Home स्वास्थ्य आईआईटी रूड़की ने स्तन, ओवेरियन कैंसर का जल्द पता लगाने के तरीके...

आईआईटी रूड़की ने स्तन, ओवेरियन कैंसर का जल्द पता लगाने के तरीके का किया ईजाद

72
0

रुड़की. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रुड़की के शोधार्थियों ने महिलाओं में होने वाले दो सबसे घातक स्तन कैंसर और गर्भाशय (ओवेरियन) कैंसर का पता लगाने का नया तरीका ईजाद किया है. दुनियाभर में कैंसर से पीडित एक तिहाई महिलायें इन्हीं दो प्रकार के कैंसर से ग्रस्त होती हैं.

‘एफएएसइबी बायोएडवांसेस’ नाम की पत्रिका में छपे शोध में बताया गया है कि ओवेरियन और स्तन कैंसर का जल्द पता लगाने के लिये शरीर द्रव्य के तौर पर थूक का प्रयोग किया जाता है जबकि पारंपरिक तरीके में खून के नमूनों की जांच की जाती है.

आईआईटी रुड़की के बायोटेक्नोलोजी विभाग से किरन अंबातीपुडी की अगुवाई वाली टीम ने थूक में कुछ ऐसी प्रोटीन का पता लगाया है जो स्तन और ओवेरियन कैंसर का पता लगाने में सहायक सिद्ध हो सकती हैं. टीम ने स्वस्थ लोगों तथा चौथे चरण के स्तन और ओवेरियन कैंसर से पीड़ित रोगियों के थूक के नमूनों की तुलना की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here