विदेशस्वास्थ्य

चीन में एक वरिष्ठ डॉक्टर की कोरोनावायरस से मौत, अबतक 1800 से अधिक लोग मरे

तोक्यो/बींिजग. चीन में इंसान से इंसान में कोरोना वायरस फैलने के अहम निष्कर्ष को दबाने की आधिकारिक कोशिश के चलते कई चिकित्सार्किमयों के संक्रमण की चपेट में आने को लेकर हो रही आलोचनाओं के बीच इस विषाणु से प्रभावित वुहान शहर में एक अस्पताल के प्रमुख की मौत हो गई और मृतक संख्या बढ़कर मंगलवार को 1,868 तक पहुंच गई.

हुबेई प्रांत और इसकी राजधानी वुहान में इस विषाणु का प्रकोप जारी है. सोमवार को इस प्रांत में 93 और लोगों की इस विषाणु से मौत हो गई जबकि हेनान, हेबी और हनान प्रांतों में पांच मरीजों की मौत हो गई. चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को कहा कि इस बीमारी के चलते मरने वालों की संख्या सोमवार को बढ़कर 1,868 और प्रमाणित मामलों की संख्या बढ़कर 72,436 हो गई.

देश के एक शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा कि रोजाना इस बीमारी से मरने वाले मरीजों की संख्या जनवरी में इस संक्रमण के फैलने के बाद पहली बार 100 से नीचे आई है. आयोग के अधिकारी मी फेंग ने मंगलवार को कहा कि चीन में कोरोना वायरस के रोजाना सामने आने वाले प्रमाणित मामले सोमवार को पहली बार 2000 से नीचे रहे.

उन्होंने मीडिया से कहा कि सोमवार को हुबेई प्रांत के बाहर नए प्रमाणित मामलों की संख्या पहली बार 100 के नीचे रही. कोरोना वायरस के मामलों के चरम पर पहुंच जाने के आंकड़ों के साथ तुलना करते हुए मी ने कहा कि इन आंकड़ों में गिरावट दर्शाती है कि महामारी की स्थिति में सुधार आ रहा है.

अधिकारियों ने दावा किया कि इस विषाणु की रफ्तार घटी है लेकिन इसी बीच वुहान के एक वरिष्ठतम डॉक्टर की इस संक्रमण से मौत हो गई. सरकारी सीसीटीवी ने खबर दी कि हुबेई प्रांत के वुहान वुचांग अस्पताल के अध्यक्ष डॉ. लिउ झिंिमग की डॉक्टरों के काफी प्रयास के बाद भी मौत हो गई. इस तरह एक और चिकित्साकर्मी इस विषाणु के चलते अपनी जान गंवा बैठा.

लिउ वुहान में अग्रणी न्यूरो सर्जन थे. चिकित्सक इस बीमारी के केंद्र वुहान में हजारों रोगियों को बचाने में जुटे हैं. पिछले शुक्रवार को आयोग ने कहा था कि कुल 1,719 चिकित्सार्किमयों के इस संक्रमण की चपेट में आने की पुष्टि हुई है. ग्यारह फरवरी तक छह चिकित्सार्किमयों की मरीजों का उपचार करते हुए मौत हो गई. इनमें वह नेत्र चिकित्सक भी शामिल है जिसे पुलिस ने दिसंबर में सोशल मीडिया पर इस विषाणु के बारे में सतर्क करने पर दंडित किया था.

इस विषाणु के उपचार से जुड़े चीन के शीर्ष विशेषज्ञ मिशन के सदस्य हु बीजे ने ग्लोबल टाइम्स से कहा कि चिकित्सार्किमयों में संक्रमण ज्यादातर तब हुआ जब यह बिलकुल प्रारंभिक चरण में था. वुहान के तोंगजी अस्पताल के संक्रमण विभाग में इंटर्नशिप करनेवाले एक स्रातकोत्तर ने नाम उजागर न करने की शर्त पर कहा कि चिकित्सार्किमयों में संक्रमण शुरुआती दौर में लापरवाही, एन95 मास्क, रक्षात्मक कपड़ों और चश्मों जैसी चिकित्सा आपूर्ति की कमी की वजह से हुआ.

चीन के शीर्ष महामारी विशेषज्ञ झोंग नानशान ने 20 जनवरी को इंसान से इंसान में इस बीमारी के फैलने की पुष्टि की थी. ग्लोबल टाइम्स की खबर है कि इससे पहले वुहान के स्वास्थ्य अधिकारियों ने पांच जनवरी को इस बात से इनकार किया था कि यह बीमारी इंसान से इंसान में फैलती है. विश्लेषकों का मानना है कि इससे लोग और डॉक्टर गुमराह हो गए और यह बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जा फैली.

जापान तट पर खड़े जहाज पर कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 500 से अधिक पहुंची
जापान के तट पर खड़े जहाज ‘‘डायमंड ंिप्रसेज’’ में 88 और लोगों की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जहाज में अब तक कुल 542 लोगों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कोरोना वायरस से संक्रमित इन लोगों को विशेष अस्पतालों में भेजा जायेगा. मंत्रालय ने हालांकि इन लोगों की राष्ट्रीयता के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी. जिन लोगों की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उनमें से 65 की अब तक इसके लक्षण नहीं दिखाई दिये थे.

जापान के स्वास्थ्य मंत्री कतसुनोबु कातो ने पत्रकारों से कहा, ‘‘हमने (जहाज पर सवार) प्रत्येक व्यक्ति की जांच की है.’’ ब्रिटेन ने भी अपने नागरिकों को जहाज से निकालने की पेशकश की है. कनाडा, आॅस्ट्रेलिया, हांगकांग और दक्षिण कोरिया पहले ही कह चुके हैं कि वह अपने नागरिकों को जहाज से निकालेंगे.

कनाडा ने मंगलवार को कहा कि उसने डायमंड ंिप्रसेज से अपने नागरिकों को स्वदेश लाने के लिए एक विमान की व्यवस्था की थी. हालांकि इस बारे में कोई विस्तृत जानकारी नहीं दी है. जहाज पर कनाडा के 256 नागरिक सवार हैं और अब तक इनमें से 32 नागरिक इस वायरस से संक्रमित पाये गये है.

लगभग 500 यात्री बुधवार को जापान के तट पर खड़े जहाज से रवाना होंगे: अधिकारी
जापान के तट पर खड़े क्रूज जहाज से लगभग 500 यात्री बुधवार को रवाना होंगे. स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि लोगों की कोरोना वायरस की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद ये लोग बुधवार को जहाज से उतरेंगे. उन्होंने बताया कि जहाज पर सवार कई लोग इस वायरस से संक्रमित भी है.

अधिकारी ने पत्रकारों से कहा, ‘‘(बुधवार को रवाना होने वाले लोगों) की संख्या बदल रही है, व्यापक पैमाने पर यह यात्रियों पर निर्भर है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन यह संख्या लगभग 500 होगी.’’

चीन में कोरोना वायरस से अब तक 1868 लोगों की मौत
चीन में घातक कोरोना वायरस से 98 और लोगों की मौत हो जाने से संक्रमण से मरने वालों की संख्या मंगलवार को 1,868 हो गई और अभी तक इसके कुल 72,436 मामलों की पुष्टि हो चुकी है. राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि जिन 98 लोगों की जान गई उनमें से 93 हुबेई में जबकि तीन हेनान और एक-एक हेबेई और हुनान में मारे गए.

हुबेई में इसके 1,807 नए मामले सामने आए हैं, जिसके साथ ही प्रांत में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 59,989 इतनी हो गई. बाकी चीन में इसके कुल 1,432 नए मामले सामने आए हैं. आयोग ने बताया कि 1,097 मरीज काफी गंभीर है और 11,741 मरीजों की हालत नाजुक बनी है.

सरकारी समाचार एजेंसी ‘शिन्हुआ’ ने बताया कि हुबेई में अस्पताल में भर्ती 41,957 मरीजों में से 9,117 गंभीर हैं और 1,853 की हालत नाजुक बनी है. चीन में अभी तक कुल 12,552 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है. हांगकांग में सोमवार तक इसके 60 मामलों की पुष्टि हो गई थी, जहां इससे एक व्यक्ति की जान जा चुकी है. वहीं मकाउ में 10 और ताइवान में इससे एक व्यक्ति की जान जाने सहित 22 मामले अभी तक सामने आए हैं.

कोरोना वायरस से मुकाबले के प्रयासों में वैश्विक विशेषज्ञ भी शामिल हो गए हैं. चीन ने 12 सदस्यों वाली डब्ल्यूएचओ की टीम के आने की पुष्टि की है, जिसमें अमेरिका के विशेषज्ञ भी शामिल हैं. चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया था कि चीन-डब्ल्यूएचओ संयुक्त मिशन के तहत विदेशी विशेषज्ञ पहुंचे हैं. उन्होंने संबंधित गतिविधियां आरंभ कर दी है. मिशन में अमेरिका के भी विशेषज्ञ शामिल हैं.

टीम के विशेषज्ञ बींिजग, गुआंगडोंग और सिचुआन में निरीक्षण करेंगे. हालांकि, वे हुबेई प्रांत और सबसे ज्यादा प्रभावित इसकी प्रांतीय राजधानी वुहान का दौरा नहीं करेंगे.

पूरी दुनिया में 73 हजार से ज्यादा संक्रमित
चीन से शुरू होकर दुनिया के कई देशों में लोगों को अपनी चपेट में लेने वाले कारोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 73 हजार के आंकड़ें को पार कर चुकी है. पिछले साल के अंत में इस वायरस के फैलने वाले स्थान के मद्देनजर विश्व स्वास्थ्य संस्थान (डब्ल्यूएचओ) ने इस बीमारी को ‘कोविड-19’ नाम दिया है.

कारोना वायरस से पीड़ित देशों की सरकारों के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मंगलवार तक जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक इससे संक्रमित लोगों की संख्या विभिन्न देशों में इस प्रकार है:

चीन : 1,868 मौतें और 72,436 संक्रमित (अधिकतर मामले हुबेई प्रांत में)
हांगकांग : 58 मामले, एक मौत
मकाऊ : 10 मामले
जापान : 610 मामले (योकोहामा में अलग-थलग खडे क्रूज जहाज में 542 संक्रमितों समेत), एक मौत ंिसगापुर : 77 मामले
थाईलैंड : 35 मामले
दक्षिण कोरिया : 31 मामले
मलेशिया : 22 मामले
ताइवान : 22 मामले, एक मौत
वियतनाम : 16 मामले
जर्मनी : 16 मामले
अमेरिका : 15 मामले
आस्ट्रेलिया : 14 मामले
फ्रांस : 12 मामले, एक मौत
ब्रिटेन : 9 मामले
संयुक्त अरब अमीरात : 9 मामले
कनाडा : 8 मामले
फिलीपींस : 3 मामले, एक मौत
भारत : 3 मामले
इटली : 3
रूस : 2
स्पेन : 2
बेल्जियम : 1
नेपाल : 1
श्रीलंका : 1
स्वीडन : 1
कम्बोडिया : 1
फिनलैंड : 1
मिस्र : 1

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close