देशमनोरंजन

भजन गायक नरेंद्र चंचल का दिल्ली के अस्पताल में निधन

नयी दिल्ली. ‘चलो बुलावा आया है’ और ‘तुने मुझे बुलाया शेरा वालीए’ जैसी भक्ति गीतों के लिए लोकप्रिय ‘भजन’ गायक नरेंद्र चंचल का शुक्रवार को एक निजी अस्पताल में स्वास्थ्य संबंधी जटिलताओं के कारण निधन हो गया. वह 76 वर्ष के थे.

सूत्रों ने बताया कि चंचल ने दिल्ली के अपोलो अस्पताल में दोपहर 12:15 बजे अंतिम सांस ली. उन्होंने बताया कि 27 नवंबर को उन्हें दक्षिणी दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. मस्तिष्क संबंधी बीमाारियों से पीड़ित होने के बाद उनका निधन हो गया.

1940 में अमृतसर के नमक मंडी में एक पंजाबी परिवार में जन्मे चंचल एक धार्मिक माहौल में पले-बढ़े, जिन्होंने उन्हें बहुत ही कम उम्र से ही ‘भजन’ और ‘आरती’ गाना शुरू करने के लिए प्रेरित किया. ंिहदी सिनेमा में, उन्हें प्रसिद्धि तब मिली जब उन्होंने 1973 में आई ऋषि कपूर और ंिडपल कपाड़िया की पहली फÞल्मि “बॉबी” के लिए “बेशक मंदिर मस्जिद” नामक एक गीत गाया.

इस गाने के लिए, चंचल ने 1974 में फिल्मफेयर का सर्वश्रेष्ठ पुरुष पार्श्व गायक का पुरस्कार जीता था. उनके सबसे लोकप्रिय गानों में से एक 1983 में आई राजेश खन्ना की फिल्म “अवतार” का “चलो बुलावा आया है माता ने बुलाया है” है.

चंचल ने 2009 में अपनी आत्मकथा “मिडनाइट ंिसगर” जारी की थी, जिसमें उन्होंने अपने जीवन के शुरुआती संघर्षों और कठिनाइयों से लेकर अपनी उपलब्धियों तक का वर्णन किया है. गायक की मृत्यु पर शोक व्यक्त करते हुए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि चंचल ने अपनी आवाज के साथ भक्ति संगीत के क्षेत्र में अपने लिए एक अनूठी जगह बनाई थी.

एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने गायक के परिवार और प्रशंसकों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की. गायक दलेर मेहंदी, अभिनेता मनोज बाजपेयी, अभिनेता रणवीर शौरी, संगीतकार विशाल डडलानी समेत कई जानी मानी हस्तियों ने चंचल की मृत्यु पर शोक व्यक्त किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close