छत्तीसगढ़देशमुख्य समाचार

महाराष्ट्र, मप्र और छत्तीसगढ़ में पॉल्ट्री के पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि

एफएसएसआई ने कम पका हुआ चिकन नहीं खाने की सलाह दी

नयी दिल्ली. केंद्र सरकार ने बृहस्पतिवार को कहा कि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कुछ और पॉल्ट्री फार्म के पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. अब तक छत्तीसगढ़, हरियाणा, केरल, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और पंजाब के कई पॉल्ट्री फार्म में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है.

मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि महाराष्ट्र के ठाणे, यवतमाल, वर्धा, गोंडिया, अहमदनगर और ंिहगोली जिलों के पॉल्ट्री फार्म से लिए गए नमूनों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है. मध्य प्रदेश के रायसेन जिले और छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में पॉल्ट्री फार्म के पक्षियों में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है.

बहरहाल, उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के हदहा, ंिसकदरपुर-करण में इस बीमारी की पुष्टि हुई है. मंत्रालय के मुताबिक, प्रभावित इलाकों में नियंत्रण एवं रोकथाम अभियान चल रहा है. हालात पर निगरानी के लिए गठित केंद्रीय दल महाराष्ट्र के परभनी जिले का दौरा कर चुका है. अब तक 10 राज्यों छत्तीसगढ़, दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, गुजरात और पंजाब में संक्रमण की पुष्टि हुई है.

एफएसएसआई ने कम पका हुआ चिकन नहीं खाने की सलाह दी
भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (एफएसएसआईए) ने बर्ड फ्लू के मद्देनजर बृहस्पतिवार को विस्तृत दिशा-निर्देश जारी करते हुए आधे उबले अंडे नहीं खाने और कुक्कुट मांस (दाना चुगने वाले पक्षियों का मांस) अच्छी तरह पकाकर खाने की सलाह दी.

इसके अलावा प्राधिकरण ने उपभोक्ताओं और खान-पान से जुड़े प्रतिष्ठानों से आग्रह किया कि वे ”घबराएं नहीं” और यह सुनिश्चित करें कि कुक्कुट मांस तथा अंडे दिशा-निर्देशों के अनुसार खाने के लिये सुरक्षित हैं.
प्राधिकरण ने अपने नए दिशा-निर्देश में बताया, ”अच्छी तरह पकाने से मांस या अंडों में मौजूद वायरस निष्क्रिय हो जाता है. जिन इलाकों में कुक्कुट पक्षियों में संक्रमण पाया गया है, वहां से आए मांस और अंडों को कच्चा या आधा पकाकर न खाया जाए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close