शेर के सामने चारे के रूप में गाय रखने का वीडियो सामने आने के बाद 12 पर मामला दर्ज

जूनागढ़. गुजरात के जूनागढ़ के गिर जंगल के एक गांव में अवैध कार्यक्रम में एक शेर को चारे के रूप में पोल से बंधी गाय का लालच देने और गाय को मारकर उसे अपना भोजन बनाते शेर को देखते लोगों का वीडियो वायरल होने के बाद वन विभाग ने 12 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है। इस संबंध में एक अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि घटना की अब तक की जांच के अनुसार यह अवैध कार्यक्रम गिर जंगल के देवलिया रेंज के एक गांव में आठ नवंबर को आयोजित किया गया था। गिर वन राष्ट्रीय उद्यान और वन्यजीव अभयारण्य को सासन-गिर के नाम से भी जाना जाता है जो एशियाई शेरों का ‘‘निवास’’ है।

उप वन संरक्षक (जूनागढ़), एस. के. बेरवाल ने कहा, ‘‘हमने 12 अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई है और तीन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। कार्रवाई एक वीडियो के आधार पर की गई है। वीडियो में एक एशियाई शेर पोल से बंधी गाय को मारते दिख रहा है और इसे देखने के लिए वहां लोगों का एक समूह इकट्ठा हुआ है। आयोजक ने अवैध कार्यक्रम के लिए शेर को आर्किषत करने के इरादे से गाय को चारा के रूप में इस्तेमाल किया था।’’

वीडियो में शेर गाय को अपना भोजन बनाते दिख रहा है, जबकि समूह के लोग इसे दूर से देख रहे होते हैं। उनमें से कुछ लोग मोबाइल फोन पर इसकी रिकॉर्डिंग करते नजर आ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘यह शेर के इस्तेमाल वाले कार्यक्रम का अनूठा मामला है, जहां किसी ने शेर को आर्किषत करने के लिए चारा दिया। अब तक की जांच से पता चला है कि यह कार्यक्रम आठ नवंबर को आयोजित किया गया था और हम यह निर्धारित करने की कोशिश कर रहे हैं कि प्रतिभागी बाहर से थे या नहीं। मामले के मुख्य आरोपी की गिरफ्तारी के लिए आगे की जांच जारी है।’’

अधिकारी ने बताया कि आरोपी व्यक्तियों पर वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसमें शिकार से संबंधित धाराएं (धारा 9) शामिल हैं। इस साल की शुरुआत में गिर सोमनाथ की एक अदालत ने एक एशियाई शेर को परेशान करने के आरोप में छह लोगों को तीन साल जेल की सजा सुनाई थी। वीडियो में एक शख्स चारे के तौर पर मुर्गे को लटकाकर शेरनी को लालच देते हुए दिखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close