृष्टि से महत्वपूर्ण रहने वाला है, बना बनाया मकान, पुरानी जायदाद, फैक्ट्री मशीनरी आदि की प्राप्ति योग प्रबल है. खेती बागवानी, स्थायी सम्पत्ति से किरायेदारी आदि के माध्यम से स्थायी लाभ प्राप्त होगा. नवम्बर दिसम्बर के मध्य पुरानी लेनदारी मिलने का योग है.

स्वास्थ्य:- कार्य क्षमता एवं चित्त की एकाग्रता अच्छी रहेगी, आपकी दिनचर्या भोजन संबंधी आदत इस वर्ष कई कारणों से अनियमित होने का संकेत हैं, उदर विकार, मोटापेजन्य कष्ट, स्नायविक तनाव, पित्त विकार से परेशानी हो सकती है. वैसे सामान्य तौर पर आपका स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, जिससे आप कठिन से कठिन श्रम करके अपने कार्य पूरे करते रहेंगे।

परीक्षा प्रतियोगिता:- अध्ययन में एकाग्रता बढ़ेगी, गंभीर विषयों पर चिंता होगा, बौद्धिक कार्यों में आपकी योग्यता कीर्तिमान स्थापित कर सकती है. जून से नवम्बर के मध्य अनिश्चय परिवर्तन तथा एकाग्रता में कमी लक्ष्य की प्राप्ति में थोड़ी बाधा भी बन सकती है. प्रतियोगी परीक्षाओं में उल्लेखनीय सफलता का योग है.

यात्रा प्रवास तबादला:- किसी बड़े उद्देश्य की पूर्ति को लेकर यात्रायें अधिक होंगी, यात्रा प्रवास में आपको अधिकतर सुख सुविधायें अच्छी मिलेंगी. उत्तर दिशा की यात्रा से लाभ होने का योग है. यदि आप लम्बे समय से स्थानांतरण पर बाहर हैं तो आपकी वापिसी का योग बन सकता है.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:-आपको इष्टदेव की आराधना, शनि के बीज मंत्र का जप करना, किसी उद्यान आदि में पीपल या बड़ का पौधा लगाकर उसकी देखभाल का संकल्प लेना लाभकारी है, उत्तर तथा पश्चिम दिशा के तीर्थों आदि के दर्शन का योग बन सकता है.

वृश्चिक:- (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)

व्यवसाय:- आपको अपने व्यवसाय की प्रकृति तथा जन्मपत्रिका में गुरू शनि राहु की स्थिति के अनुसार नये संस्थान की शुरूआत करने का मौका मिलेगा, ता. 29 अप्रैल से 12 जुलाई तक अढ़ैया शनि का अल्प प्रभाव लाभकारी रहेगा. विद्यमान फर्म कंपनी की सहायक कंपनी, शाखा खोलने में कारोबार की बढ़ती हुयी साख व कामकाज की अधिकता मुख्य प्रेरणा रहेगी. नये उद्योग धन्धे स्थापित करने के लिये भ्ूामि भवन व पूंजी एवं श्रम साधन की सहज उपलब्धता आपको लाभकारी रहेगी.

धन-सम्पत्ति:- आपको नयी तथा पुरानी दोनों तरह की सम्पत्ति प्राप्ति का योग है. वतर्मान सम्पत्ति का विस्तार होने, नये सिरे से निर्माण होने दुकान शोरूम की प्राप्ति होने का संकेत है. पारिवारिक क्षेत्र में भी संपत्ति के विभाजन या एक से अधिक स्थानों पर इसकी देखभाल की स्थिति बन सकती है. आपको व्यवसाय, उद्योग धन्धे, कृषि बागवानी आदि से पंूजीगत लाभ प्राप्ति का योग है.

स्वास्थ्य:- पुरानी बीमारी विशेषकर कफ, वात सम्बन्धी, मूत्राशय आदि के विकार, अनियमित दिनचर्या से आपका स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है, किन्तु इलाज से शीघ्र स्वास्थ्य लाभ होगा. ऊंचाई से गिरने या फिसलने से चोट लगने की सम्भावना है, परन्तु इस वर्ष मनोवृत्ति उत्साह पूर्ण रहेगी, अधिकतर स्वास्थ्य ठीक रहेगा.

परीक्षा प्रतियोगिता:- यदि आप संस्थागत अध्ययन करना चाहते हैं तो अपनी बुद्धि कौशल से आपकी आकांक्षा पूरी हो सकती है. विषयों में रद्दोबदल से से मानसिक तनाव की स्थिति निर्मित हो सकती है. मार्च और अप्रैल के दौरान पारिवारिक कारणों से परीक्षा की तैयारी में कमी आ सकती है.

यात्रा प्रवास तबादला:- यदि आप तबादले पर घर परिवार से दूर हैं तो इस वर्ष वापसी का योग घटित हो सकता है, अपने परिवार सहित आनंददायक यात्रा पर जाने का, हवाई यात्रा करने का, शिक्षा परीक्षा हेतु यात्रा का अवसर मिलेगा। अधिकतर स्थानांतरण तथा यात्रा प्रवास अनुकूल रहेंगे. किसी प्रभावशाली पदाधिकारी के हस्ताक्षेप से अनचाहे स्थानांतरण होने की सम्भावना भी बनती है.

धनु:- (ये, यो, भा, भी, भू, भे, फा, ढ़ा, धा)

व्यवसाय:- आपका कारोबार अपनी पूरी क्षमता पर पहुंचने के साथ-साथ नयी कार्य प्रणाली एवं आधुनिक तकनीक के कारण नयी ऊर्जा से नये उद्देश्यों की ओर बढ़ेगा, यदि आप फैक्ट्री, संयंत्र, उत्पादन, या वितरण कार्य से सम्बन्धित मालिक, व्यवस्थापक या कर्मचारी है, तो यह वर्ष आपके लिये विशेष उन्नतिकारक सिद्ध होगा. व्यवसाय की प्रकृति के अनुसार महत्वपूर्ण उतार चढ़ाव का सामना जून से नवम्बर के मध्य हो सकता है.

धन-सम्पत्ति:- यह वर्ष स्थायी संपत्ति प्राप्ति की दृष्टि से महत्वपूर्ण रहने वाला है, बना बनाया मकान, पुरानी जायजाद, तैयार नयी फैक्ट्री, मशीनरी आदि प्राप्ति का योग है. कृषि बागवानी में अच्छे लाभ की सम्भावना है. कृषि उपकरण भी खरीदे जा सकते हैं, किरायेदारी, पट्टेदारी आदि से भी स्थायी लाभ का योग है.

स्वास्थ्य:- चैथे गुरू और शनि के प्रभाव से अधिक कार्यभार अव्यवस्थित कार्य पद्धति के कारण जनवरी से मई से अगस्त के बीच स्वास्थ्य कष्ट तथा कार्य की अनुकूलता में कमी हो सकती है. इस अवधि में उदर विकार, हृदय रोग, डायविटीज जैसी बीमारियां उभर सकती है. वर्ष के मध्य कंधे, कमर में दर्द, चोट की सम्भावना है.

परीक्षा प्रतियोगिता:- कॅरियर की दृष्टि से यह वर्ष उपलब्धियों से भरा रहेगा, विभागीय परीक्षाओं में अथवा उच्च अनुसंधान जैसे कार्यों में अच्छी सफलता मिलेगी, गोचर ग्रह के कारण बीच-बीच में बाधायें भी पैदा होगीं, भ्रमित कर सकता है. परन्तु राशि स्वामी गुरू के कारण अन्त में बाधायें दूर होकर सफलता मिलेगी.

यात्रा प्रवास तबादला:- मार्च से जून के बीच अनुकूल स्थानांतरण या मनचाहे यात्रा प्रवेश होने का संकेत है. प्रयास करने पर परिवर्तन निरस्त भी हो सकता है. यदि आप नौकरी में घर से दूर हैं अथवा अन्यत्र व्यवसाय कर रहे हैं तो वर्ष के मध्य या वर्ष के अन्त में वापिसी का योग है.

मकर:- (भो, जा, जी, खा, खी, खू, खे, खो)

व्यवसाय:-शनि के कारण परिश्रम अधिक होगा और लाभ भी मिलेगा. गुरू का भ्रमण दूसरे और तीसरे भाव में लाभकारी है. यदि आपकी पत्रिका में शनि अच्छी स्थिति में है तो उच्च व्यक्ति के परामर्श दाता, सचिव, सलाहकार आदि बनाये जाने का प्रस्ताव भी अनायास मिल सकता है.

धन-सम्पत्ति:- नयी सम्पत्ति का निर्माण या खरीद के साथ-साथ पुरानी कम उपयोगी सम्पत्ति, मशीनरी आदि को उपयोगी बनाने पर भी व्यय अधिक होगा. कृषि बागवानी के क्षेत्र में यदि आप पहिले से ही रुचि रखते हैं तो इस वर्ष आपका ध्यान नये संस्थानों के उपयोग की ओर अधिक रहेगा.

स्वास्थ्य:- वर्ष के आरम्भ में उदर या मूत्र विकार की सम्भावना है. आपके व्यक्तित्व में आकर्षण बढ़ेग़ा, राहु और केतु के प्रभाव से चर्बी बढ़ने की सम्भावना है. हृदय रोगियों को हृदय संबंधी समस्या उभर सकती हैं.

परीक्षा प्रतियोगिता:- आपको संस्थागत दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से अपनी शैक्षणिक और व्यवसायिक योग्यता बढ़ाने का अवसर इस वर्ष प्राप्त होगा. इस अवसर का सदुपयोग समय रहते कर लेना बेहतर होगा. आपके कैरियर को नयी ऊंचाइयों तक ले जाने में इस वर्ष परिस्थितियां आपके अनुकूल रहेंगी.

यात्रा प्रवास तबादला:- कार्य क्षेत्र में बड़े स्थान परिवर्तन अधिकतर नहीं होगें. जो भी स्थानांतरण या कार्य क्षेत्र संबंधी बदलाव होगें वे सब आपकी इच्छा या सहमति होगें. आपके लिये उन्नतिकारक व सुविधाजनक समय कहा जा सकता है.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:- आपकी राशि में शनि राहु का विशेष प्रभाव है. इसलिये चीटियों को आटा शक्कर चुनाना, पीपल की पूजा करना, तेल का दीपक रखना, पक्षियों को दाना डालना लाभकारी रहेगा. हनुमानजी की आराधना लाभकारी रहेगी.

कुंभ: (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, द)

व्यवसाय:-पूरे वर्ष आपकी राशि वालों को साढ़ेसाती शनि का प्रभाव रहेगा परन्तु शनि आपका राशि स्वामी है, इसलिये लाभ भी अच्छा देगा. नये उद्योग धन्धे के लिये महत्वाकांक्षी, ब्लूप्रिंट रूपरेखा इस वर्ष तेजी से आकार लेगी, किसी प्रभावशाली व्यक्ति के माध्यम से आपको अपनी योजनाओं को आगे बढ़ाने में मदद मिल सकती है.

धन-सम्पत्ति:-इस वर्ष के आरंभ में पंूजीगत बड़े व्यय हो सकते हैं, जो आपकी महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति की दिशा में एक बड़ा आधार बनेगा, बड़े कार्यों के लिये पूंजी की व्यवस्था में कोई विशेष कठिनाईयां नहीं होगी, विभिन्न माध्यम से या आसान किश्तों पर ऋण की व्यवस्था हो सकती है.

स्वास्थ्य:- अधिकतर स्वास्थ्य अच्छा रहेगा, आपकी कार्य क्षमता बनी रहेगी, आपको पित्त संबंधी ब्याधि, डायविटीज, लीवर से संबंधित छोटी मोटी शिकायत हो सकती है, जो इलाज से शीघ्र सफलता मिलेगी. चित्त में एकाग्रता की कमी का अनुभव हो सकता है.

परीक्षा प्रतियोगिता:- आपको इस वर्ष कड़ी प्रतिद्वंद्वता का सामना करना पड़ेगा, परन्तु परिश्रम करने पर आपको उसका उचित फल प्राप्त होगा. जनवरी से मार्च और जुलाई से सितम्बर के मध्य चित्त में अशांति के कारण आपको अपना लक्ष्य साधने में रुकावट आ सकती है.

यात्रा प्रवास तबादला:- मार्च से मई के मध्य उत्तर दिशा की यात्रा, भ्रमण आदि हो सकती है. यदि आप तबादले पर बाहर हैं तो इस दौरान आपकी इच्छित स्थान पर वापिसी हो सकती है. विभागीय परितर्वन हो सकता है. यदि अपने इच्छा के स्थान पर विभागीय परिवर्तन चाहते हैं तो प्रयासों में सफलता मिलेगी.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:-धार्मिक स्थलों के दर्शन का योग है, सत्संग का लाभ होगा. घर पर अनुष्ठान पूजन का आयोजन हो सकता है. शनि की शांति के लिये हनुमानजी को चोला चढ़ाना, शनि के मंत्र , हनुमान जी के दर्शन करना, गुरूवार को गाय को केला खिलाना लाभकारी रहेगा.

मीन:- (दी, दू, दे, दो, चा, ची, थ, झ, त्र)
व्यवसाय:-आपके कारोबार में लम्बे समय से रुके हुये कार्य बन सकते हैं, आप अपने कारोबार का नवीनीकरण तथा इसमें नयी तकनीक के उपयोग से गुणवत्ता एवं मात्रा बढ़ाने का विचार बनायेंगे, जो वर्ष के मध्य में आकार ले सकता है. फरवरी से अप्रैल के मध्य आपको अपने उद्योग धन्धे या शादी के कार्यों में आकस्मिक कठिनाईयों का अनुभव होगा.

धन-सम्पत्ति:- कुछ माध्यमों से बचत होगी, बहुमूल्य रत्न सामग्री, स्वर्ण आभूषण, कीमती सजावटी वस्तुयें खरीद सकते हैं, इस वर्ष आपके बड़े उद्देश्यों पर व्यय अधिक हो सकता है, जिसमें शुभ कार्यों, विवाह और कारोबर का विस्तार मुख्य रहेगा. फरवरी से जून के मध्य कुछ महत्वपूर्ण निर्णय होगें.

स्वास्थ्य:- श्वांस या मधुमेह संबंधी पुराने रोगियों को कष्ट हो सकता है, एलर्जी और जोड़ों में जकड़न और वृद्धावस्थाजन्य व्याधियों से कष्ट के योग हैं. इस दृष्टि से मई से जून और सितम्बर से नवम्बर के मध्य विशेष ध्यान रखें। उपचार से लाभ होगा.

परीक्षा प्रतियोगिता:- अच्छी सफलता मिलेगी, इससे आपको अपने लक्ष्य की पूर्ति में रुकावट नहीं आयेगी. फरवरी से मई के दौरान आपको अपनी प्रतियोगिता परीक्षाओं में कैरियर से जुड़ी तैयारी में पारिवारिक या पुरानी समस्याओं के कारण पर्याप्त ध्यान दे पाने में कठिनाई आ सकती है.

यात्रा प्रवास तबादला:- मई या जून के उत्तरार्ध में अनचाहे स्थान पर तबादला हो सकता है, जो प्रयास करने से निरस्त भी हो जायेगा, इस वर्ष लम्बा अवकाश लेकर परिवार के साथ धार्मिक और मनोरंजक यात्रा के योग मई से जून के मध्य बन सकते हैं। व्यवसायिक यात्राओं के विशेष योग हैं.

धार्मिक कार्य ग्रहशांति:-शनि, गुरू और केतु की शांति के लिये शनिवार को हनुमान जी की आराधना करना और गुरूवार को गाय को केला खिलाना, शिवजी की आराधना करना लाभकारी रहेगा. पुण्य स्थल के दर्शन और निवास का संयोग भी जनवरी से मई के बीच बन सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close