Home देश गुरसराय एनकाउंटर : अखिलेश ने पुलिस पर लगाया हत्या का आरोप

गुरसराय एनकाउंटर : अखिलेश ने पुलिस पर लगाया हत्या का आरोप

24
0

झांसी. थाना गुरसराय क्षेत्र में हुए विवादास्पद एनकाउंटर के मामले में पुलिस पर हत्या का आरोप लगाते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने बुधवार को कहा कि घटना की न्यायिक जांच होनी चाहिए क्योंकि उन्हें शासन-प्रशासन पर भरोसा नहीं है. अखिलेश यहां मृतक पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से उनके गांव में मिले. सपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें प्रशासन व शासन पर कोई भरोसा नहीं है, इसलिए मामले की जांच उच्च न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश से कराई जाए. उन्होंने प्रदेश में कानून व्यवस्था के सवाल पर कहा कि जिस प्रदेश का मुख्यमंत्री यह कहे कि ‘ठोंक दो’, वहां की पुलिस से क्या अपेक्षा की जा सकती है. पुष्पेंद्र यादव के गांव पहुंचकर अखिलेश ने उनके परिजनों से मुलाकात की एवं घटना की विस्तृत जानकारी लेने के बाद उन्हें न्याय दिलाने का भरोसा दिलाया. इसके बाद झांसी की ओर रवाना होते समय पत्रकारों से चर्चा करते हुए अखिलेश ने कहा कि पुलिस द्वारा बताई गई मुठभेड़ की कहानी पर उन्हें क्या, किसी को भी भरोसा नहीं है.

उन्होंने कहा कि वास्तव में यह एनकाउंटर नहीं बल्कि पुलिस द्वारा की गई हत्या है और पुष्पेंद्र यादव के परिजनों को आज तक यह भी पता नहीं चला कि उनके लड़के की मौत का समय क्या था, यहां तक कि परिजनों को अब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी नहीं मिली है. यादव ने कहा कि जब परिवार चाहता था कि मुकदमा दर्ज कर लिया जाए तो इसमें पुलिस को क्या आपत्ति थी. सपा अध्यक्ष ने कहा कि बड़े आश्चर्य की बात है कि परिजनों के बगैर ही पुलिस ने अन्तिम संस्कार कर दिया. फर्जी पुलिस मुठभेड़ की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में ऐसी अनेक हत्याएं हुई हैं- सोनभद्र, सहारनपुर, नोएडा, आजमगढ़, शामली जैसे अनेक उदाहरण हैं. उन्होंने कहा कि बड़े दुख की बात है कि एक थाना प्रभारी को बचाने के लिए प्रशासन व सरकार एकजुट हो गए हैं.उल्लेखनीय है कि पुलिस का कहना है कि गुरसराय इलाके में पुलिस इंस्पेक्टर को देखकर पुष्पेंद्र ने फायंिरग कर दी थी. पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से पुष्पेंद्र घायल हो गया. घायल आरोपी को लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here