देशशिक्षा

आगे बढ़ने के लिए नवोन्मेष बेहद जरूरी: निशंक

वाराणसी. मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा है कि भारत में बहुत जल्द नई शिक्षा नीति जारी की जाएगी. इसके लिए दो लाख से ज्यादे सुझाव आ चुके हैं और मसौदे को अंतिम रूप देने का काम चल रहा है. निशंक काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के आठवें दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि आगे बढ़ने के लिए नवोन्मेष बहुत जरूरी है. 21वीं सदी में तकनीक के साथ-साथ नवोन्मेष को लेकर चलने से ही देश प्रगति के पथ पर अग्रसर होगा.

केन्द्रीय मंत्री ने कहा,‘‘ आज देश को अनुसंधानकर्ताओं की आवश्यकता है. लाल बहादुर शास्त्री ने ‘जय जवान जय किसान’ का नारा दिया था तो अटल जी ने उसमें ‘जय विज्ञान’ जोड़ा था और आज ‘जय अनुसंधान’ उसमें जुड़ चुका है. देश के युवा चुनैतियों से बखूबी लड़ रहे हैं.’’ उन्होंने कहा,‘‘ महामना मदन मोहन मालवीय जी ने गुलामी के समय इतनी बड़ी सोच से बीएचयू का निर्माण कर दिया. यहाँ के छात्रों को देख कर देश ,विदेश के लोगों को लगता है कि बीएचयू से पढ़ा है तो इसके अंदर कुछ तो है.’’

कार्यक्रम में इलेक्ट्रानिक अभियांत्रिकी के छात्र विभोर बंसल ने सर्वाधिक दस स्वर्ण पदक, एक रजत और तीन पुरस्कार पाकर अपनी मेधा का परचम लहराया. वहीं रसायन अभियांत्रिकी की छात्रा एलेश्वरपु श्रावणि को छह स्वर्ण पदक और दो पुरस्कार मिले. साथ ही संस्थान के विभिन्न पाठ्यक्रमों के 1282 मेधावी छात्रों को उपाधियां प्रदान की गयीं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close