Home स्वास्थ्य सायबर बुलिंग से किशोरों में हो सकता है अवसाद

सायबर बुलिंग से किशोरों में हो सकता है अवसाद

65
0

वाशिंगटन. सायबर बुलिंग का अनुभव करने वाले किशोरों में नींद की कमी और अवसाद के लक्षण दिखने की संभावना रहती है. एक अध्ययन में यह जानकारी दी गयी.

अध्ययन के लिये शोधकर्ताओं ने आॅनलाइन धौंसबाजी और अवसाद के बीच संबंध का परीक्षण किया. यह अध्ययन साइबर हमलों के शिकार लोगों और नींद की गुणवत्ता के बीच संबंध का पता लगाने वाले कुछ अध्ययनों में शुमार है. अमेरिका में बफलो विश्वविद्यालय से शोधकर्ताओं ने 800 से अधिक युवाओं में नींद की गुणवत्ता, साइबर दबाव और अवसाद का सर्वेक्षण किया.

बफलो विश्वविद्यालय में मिसोल क्वोन ने कहा, ‘‘इंटरनेट और सोशल मीडिया पर साइबर हमला लोगों को पीड़ित बनाने का नया तरीका है और डिजिटली सक्रिय रहने वाले किशोरों के बीच मानसिक स्वास्थ्य का उभरता खतरा है.’’ अवसाद के खतरनाक स्तर पर पहुंचने से किशोरों के स्कूल का प्रदर्शन प्रभावित हो सकता है या संबंधों में तनाव आ सकता है अथवा उनमें आत्महत्या की प्रवृत्ति बढ़ सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here