Home ज्योतिष प्रधानमंत्री मोदी ने अक्षय पात्र के कार्यक्रम में बच्चों को थाली परोसी,...

प्रधानमंत्री मोदी ने अक्षय पात्र के कार्यक्रम में बच्चों को थाली परोसी, संग बैठकर किया भोजन

27
0

वृंदावन. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को वृंदावन में अक्षय पात्र फाउंडेशन के कार्यक्रम में स्कूली बच्चों को थाली परोसी और खुद भी उनके साथ बैठकर भोजन किया. इतना ही नहीं प्रधानमंत्री ने बच्चों के साथ जमकर हंसी-ठिठोली की और उन्हें अपने हाथों से खाना भी खिलाया.

कार्यक्रम की शुरुआत में प्रधानमंत्री ने श्री प्रभुपाद एसी भक्तिवेदांता स्वामी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी. इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘‘यदि हम सिर्फ पोषण अभियान को हर माता, हर शिशु तक पहुंचाने में सफल हुए तो अनेक जीवन बच जाएंगे.’’

इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आबादी के लिहाज से उत्तर प्रदेश देश का सबसे बड़ा राज्य है. राज्य के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में करीब 1.77 करोड़ बच्चे पढ़ते हैं. इन सभी बच्चों को मध्याह्न भोजन उपलब्ध कराया जाता है. उन्होंने कहा कि इस कार्य में अक्षय पात्र फाउंडेशन से मदद ली जाती है. सरकार ने राज्य के 10 जनपदों में संस्था के साथ इस सहयोग को आगे बढ़ाने का निर्णय लिया है.

फाउंडेशन के उपाध्यक्ष मोहन दास पई ने बताया कि अक्षय पात्र ने यह कार्यक्रम पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में शुरू किया था. 2016 में 2 अरबवीं थाली परोसने के कार्यक्रम में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी यहां पधारे थे. उन्होंने बताया कि संस्था का लक्ष्य अब 2025 तक स्कूली दिनों में प्रतिदिन 50 लाख बच्चों को भोजन परोसने का है.

फाउंडेशन के अध्यक्ष मधु पंडित दास ने कहा कि अभी सिर्फ आठवीं कक्षा तक के बच्चों को मध्याह्न भोजन मिलता है. हम प्रधानमंत्री से आग्रह करेंगे कि वह मिड-डे मील का विस्तार कर 12वीं कक्षा तक के बच्चों को इसमें शामिल करें.

इस अवसर पर प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अलावा प्रदेश के दुग्ध विकास, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य, अल्पसंख्यक कल्याण, मुस्लिम वक्फ एवं हज मंत्री चौ. लक्ष्मी नारायण, ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा, बेसिक शिक्षा, बाल विकास, एवं पोषाहार मंत्री अनुपमा जायसवाल, सांसद हेमामालिनी तथा विधायक गण भी उपस्थित थे.

फाउंडेशन के चेयरमैन मधु पंडित दास, वाइस चेयरमैन मोहन दास पई, न्यासी, कॉरपोरेट सहयोगी, विभिन्न संगठनों से आए विशिष्टजनों, सवा सौ स्कूलों से आए बच्चों व अन्य गणमान्य व्यक्तियों ने भी कार्यक्रम में भाग लिया.

भारत की परंपरा और संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है गाय
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गाय को भारत की परंपरा और संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा बताते हुए सोमवार को कहा कि उनकी सरकार ने गौ और गौवंश के स्वास्थ्य में सुधार के लिए कई कदम उठाए हैं. मोदी ने यहां एक कार्यक्रम में कहा कि गाय ग्रामीण अर्थव्यवस्था का भी महत्वपूर्ण हिस्सा है.

उन्होंने कहा, ‘‘ हम गऊ माता का ऋण नहीं चुका सकते. गाय भारत की परंपरा और संस्कृति का महत्वपूर्ण हिस्सा है.’’ प्रधानमंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि उनकी सरकार ने गौ और गौवंश के स्वास्थ्य में सुधार के लिए कई कदम उठाए हैं तथा राष्ट्रीय गोकुल मिशन की शुरुआत भी की है.

मोदी ने कहा कि केन्द्रीय बजट में उनकी सरकार ने ‘राष्ट्रीय कामधेनु आयोग’ स्थापित करने के लिए 500 करोड़ रुपए का आवंटन भी किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here