विदेश

भारत को अत्याधुनिक हथियार देने के अमेरिकी सौदे पर पाकिस्तान चिंतित

इस्लामाबाद. पाकिस्तान ने अत्याधुनिक अमेरिकी सैन्य हेलिकॉप्टर आपूर्ति के लिए भारत और अमेरिका के बीच 30 लाख डॉलर के रक्षा सौदे पर ंिचता प्रकट करते हुए कहा कि इस वजह से पहले से अशांत क्षेत्र में और अस्थिरता बढ़ेगी.

विदेश विभाग की प्रवक्ता आयशा फारूकी ने यहां साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘इस सौदे से पहले से अशांत क्षेत्र में अस्थिरता और बढ़ेगी. केवल पाकिस्तान को लेकर ही नहीं, बल्कि क्षेत्र के दूसरे देशों के प्रति भी भारत के आक्रामक रवैये के बारे में हमने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को कई बार सचेत किया है.’’

पाकिस्तान विदेश कार्यालय की प्रवक्ता ने कश्मीर मुद्दे पर भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव दूर करने में ट्रंप की मध्यस्थता की पेशकश का भी स्वागत किया और दावा किया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने आतंकवाद के खिलाफ इस्लामाबाद के प्रयासों की सराहना की. फारूकी ने कहा कि ट्रंप की टिप्पणी से पता चलता है कि पाकिस्तान-अमेरिका के संबंध आगे की ओर बढ़ रहे हैं.

पूर्व में राष्ट्रपति ट्रंप ने कश्मीर पर मध्यस्थता की पेशकश की थी, लेकिन भारत ने अमेरिका को बता दिया कि यह भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मामला है और मध्यस्थता के लिए किसी भी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं है.

परमाणु शक्ति संपन्न देशों के बीच युद्ध की गुंजाइश नहीं : पाकिस्तानी सेना
भारतीय वायुसेना के युद्धक विमानों द्वारा बालाकोट में आतंकवादी शिविर पर बम बरसाने के सालभर बाद पाकिस्तानी सेना ने बृहस्पतिवार को कहा कि परमाणु शक्ति संपन्न दो देशों के बीच लड़ाई की कोई गुजाइंश नहीं है लेकिन जब भी देश की सुरक्षा एवं संप्रभुता को चुनौती दी जाएगी पाकिस्तान उसका जवाब देगा.

भारतीय वायुसेना के जेट विमानों ने पिछले वर्ष 26 फरवरी को पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकवादी शिविरों पर हवाई हमले किए थे. पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों को मार डालने के विरोध में वायुसेना ने यह कार्रवाई की थी.

पाकिस्तान ने 27 फरवरी को इसके बदले में कार्रवाई कर भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने का प्रयास किया था. आॅपरेशन स्विफ्ट रिटॉर्ट की पहली वर्षगांठ पर सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल बाबर इफ्तिकार ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि परमाणु हथियारों के दूरगामी प्रभावों के चलते परमाणु शक्ति संपन्न दो देशों के बीच युद्ध की कोई गुजाइंश नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘‘ उसके (युद्ध के) परिणाम अनियंत्रणीय होंगे, चीजें नियंत्रण के बाहर चली जाएंगी. इरादे भले ही रातोंरात बदल जाएं लेकिन क्षमताएं बनी रहती हैं.’’ इसी महीने पाकिस्तानी सेना के मीडिया इकाई के प्रमुख का पदभार ग्रहण करने वाले इफ्तिकार ने कहा, ‘‘ हमें अपने दुश्मनों के सभी गुप्त एवं प्रत्यक्ष अभियानों के बारे में मालूम है और हम सभी परिदृश्य के लिए तैयार हैं. भारत जो खेल खेल रहा है, पाकिस्तान का असैन्य एवं सैन्य नेतृत्व उससे पूरी तरह वाकिफ है.’’

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून के अनुसार उन्होंने कहा, ‘‘हमारी क्षमता एवं निश्चय की परीक्षा मत लीजिए, हम जवाब देंगे. जब भी देश की सुरक्षा एवं संप्रभुता को चुनौती मिलेगी, पाकिस्तान जवाब देगा.’’ इसी अखबार के मुताबिक एक अन्य संवाददाता सम्मेलन में पाकिस्तान के एयर चीफ मार्शल मुजाहिद अनवर ने पाकिस्तान पर हमला करने वालों को जवाब देने की प्रतिबद्धता जताई.

उन्होंने कहा, ‘‘हम एकीकृत बल हैं जो कड़ी कार्रवाई करते हैं और अपने मिशन पर बिल्कुल केंद्रित रहते हैं.’’ उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी वायुसेना किसी से कमतर नहीं है और उसने पिछले साल 27 फरवरी को अपनी वायु श्रेष्ठता साबित की. पाकिस्तान के वायुसेना प्रमुख ने कहा, ‘‘ पाकिस्तानी वायुसेना अन्य सेवाओं के साथ देश पर किसी भी खतरे का मुकाबला करने के लिए पूरी तरह तैयार है.’’

बालाकोट हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के संबंध में तनाव आ गया था. जब भारत ने जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने से संबंधित अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को निरस्त कर दिया जब दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध और बिगड़ गया. पाकिस्तान ने भारत के साथ राजनयिक संबंध कम कर दिया था और भारतीय उच्चायुक्त को वापस भेज दिया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close