देश

भारत की पहचान “दुष्कर्म राजधानी” के रूप में बन गई है: राहुल

वायनाड. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में बलात्कार के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए शनिवार को कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय भारत का मखौल उड़ा रहा है और यह विश्व की ‘‘दुष्कर्म राजधानी (रेप कैपिटल)’’ बन गया है. कांग्रेस सांसद गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र की अपनी तीन दिवसीय यात्रा समाप्त करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उनका (मोदी का) पूरा राजनीतिक जीवन घृणा, विभाजन और ंिहसा पर आधारित है.

गांधी ने कहा, “बच्चियां, बहनें और माएं हर दिन अखबारों में किसी लड़की के बलात्कार या हत्या की खबर पढ़कर चौंक जाती होंगी…आज अंतरराष्ट्रीय समुदाय भारत का मजाक उड़ा रहा है. भारत दुष्कर्म की राजधानी बन गया है.” उन्होंने उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायक कुलदीप ंिसह सेंगर के खिलाफ बलात्कार के मामले का जिक्र करते हुए कहा कि जब ट्रक ने पीड़िता की कार को टक्कर मारी तो प्रधानमंत्री ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

उन्होंने कहा, “उत्तर प्रदेश में भाजपा विधायक बलात्कार में शामिल है और प्रधानमंत्री ने इसपर कुछ नहीं बोला… उसकी कार को ट्रक ने टक्कर मारी तो प्रधानमंत्री ने कुछ नहीं बोला…दूसरे देश सवाल पूछ रहे हैं कि देश अपनी बेटियों की सुरक्षा क्यों नहीं कर सकता.” गांधी ने प्रधानमंत्री पर प्रत्यक्ष हमला करते हुए कहा कि मोदी देश के सबसे बदतर पहलुओं का प्रतिनिधित्व करते हैं.

उन्होंने कहा, “हमारे प्रधानमंत्री घृणा और ंिहसा की विचारधारा में यकीन रखते हैं. उनका पूरा राजनीतिक जीवन नफरत, विभाजन और ंिहसा पर आधारित है. उन्होंने धार्मिक समुदायों और भाषाओं को बांटा, उन्होंने संस्कृति का अपमान किया. उन्हें अर्थव्यवस्था की समझ नहीं है. हमारे लोग डर और बैचेनी में जी रहे हैं.” कांग्रेस नेता ने इससे पहले देश में ंिहसा की बढ़ती घटनाओं खासकर महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराधों के लिए भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की आलोचना की.

गांधी ने कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) के सम्मेलन में कहा, ‘‘आपने देश भर में ंिहसा के बढ़ते मामलों को देखा. अराजकता, महिलाओं के खिलाफ ज्यादती के मामले बढ़े हैं. हर दिन हम पढ़ते हैं कि लड़कियों से दुष्कर्म हो रहा है, उनसे छेड़छाड़ की जा रही है. अल्पसंख्यक और दलित समुदायों के खिलाफ ंिहसा के मामले भी बढ़े हैं.’’

उनकी यह टिप्पणी उन्नाव में दुष्कर्म के बाद जलाई गई पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में एक दिन पहले हुई मौत और हैदराबाद में एक पशु चिकित्सक को चार लोगों द्वारा दुष्कर्म के बाद जलाए जाने की घटनाओं के बाद सामने आई है. वायनाड से सांसद ने कहा कि देश की सबसे बड़ी ताकत उसकी अर्थव्यवस्था हुआ करती थी. अब यह सबसे बड़ी कमजोरी है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास देश को आगे ले जाने की परिकल्पना नहीं है.

”रेप कैपिटल” बन रहा है उप्र, योगी सरकार विफल
कांग्रेस ने उन्नाव की ब्लात्कार पीड़िता की मौत के बाद शनिवार को राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर तीखा हमला बोला और आरोप लगाया कि अपराधियों को संरक्षण मिला हुआ है तथा राज्य ‘दुनिया का ‘रेप कैपिटल” बन रहा है.

पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने संवाददाताओं से कहा, ”उन्नाव की बेटी के साथ जो हुआ वह साफ दर्शाता है कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं. इन्हें कहीं न कहीं राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है और यही वजह है ऐसी घटनाएं हो रही हैं.” उन्होंने कहा, ”मुख्यमंत्री कहते हैं कि उन्हें दुख और खेद है. उनके इस दुख और खेद में उनकी सरकार की नाकामी नजर आती है.” सुप्रिया ने राज्य की पुलिस पर भी पूरी तरह विफल रहने और साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. कांग्रेस नेता ने कहा, ” उत्तर प्रदेश सरकार को कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए. इस मामले पर फिर से पर्दा डालने की कोशिश नहीं होनी चाहिए.” उन्होंने दावा किया, ”उन्नाव में 11 महीने में बलात्कार के 86 मामले घटित हुए हैं और अभी तीन साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म का मामला कल दर्ज हुआ है. राज्य में कानून व्यवस्था ध्वस्त है, बर्बाद हो चुकी है.” उन्होंने कहा, ” ऐसा लगता है कि उत्तर प्रदेश दुनिया की रेप कैपिटल बनने की ओर बढ़ रहा है.”

सुप्रिया ने सवाल किया, ” मैं पूछना चाहूंगी कि भाजपा के शीर्ष नेता चुप्पी क्यों साधे हुए हैं? क्यों प्रधानमंत्री जी का दिल नहीं कचोटता है, क्या उनके अंदर संवेदना नहीं है?” गौरतलब है कि आग के हवाले की गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता ने शुक्रवार देर रात दिल्ली में सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया. बलात्कार के आरोपियों सहित पांच लोगों ने पीड़िता को गुरुवार को अदालत जाते समय आग के हवाले कर दिया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close