गृह मंत्री अमित शाह बोले- बच्चे को मातृभाषा के ज्ञान से वंचित कर देंगे तो वह अपनी जड़ों से कट जाएगा

नई दिल्लीकेंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री, अमित शाह ने मंगलवार को नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित हिंदी दिवस-2021 समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए कहा, बच्चे को मातृभाषा के ज्ञान से वंचित कर देंगे, तो वे अपनी जड़ों से कट जाएगा. कोई भी व्यक्ति अपनी भाषा से अच्छी अभिव्यक्ति किसी और भाषा में नहीं कर सकता. ये बात हमें अपनी नई पीढ़ी को समझानी होगी कि भाषा कभी बाधक नहीं हो सकती, हम गौरव के साथ अपनी भाषा का उपयोग करें, झिझकें नहीं. उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि देश के युवा इस बात को अपने मन में बिठा लें कि हम हमारी भाषाओं को छोड़ेगे नहीं. शाह ने अभिभावकों से कहा, भले ही आपका बच्चा अंग्रेजी माध्यम में पढ़ता हो, लेकिन घर में उसके साथ अपनी भाषा में बात करने की शुरुआत करें. कोई बाहर की भाषा हमें इस देश के गौरवपूर्ण इतिहास से परिचित नहीं करा सकती. जो लोग अपनी जड़ों से कट जाते हैं, वे लोग कभी ऊपर नहीं जाते. ऊपर तो केवल वही जाता है, जिस वृक्ष की जड़ें गहरी, मजबूत और फैली हों.

इस दौरान शाह ने कहा कि हिंदी का किसी स्थानीय भाषा से कोई मतभेद नहीं है. हिंदी, भारत की सभी भाषाओं की सखी है और यह सहअस्तित्व से ही आगे बढ़ सकती है. 14 सितंबर हमारे लिए एक मूल्यांकन का दिन होता है कि हमने अपने देश की भाषाओं और राजभाषा के लिए क्या किया है. आज जब हमने पीछे मुड़कर देखते हैं तो देश में एक समय आया था कि हमें ऐसा लगता था कि शायद भाषा की लड़ाई देश हार जाएगा. शाह ने कहा कि हम ये लड़ाई कभी नहीं हारेंगे, युगों-युगों तक भारत अपनी भाषाओं को संभालकर, संजोकर रखेगा, और हम उन्हें लचीला व लोकोपयोगी भी बनाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close