विमान हादसे में भारतीय मूल के चिकित्सक समेत दो लोगों की मौत

न्यूयॉर्क. अमेरिका के कैलिफोर्निया राज्य में एक छोटे विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने से उसमें सवार भारतीय मूल के एक जानेमाने हृदरोग विशेषज्ञ समेत दो लोगों की मौत हो गयी और दुर्घटना के कारण पास के मकानों में आग लग गई जिससे काफी क्षति हुई. मीडिया में आई खबरों में यह जानकारी दी गई.

खबरों के अनुसार अरिजोना के युमा रीजनल मेडिकल सेंटर (वाईआरएमसी) में इंटरवेंशनल कॉर्डियोलॉजिस्ट के रूप में कार्यरत डॉ सुगत दास के पास दो इंजन वाला सेसना सी340 विमान था. केवाईएमए डॉट कॉम की मंगलवार को जारी खबर के अनुसार इस बात की अभी पुष्टि नहीं हुई है कि सोमवार को दुर्घटना के समय दास खुद पायलट सीट पर बैठे थे या नहीं.

वाईआरएमसी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी भरत मागू ने एक बयान में कहा, ‘‘स्थानीय हृदय रोग विशेषज्ञ सुगत दास के विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर सुनकर हमें गहरा दुख हुआ है. विमान सैंटी (कैलिफोर्निया) के पास दुर्घटनाग्रस्त हुआ.’’ मागू ने कहा, ‘‘वह एक बेहतरीन हृदय रोग विशेषज्ञ और परिवार के प्रति सर्मिपत व्यक्ति थे. इस मुश्किल वक्त में हम उनके परिवार, मित्रों और सहयोगियों के प्रति संवेदना जताते हैं.’’

सैंटी में संताना हाई स्कूल के पास हुए हादसे के बाद आग लगने से दो मकान जलकर खाक हो गए और पांच अन्य मकानों एवं कई वाहनों को क्षति पहुंची. हालांकि आग अन्य मकानों तक फैलती, उससे पहले ही दमकलर्किमयों ने आग पर काबू पा लिया. हादसे में मारा गया अन्य व्यक्ति एक यूनाइटेड पार्सल र्सिवस (यूपीएस) आॅफ अमेरिका इंक का कर्मी था.

यूपीएस ने यह पुष्टि की है कि विमान हादसे में उसके एक कर्मी की मौत हो गई. एबीसी से संबद्ध केएक्सटीवी ने यूपीएस के बयान के हवाले से बताया, ‘‘हम अपने एक कर्मी की मृत्यु की खबर से दुखी हैं और उनके परिवार एवं मित्रों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करते हैं. हादसे के शिकार हुए अन्य व्यक्तियों के परिवार एवं मित्रों के प्रति भी हम संवेदना जताते हैं.’’ संघीय विमानन प्रशासन (एफएए) के अनुसार विमान करीब सवा 12 बजे दुर्घटनाग्रस्त हुआ.

एफएए के अनुसार, ‘‘विमान में कितने लोग सवार थे, इस बारे में अभी ज्ञात नहीं है.’’ सेसना सी 340 विमान आमतौर पर व्यवसाय के लिए उपयोग किया जाता है. विमान में छह यात्रियों के बैठने की क्षमता है, जिसमें दो सीटें आगे और दो पीछे होती हैं. संस्थान की वेबसाइट के अनुसार, बंगाली परिवार में जन्मे और पुणे में पले-बढ़े दास अमेरिकी गैर-लाभकारी संगठन ‘‘पावर आॅफ लव फाउंडेशन’’ के निदेशक भी थे. यह विदेशों में एड्स और एचआईवी से संक्रमित या प्रभावित महिलाओं और बच्चों की मदद करता है. वेबसाइट पर बताया गया है कि दास के दो बेटे हैं और वे सैन डिएगो में रहते हैं. वह दो इंजन वाले सेसना 340 के मालिक थे और एक प्रशिक्षित पायलट थे, जिन्होंने अपने घर और युमा के बीच उड़ान भरी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close