Home देश केरल पहले ही आयुष्मान भारत का सदस्य है, प्रधानमंत्री ने ‘गलत समझा’...

केरल पहले ही आयुष्मान भारत का सदस्य है, प्रधानमंत्री ने ‘गलत समझा’ : राज्य सरकार

18
0

तिरुवनंतपुरम. आयुष्मान भारत में शामिल होने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर केरल में एलडीएफ सरकार ने कहा कि राज्य पहले ही केंद्र की स्वास्थ्य बीमा योजना का सदस्य है और प्रधानमंत्री ने इसे ‘‘गलत समझा.’’ प्रधानमंत्री से खुद को सही करने के लिए कहते हुए राज्य की स्वास्थ्य मंत्री के के शैलजा ने कहा कि यहां तक कि केरल सरकार ने इसे ‘‘करुणया आरोग्य सुरक्षा योजना’’ के तहत मौजूद अन्य योजनाओं से जोड़ते हुए इसका दायरा 18.5 लाख परिवार से 41 लाख परिवार तक कर बढ़ा दिया है.

गुरुवायुर में शनिवार को भाजपा की एक सभा में मोदी ने केरल की पिनरायी विजयन सरकार से केंद्र की महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य बीमा योजना लागू करने का अनुरोध किया था. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए शैलजा ने यहां एक बयान में कहा कि केरल पहले ही योजना का एक सदस्य है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने इस संबंध में राज्य को गलत समझा, उन्हें अपना बयान ठीक करना चाहिए क्योंकि केरल योजना का सदस्य है और उसने दो नवंबर 2018 में एमओयू (समझौता ज्ञापन) पर हस्ताक्षर किए थे.’’ उन्होंने कहा कि राज्य को केंद्र से पहली किश्त के रूप में 25 करोड़ रुपये मिले थे और मुख्यमंत्री विजयन ने पांच मार्च को योजना के तहत स्वास्थ्य कार्ड का राज्य भर में वितरण कर शुभारंभ किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here