Home देश असल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ‘अति राष्ट्रवादी माहौल’ बनाने की...

असल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ‘अति राष्ट्रवादी माहौल’ बनाने की कोशिश में भाजपा

24
0

नयी दिल्ली/कोझिकोड/त्रिशूर. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरोप लगाया है कि लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा बेरोजगारी, कृषि संकट और मोदी सरकार की ‘विफलताओं’ से ध्यान भटकाने के लिए देश में ‘अति राष्ट्रवादी माहौल’ बनाने का प्रयास कर रही है.

गांधी का यह बयान उस वक्त आया है जब पुलवामा आतंकी हमले और बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई के बाद ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि भाजपा इसका इस्तेमाल चुनाव में कर सकती है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने समाचार पत्रिका ‘द वीक’ को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘भाजपा अति राष्ट्रवादी माहौल बनाने की कोशिश कर रही है ताकि बेरोजगारी, कृषि संकट, ंिहसा और हर मोर्चे पर सरकार की नाकामियों से ध्यान भटकाया जा सके.’’ उन्होंने राफेल विमान सौदे से लेकर अर्थव्यवस्था से जुड़े मुद्दों तक सवालों के जवाब दिये.

राफेल मामले पर गांधी ने कहा, ‘‘आप देखेंगे कि आज नहीं तो कल सच सामने आएगा. परंतु हम सिर्फ एक सौदे के बारे में बात नहीं कर रहे हैं. कई ऐसे सौदे हैं जिन पर हमें संदेह है. लेकिन कोई जांच नहीं हुई.’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, ‘‘मोदी जी नफरत पैदा करते हैं. इनकी राजनीति की पूरी व्यवस्था ही घृणा करने वाली है.’’

राहुल ने दावा किया कि देश में रोजगार की स्थिति बहुत खराब है और किसान भी भयावह संकट का सामना कर रहे हैं. कोई भी देश जो बंटा हुआ हो, नफरत के माहौल से घिरा हो, वहां उस तरह की आर्थिक प्रगति नहीं हो सकती है जो बड़ी संख्या में रोजगार पैदा करने के लिए जरूरी होती है.

यह पूछे जाने पर कि क्या न्यूनतम आय गारंटी का कांग्रेस का वादा परिवर्तनकारी कदम हो सकता है तो गांधी ने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि सिर्फ इसी कदम से देश में परिवर्तन होगा, लेकिन मौजूदा हालात में और जिस तरह के दर्द से देश गुजर रहा है उसे देखते हुए यह कदम जरूरी है.

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे घोषणापत्र में उद्यमिता और लघु एवं मझोलें उद्योगों को लेकर उठाए जाने वाले कदमों के बारे में कुछ दिलचस्प विचार होंगे. भारत को बदलने के लिए वित्तीय संस्थाओं को सांठगांठ वाले पूंजीवादियों (क्रोनी कैपिटलस्टि) की गिरफ्त से मुक्त करना होगा.’’

प्रधानमंत्री पद की अपनी संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर गांधी ने कहा कि यह फैसला देश को करना है, हालांकि उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि फिलहाल उनका काम यह है कि भाजपा के खिलाफ वैचारिक लड़ाई को जीता जाए. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र, तमिलनाडु, बिहार, झारखंड, जम्मू-कश्मीर, असम में कांग्रेस की अपनी सहयोगी दलों के साथ सहमति बन चुकी है.

राहुल ने मोदी पर निशाना साधा, कहा कांग्रेस लोगों पर कुछ नहीं थोपती
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा भाजपा से विपरीत कांग्रेस सबकी सुनती है और लोगों को कुछ नहीं थोपती. कांग्रेस कार्यकर्ताओं की ‘जन महा रैली’ को संबोधित करते हुए गांधी ने राज्य स्तर पर पार्टी के लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार की शुरुआत की.

मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री को अपने ‘मन की बात’ नहीं थोपनी चाहिए बल्कि जनता के ‘मन की बात’ सुननी चाहिए. गांधी ने आरोप लगाया कि मोदी ने देश की सभी संस्थाओं को बर्बाद कर दिया है. उन्होंने कहा, ‘‘जो व्यक्ति अपने मन की बात थोपता है वह एक-एक करके सभी संस्थाओं को बर्बाद कर रहा है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘कांग्रेस इस देश पर कुछ भी थोपना नहीं चाहती. कांग्रेस पार्टी देश के लोगों की बात सुनना और उसी आधार पर काम करना चाहती है. इसलिए कांग्रेस के दरवाजे सभी के लिए खुले हैं.’’ कांग्रेस पार्टी को कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपका धर्म क्या है, आप कौन सी भाषा बोलते हैं या आप किस विचारधारा को मानते हैं.

गांधी ने कहा कि कांग्रेस के लिए यह मुद्दा नहीं है. त्रिशूर के पास आयोजित मछुआरों के राष्ट्रीय संसद में कांग्रेस अध्यक्ष ने रोजगार, बैंकों से मिलने वाले ऋण आदि को लेकर भाजपा तथा मोदी पर निधाना साधा. उन्होंने तंज किया कि भाजपा के शासन में बैंंिकग सुविधाओं का लाभ महज 30-40 लोगों को मिल रहा है और यदि कांग्रेस सत्ता में आयी तो युवा उद्यमियों को आसानी से ऋण मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here