छत्तीसगढ़

मासूम बच्चों की हत्या कर मांओं ने कर ली खुदकुशी

भिलाईनगर/सुकमा. भिलाई नगर के जामुल इलाके और सुकमा से आज दो दिलदहला देने वाली खबरें आईं. दोनों ही घटनाओं में महिलाओं ने बच्चों की हत्या कर कथित रूप से खुदकुशी कर ली. पुलिस दोनों ही मामलों की जांच कर रही है.

पत्नी और 2बच्चों की फांसी पर लटकी लाश मिली
दुर्ग जिले के जामुल स्थित एसीसी प्लांट में सेμटी मैनेजर की नौकरी करने वाले रंजीत सिंह की पत्नी मीरा (39 साल) ने अपने दो
मासूम बच्चों की कथित रूप से हत्या करने के बाद फांसी लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली. परिवार प्लांट से लगी एसीसी की कॉलोनी में ही रहता था.

घटना के वक्त महिला और बच्चे अकेले थे. मीरा का पति रंजीत कुछ घंटे पहले ही नाश्ता कर ड्यूटी पर प्लांट निकल गया था. सुबह साढ़े 10 बजे घर में झाड़ू-पोंछा करने वाली महिला पहुंची, तो कमरा अंदर से बंद था. उसे शक हुआ, तो पड़ोस के लोगों को महिला ने
बुलाया. छावनी सीएसपी विश्वास चन्द्राकर ने बताया कि मकान की तलाशी ली गई, तो मीरा और उनकी पांच साल की बेटी सुप्रिया की लाश एक कमरे में फांसी पर लटकी मिली.

दूसरे कमरे में बेटे प्रत्यूश की लाश लटकी हुई थी. प्रत्यूश डीपीएस में कक्षा 5 वीं में पढ़ाई करता है. सुप्रिया एसीसी जामुल स्कूल में नर्सरी में पढ़ाई करती थी. इस घटना से कॉलोनी में हड़कंप मच गया है. एसपी प्रखर पाण्डेय ने बताया कि ऐसा अंदेशा है कि सुप्रिया का गला दबाया गया है. मौत की असली वजह सामने नहीं आ पाई है यह जांच का विषय है.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद भी स्पष्ट हो पाएगा. पुलिस ने फोरेंसिक विभाग की टीम के साथ पूरे मकान की बारीकी से जांच की. महिला के पति से भी इस बारे में जानकारी ली जा रही है.

दो बेटियों के साथ माँ ने पी लिया जहर
सुकमा जिले के कुकानार थाने के गांव पालेम में मानसिक रूप से बीमार महिला हुंगी दूधी ने अपनी दो बेटियों ममीता उम्र 6 माह और
संजना 4 वर्ष को जहर देने के बाद खुद भी जहर खा लिया. महिला और ममीता की मौत हो गई. संजना अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है. घर में महिला की बड़ी बेटी सात सात की सरिता भी थी. लेकिन वह मां की मंशा समझकर घर से भाग निकली.

घटना शनिवार शाम करीब साढ़े चार बजे की बताई जा रही है. उस वक्त घर में महिला और बच्चियों के अलावा केवल सास थी. परिवार के लोगों ने बताया कि हुंगी की मानसिक स्थिति कुछ दिनों से खराब थी. महिला का पति झाड़फूंक करवाने के लिए ससुराल
गया था. कुछ देर बाद हुंगा घर लौटा, तो पत्नी और बच्चियों की हालत खराब थीं. तीनों उल्टियां कर रहे थे.

सीआरपीएफ के जवानों की मदद से तीनों को छिंदगढ़ के अस्पताल में भर्ती करवाया गया. इलाज के दौरान पत्नी और सुनीता की मौत हो गई. एसपी सुकमा शलभ सिन्हा ने बताया कि इस मामले को दर्ज कर दिया गया और पुलिस जांच-पड़ताल कर रही है़

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close