तालिबान उदारवादी, समावेशी नेतृत्व देने के अपने वादों पर खरा नहीं उतरा है: फ्रांस

दुबई. फ्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ली ड्रियान ने अफगानिस्तान की नवगठित तालिबान सरकार पर निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि समूह अब तक नेतृत्व की अधिक उदार और समावेशी शैली अपनाने के अपने वादों पर खरा उतरने में विफल रहा है.

ड्रियान ने सोमवार को दोहा की यात्रा के दौरान कतर के अपने समकक्ष की मौजूदगी में कहा, ‘‘काबुल से अब तक हमने जो प्रतिक्रिया देखी है, वह हमारी अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं है.’’ उन्होंने कहा कि फ्रांस और बाकी अंतरराष्ट्रीय समुदाय तालिबान पर आतंकवादियों को शरण न देने, मानवीय सहायता करने की अनुमति देने और महिलाओं के अधिकारों की रक्षा करने समेत अन्य मांगों के वास्ते दबाव डालना जारी रखेगा.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने (तालिबान द्वारा) दिए गए बयानों को सुना है, हालांकि हम कार्रवाई की प्रतीक्षा कर रहे हैं. केवल बातें करना ही काफी नहीं हैं.’’ कतर के विदेश मंत्री मोहम्मद बिन अब्दुलरहमान अल थानी ने कहा कि कतर के अधिकारियों ने तालिबान को अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ जुड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए चर्चा की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close