Home छत्तीसगढ़ बालिका से बलात्कार मामले में रिश्तेदार को आजीवन कारावास की सजा

बालिका से बलात्कार मामले में रिश्तेदार को आजीवन कारावास की सजा

46
0

रायपुर. छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की अदालत ने बालिका से बलात्कार करने के मामले में करीबी रिश्तेदार को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. दुर्ग जिले में अतिरिक्त शासकीय लोक अभियोजक कमल किशोर वर्मा ने आज ‘भाषा’ को दूरभाष पर बताया कि जिले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश शुभ्रा पचौरी की अदालत ने 14 वर्षीय (बलात्कार के दौरान उम्र) बालिका के साथ बलात्कार के मामले में उसके करीबी रिश्तेदार को आजीवन कारावास और 10 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है.

अदालत ने अपने फैसले में कहा है कि वर्तमान में छोटी बालिकाओं के प्रति लगातार बढ़ती लैंगिक अपराध की घटनाओं को देखते आरोपी के साथ उदारता बरतना इस अदालत के मत में उचित प्रतीत नहीं होता है.

अधिवक्ता ने बताया कि मई वर्ष 2013 में व्यक्ति ने अपनी करीबी रिश्तेदार 14 वर्षीय बालिका के साथ जिले के पुलगांव थानाक्षेत्र में बलात्कार किया था. इस दौरान उसने बालिका को धमकी देकर उसे इस घटना के बारे में किसी को भी जानकारी न देने को कहा था. इससे बालिका डर गई और उसने इसके बारे में किसी को भी नहीं बताया.

उन्होंने बताया कि इसके बाद जब बालिका चार वर्ष बाद जनवरी वर्ष 2017 में जब राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ क्षेत्र के एक गांव में मेला देखने के लिए व्यक्ति के घर गई तो उसने उसके साथ फिर बलात्कार किया. व्यक्ति ने इस दौरान भी बालिका को किसी को भी नहीं बताने की धमकी दी.

वर्मा ने बताया कि जब व्यक्ति ने कुछ दिनों बाद परिवार की अन्य महिला से छेड़छाड़ की और परिजनों ने इसका विरोध किया तब हिम्मत करके बालिका ने भी इसकी जानकारी परिजनों को दी.

उन्होंने बताया कि सात जून वर्ष 2017 को बालिका के परिजनों ने पुलिस में मामला दर्ज कराया. बाद में पुलिस ने व्यक्ति को बलात्कार तथा लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धाराओं के तहत गिरफ्तार कर लिया. अतिरिक्त शासकीय अभियोजक वर्मा ने बताया कि अदालत में मामले की सुनवाई के बाद सोमवार को अदालत ने व्यक्ति को आजीवन कारावास और 10 हजार रूपये जुर्माने की सजा सुनाई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here