Home देश पाकिस्तान के पूर्व विधायक ने भारत में शरण मांगी

पाकिस्तान के पूर्व विधायक ने भारत में शरण मांगी

27
0

चंडीगढ़. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के एक पूर्व विधायक ने पड़ोसी देश में अल्पसंख्यकों से उनके अधिकार छीने जाने का आरोप लगाते हुए भारत में शरण मांगी है. बलदेव कुमार (43) ने यह भी आरोप लगाया है कि आतंकवाद को पाकिस्तान में समर्थन मिल रहा है.

कुमार अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ पिछले महीने भारत आए थे और फिलहाल पंजाब के लुधियाना जिले के खन्ना में हैं. कुमार ने खन्ना में मंगलवार को पत्रकारों से कहा, ‘‘ मैं यहां शरण मांगने आया हूं और (प्रधानमंत्री नरेन्द्र) मोदी साहब से मदद का आग्रह करूंगा.’’

यह पूछे जाने पर कि वह अपना देश छोड़कर भारत क्यों आये, कुमार ने कहा, ‘‘सारी दुनिया देख रही है कि पाकिस्तान की मौजूदा स्थिति क्या है. हमें (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान) खान साहब से उम्मीद थी कि उनके (सत्ता में) आने के बाद पाकिस्तान की किस्मत बदलेगी.’’ उन्होंने कहा कि लेकिन वह (इमरान) ऐसा करने में नाकाम रहे.

उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा,‘‘खान साहब नये पाकिस्तान की बात कर रहे थे. यद्यपि पुराना पाकिस्तान नये पाकिस्तान से बेहतर था.’’ कुमार ने कहा, ‘‘आप (पाकिस्तान में) स्थिति देख रहे हैं और मैं भी वही देख रहा हूं. एक दिन हमारी सिख लड़की का अपहरण कर लिया गया. ऐसी चीजें नहीं होनी चाहिए.’’

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पंजाब प्रांत से एक गुरुद्वारे के ग्रंथी की बेटी का अपहरण कर लिया गया था. लड़की के परिवार ने आरोप लगाया था कि एक मुस्लिम व्यक्ति से शादी कराने से पहले बंदूक का डर दिखाकर उसे इस्लाम कबूल कराया गया.

लड़की के परिवार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था. वीडियो में लड़की के परिवार के एक सदस्य ने आरोप लगाया था कि पुरुषों के एक समूह ने उनके घर पर हमला किया था और लड़की को जबर्दस्ती अपहृत कर लिया था और उसे इस्लाम कबूल कराया गया.

कुमार ने कहा, ‘‘पाकिस्तान में यदि अल्पसंख्यकों को अधिकार मिल रहे होते, तो ऐसी स्थिति उत्पन्न नहीं होती.’’ पाकिस्तान में आतंकवाद को समर्थन दिये जाने के सवाल पर कुमार ने कहा,‘‘निश्चित तौर पर, यह वास्तविकता है. पाकिस्तान में आतंकवाद को समर्थन दिया जा रहा है. हमारे देश में वे अपना घर नहीं देखते बल्कि दूसरों पर उंगली उठाते हैं.’’

उन्होंने एक अन्य सवाल पर कहा, ‘‘जब वहां मुस्लिम ही सुरक्षित नहीं हैं तो मेरे जैसे लोग सुरक्षित कैसे होंगे?’’ करतारपुर साहिब के मुद्दे पर कुमार ने दावा किया कि विदेशों से गुरुद्वारा करतारपुर साहिब से दान की जा रही राशि का ‘‘दुरुपयोग’’ किया जा रहा है. उन्होंने दावा किया,‘‘गुरुद्वारे पर अधिक खर्च नहीं किया जा रहा है.’’

कुमार खन्ना में एक मकान में रह रहे हैं. उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री अमंिरदर ंिसह से उनकी मदद करने का आग्रह किया है. कुमार ने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री के एक सहयोगी से उन्हें एक कॉल आयी है और उन्हें पूरी मदद का आश्वासन दिया गया है.
कुमार ने कहा कि ंिसध और ननकाना साहिब में कई परिवार हैं, जिन्होंने उनसे कहा है कि यदि उन्हें भारत में शरण मिल गई तो वे भी पाकिस्तान छोड़ने की कोशिश करेंगे.

कुमार का वर्ष 2007 में लुधियाना के खन्ना निवासी भावना से विवाह हुआ था. भावना ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं पाकिस्तान वापस नहीं जाना चाहती. मैं अपने बच्चों के बेहतर भविष्य के लिए यहां रहना चाहती हूं.’’ कुमार पाकिस्तान में खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बारिकोट सीट से प्रांतीय विधानसभा के पूर्व सदस्य हैं.

भारत ने पाकिस्तान में जबरन धर्म परिवर्तन के मामलों पर ंिचता जतायी है और पड़ोसी देश से इन मामलों से निपटने के लिए सुधारात्मक कार्रवाई करने को कहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here