Home देश उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के पिता को चुप करने की साजिश रची थी...

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के पिता को चुप करने की साजिश रची थी कुलदीप सेंगर और अन्य आरोपियों ने :अदालत

44
0

नयी दिल्ली. दिल्ली की एक अदालत ने उन्नाव बलात्कार कांड के मामले में आरोपियों के खिलाफ हत्या और अन्य आरोप तय करते हुए कहा कि भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर और उनके सहयोगियों ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता को चुप कराने के लिए आपराधिक साजिश रची थी ताकि वह शिकायत पर आगे नहीं बढ़ सकें.

जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने बलात्कार पीड़िता के पिता की कथित हत्या तथा अवैध हथियार रखने के मामले में कथित तौर पर उन्हें फंसाने से जुड़े दो मामलों को जोड़ दिया. अदालत ने सेंगर और नौ अन्य पर आईपीसी की धाराओं 302 (हत्या), 506 (आपराधिक धमकी), 341 (गलत तरह से रोकना), 120बी (आपराधिक षड्यंत्र) और 193 (झूठे साक्ष्य)और शस्त्र अधिनियम की धारा 25 के तहत दंडनीय अपराधों का मामला दर्ज किया है.

अदालत ने उत्तर प्रदेश के तीन पुलिस अधिकारियों की जमानत भी निरस्त कर दी जिनमें माखी थाने के तत्कालीन प्रभारी अशोक ंिसह भदौरिया, एसआई कामता प्रसाद और कांस्टेबल आमिर खान हैं. अदालत ने उन पर हत्या के आरोप तय करने के बाद हिरासत में भेज दिया. अदालत ने आईपीसी की धाराओं 201, 218 और 466 के तहत भी आरोप तय किये.

न्यायालय का उन्नाव बलात्कार पीड़ित और परिवार के सदस्यों के खिलाफ प्रगति रिपोर्ट मंगाने से इंकार
उच्चतम न्यायालय ने उन्नाव बलात्कार पीड़ित और उसके परिवार के सदस्यों के खिलाफ लंबित 20 मामलों में उत्तर प्रदेश सरकार को प्रगति रिपोर्ट पेश करने का निर्देश देने से मंगलवार को इंकार कर दिया. न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति बी आर गवई की पीठ ने कहा कि वे मामले का दायरा बढ़ाने और राज्य में उनके खिलाफ दर्ज अन्य मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहते हैं.

इस मामले में पेश एक अधिवक्ता ने शीर्ष अदालत को सूचित किया कि चार मामलों में, जिन्हें दिल्ली स्थानांतरित कर दिया गया है, विशेष अदालत दैनिक आधार पर सुनवाई कर रही है. पीठ ने कहा कि वह उन्नाव मामले में अब 19 अगस्त को सुनवाई करेगी.

शीर्ष अदालत ने बलात्कार पीड़ित से संबंधित चार आपराधिक मामले उप्र की अदालत से दिल्ली स्थानांतरित कर दिये थे. इनमें 2017 का बलात्कार कांड, पीड़ित के पिता के खिलाफ शस्त्र कानून के तहत फर्जी मामला, उनकी पुलिस हिरासत में मौत और महिला से सामूहिक बलात्कार का मामला शामिल है. न्यायालय ने इन मामलों की सुनवाई रोजाना करके इसे 45 दिन में पूरा करने का निर्देश अदालत को दिया है.

तीस हजारी जिला अदालत में जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा की अदालत में इस मामले के मुकदमे की सुनवाई रोजाना हो रही है. इस महिला के साथ 2017 में भाजपा विधायक कुलदीप ंिसह सेंगर ने कथित रूप से उस समय बलात्कार किया था जब वह नाबालिग थी. इस महिला की कार को रायबरेली के निकट एक ट्रक ने टक्कर मार दी थी. इस टक्कर में वह और उसका वकील बुरी तरह जख्मी हो गये थे जबकि परिवार के दो सदस्यों की इस हादसे में मौत हो गयी थी.

जिला अदालत ने सेंगर और अन्य के खिलाफ बलात्कार के आरोपों के साथ ही पीड़ित के पिता को सशस्त्र कानून के तहत फर्जी मामले में फंसाने और पुलिस हिरासत में उनसे मारपीट करने और हत्या करने के मामले में भी आरोप निर्धारित किये हैं. शीर्ष अदालत के आदेश के बाद बलात्कार पीड़ित को लखनऊ से दिल्ली स्थित एम्स में स्थानांतरित किया गया है जहां उसका इलाज चल रहा है.

उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता की हत्या मामले में सेंगर, अन्य के खिलाफ आरोप तय
दिल्ली की एक अदालत ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में कथित मौत के मामले में भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर और अन्य के खिलाफ मंगलवार को आरोप तय किये. जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने पीड़िता के पिता को 2018 में सशस्त्र अधिनियम के तहत आरोपी बनाने और उन पर हमला करने के मामले में सेंगर और अन्य के खिलाफ आरोप तय किये. इस मामले में 10 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किये गये हैं.

उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता को फंसाने, उनकी हत्या के मामले में तीन पुलिसर्किमयों की जमानत रद्द
दिल्ली की एक अदालत ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता के पिता को फंसाने और उनकी हत्या के आरोप में मंगलवार को उत्तर प्रदेश पुलिस के तीन अधिकारियों की जमानत रद्द करके उन्हें हिरासत में भेज दिया. जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने उन्नाव प्रकरण से संबंधित मामलों की सुनवाई के दौरान यह आदेश दिया.

इससे पहले दिन में अदालत ने बलात्कार पीड़िता के पिता की न्यायिक हिरासत में कथित मौत के मामले में भाजपा से निष्कासित विधायक कुलदीप सेंगर और अन्य के खिलाफ मंगलवार को आरोप तय किये. जिला न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने पीड़िता के पिता को 2018 में सशस्त्र अधिनियम के तहत फंसाने और उन पर हमला करने के मामले में सेंगर और अन्य के खिलाफ आरोप तय किये. इस मामले में 10 आरोपियों के खिलाफ आरोप तय किये गये हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here