व्यापार

बढ़ती कीमतों के बीच सरकार ने फुटकर, थोक व्यापारियों की प्याज स्टॉक सीमा घटाई

नयी दिल्ली. प्याज की बढ़ती कीमतों पर अंकुश लगाने के प्रयास जारी रखते हुए सरकार ने मंगलवार को खुदरा और थोक विक्रेताओं के लिए प्याज की स्टॉक सीमा को घटाकर मौजूदा स्तर से आधा कर दिया. अब प्याज के थोक व्यापारी 25 टन और खुदरा व्यापारी पांच टन ही प्याज का स्टॉक अपने पास रख सकेंगे.

पिछले कुछ सप्ताह से प्याज की खुदरा कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. इस प्रमुख सब्जी की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कई उपाय किए गए हैं. उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा जारी आदेश के अनुसार, पहले खुदरा विक्रेताओं को 10 टन तक और थोक विक्रेताओं को 50 टन तक प्याज का स्टॉक रखने की अनुमति थी. अब वह इसके मुकाबले आधा स्टॉक ही रख पायेंगे.

आयातित प्याज के लिए स्टॉक होंिल्डग की यह सीमा लागू नहीं मानी जायेगी. आदेश में कहा गया है कि खुदरा विक्रेताओं और थोक विक्रेताओं को निर्देश दिया गया है कि वे मंत्रालय को दैनिक आधार पर खरीदे और बेचे जाने वाले प्याज के स्टॉक का विवरण दें. मंगलवार को संसद में प्याज की कीमतों पर एक सवाल के जवाब में, उपभोक्ता मामलों के राज्य मंत्री दानवे रावसाहेब दादाराव ने कहा कि पूरे देश में एक समान दर पर प्याज उपलब्ध कराने का कोई प्रस्ताव नहीं है.

दादाराव ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा, ‘‘नहीं सर. ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं है.’’ देश के प्रमुख शहरों में प्याज की कीमतें 75-100 रुपये प्रति किलोग्राम के उच्च स्तर पर बनी हुई हैं. उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय द्वारा जुटाये गये आंकड़ों के अनुसार, मंगलवार (3 दिसंबर) को औसत बिक्री मूल्य 75 रुपये प्रति किलोग्राम था, जबकि पोर्ट ब्लेयर में अधिकतम 140 रुपये प्रति किलोग्राम दर्ज किया गया.

खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने 19 नवंबर को कहा था कि वर्ष 2019-20 के खरीफ और खरीफ के विलंबित सत्र में प्याज का उत्पादन 26 प्रतिशत घटकर 52 लाख टन रहने का अनुमान है. स्टॉक रखने की सीमा तय करने के अलावा, सरकार ने प्याज के निर्यात पर पहले ही प्रतिबंध लगा दिया है और घरेलू आपूर्ति को बढ़ाने और मूल्य नियंत्रण के लिए 1.2 लाख टन प्याज आयात करने का फैसला किया गया है.

केन्द्र की ओर से प्याज का आयात करने वाली सरकारी स्वामित्व वाली व्यापार कंपनी, एमएमटीसी ने तुर्की से 11,000 टन प्याज के आयात का आॅर्डर दिया है. यह एमएमटीसी द्वारा दिया गया दूसरा आयात आॅर्डर है. सार्वजनिक क्षेत्र की यह कंपनी पहले से ही मिस्र से 6,090 टन प्याज का आयात कर रही है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close