Home स्वास्थ्य भारतीय दवा कंपनियों पर अमेरिका में मुकद्दमा दायर, साठगांठ का आरोप, कंपनियों...

भारतीय दवा कंपनियों पर अमेरिका में मुकद्दमा दायर, साठगांठ का आरोप, कंपनियों का आरोपों से इनकार

22
0

नयी दिल्ली. डा. रेड्डीज, वॉकहार्ट, अरंिबदो तथा ग्लेनमार्क जैसी बड़ी दवा कंपनियों ने अमेरिका में दाम तय करने में साठगांठ के आरोपों से मंगलवार को इनकार किया. इन कंपनियों समेत कई अन्य दवा कंपनियों के खिलाफ अमेरिका में प्रतिस्पर्धा रोधी गतिविधियों में शामिल होने को लेकर मुकदमा दायर किया गया है.

ये सभी घरेलू औषधि कंपनियां उन 21 जेनेरिक दवा कंपनियों तथा 15 अन्य व्यक्तिगत प्रतिवादियों में शामिल हैं जिनके खिलाफ अमेरिका के 49 राज्यों के एटार्नी जनरल, कॉमनवेल्थ आफ प्यूर्टो रिको तथा डिस्ट्रिक्ट आफ कोलंबिया ने 116 जेनेरिक दवाओं के संदर्भ में डिस्ट्रिक्ट आफ कनेक्टिकट के लिये अमेरिकी जिला अदालत में शिकायत दर्ज करायी है.

कंपनियों पर कीमत तय करने तथा ग्राहक बांटने को लेकर प्रतिस्पर्धा कानून का उल्लंघन करने का आरोप है. शेयर बाजारों को अलग-अलग दी गई सूचना में कंपनियों ने आरोप से इनकार किया और कहा कि वे मामले में मजबूती से अपना पक्ष रखेंगी. डा. रेड्डीज ने कहा कि हम इन आरोपों का पुरजोर तरीके से विरोध करेंगे और कनेक्टिकट की जिला अदालत में अपना जवाब देने की प्रक्रिया में हैं.

कंपनी के अनुसार उसकी अमेरिकी अनुषंगी इकाई के खिलाफ मुकदमा दायर होने का उसके परिचालन और एकीकृत परिणाम पर कोई खास प्रभाव पड़ने की आशंका नहीं है. सन फार्मा ने कहा कि उसकी अनुषंगी तारो फार्मास्युटिकलस यूएसए इंक का नाम दूसरे मुकदमे में है. जो आरोप लगाये गये हैं, उसका कोई आधार नहीं है और हमारी अनुषंगी इकाइयां मजबूती से अपना पक्ष रखेंगी.

वॉकहार्ट ने भी कहा कि विभिन्न जेनेरिक दवाओं की कीमतों में वृद्धि को लेकर प्रतिस्पर्धा कानून के उल्लंघन को लेकर कार्रवाई की गयी है. कंपनी उपयुक्त मंच पर अपना पक्ष मजबूती से रखेगी. ग्लेनमार्क और अरंिबदो फार्मा ने कहा है कि वह मुकदमे की समीक्षा कर रही है और उम्मीद है कि निर्धारित समय में आरोपों के खंडन से जुड़े दस्तावेज संघीय अदालत में जमा करेंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here