Home देश न्यायालय ने तमिल पत्रिका के खिलाफ मद्रास उच्च न्यायालय में कार्यवाही पर...

न्यायालय ने तमिल पत्रिका के खिलाफ मद्रास उच्च न्यायालय में कार्यवाही पर लगायी रोक

24
0

नयी दिल्ली, 12 जुलाई (भाषा) उच्चतम न्यायालय ने तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित की कथित रूप से ंिनदा करने वाले लेख प्रकाशित करने वाली पत्रिका को लेकर मद्रास उच्च न्यायालय में लंबित कार्यवाही पर शुक्रवार को रोक लगा दी.

न्यायमूर्ति एस अब्दुल नजीर की अध्यक्षता वाली पीठ मद्रास उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ राज्यपाल की याचिका पर विचार करने के लिये राजी हो गई. उच्च न्यायालय ने नक्कीरन पत्रिका और उसके संपादक के खिलाफ निचली अदालत में चल रही कार्यवाही पर रोक लगा दी थी.

उच्च न्यायालय ने पत्रिका नक्कीरन और इसके संपादक आर गोपाल को अंतरिम राहत देते हुये उनके खिलाफ निचली अदालत में लंबित कार्यवाही पर चार जून को रोक लगा दी थी.

गोपाल को भारतीय दंड संहिता की धारा 124 के तहत पिछले साल नौ अक्टूबर को गिरफ्तार किया गया था. यह धारा राष्ट्रपति और राज्यपाल आदि को विधिसम्मत अधिकार का प्रयोग करने से रोकने या इसके लिये बाध्य करने की मंशा से हमला करने से संबंधित है.

राजभवन ने नक्कीरन पत्रिका में एक निजी कालेज की एक महिला असिस्टेन्ट प्रफेसर से संबंधित लेख प्रकाशित करने के बारे में शिकायत दर्ज करायी थी. आरोप है कि इस महिला प्रफेसर ने छात्राओं से अंकों और धन की एवज में विश्वविद्यालय के अधिकारियों की यौन इच्छा पूरी करने के लिये कहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here