देशलाइफस्टाइल

लॉकडाउन तोड़ने वाले व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ाया “मैं समाज का दुश्मन हूं” छपा पर्चा

इंदौर. कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण जिले में लॉकडाउन लागू होने के बावजूद सड़क पर बिना-वजह घूमते मिले कुछ लोगों को र्शिमंदा करने के लिये पुलिस ने मंगलवार को अनोखा तरीका अपनाया. पुलिस ने ऐसे लोगों को एक पर्चा थमाकर फोटो ंिखचवाने पर कथित रूप से मजबूर किया जिस पर छपा था-“मैं समाज का दुश्मन हूं. ना मैं मास्क लगाऊंगा और ना ही घर में रहूंगा.”

ऐसा ही दृश्य शहर के रीगल चौराहे पर नजर आया. इस वाकये का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. इस वीडियो में एक वाहन चालक विवादास्पद इबारत वाला पर्चा थामे दिखायी दे रहा है, जबकि मास्क लगाकर ड्यूटी कर रहा एक पुलिस अधिकारी उसके पास खड़े होकर उस पर नाराजगी जता रहा है. वीडियो में पर्चा थामे खड़े व्यक्ति की ओर उंगली से इशारा करते हुए पुलिस अधिकारी कहता सुनायी दे रहा है-“ये कार लेकर घूमने निकले हैं फालतू में.” वीडियो में पर्चा थामे खड़े व्यक्ति को ठीक से पोज देने की नसीहत के साथ पुलिस अधिकारी यह भी कहता सुनायी पड़ता है, “(पर्चे को) थोड़ा नीचे करो. नेशनल न्यूज में आओगे आप.”

बहरहाल, पुलिस के इस तरीके पर सवाल भी उठ रहे हैं. सामाजिक कार्यकर्ता चिन्मय मिश्र ने “पीटीआई-भाषा” से कहा, “संविधान और कानून के मुताबिक पुलिस आम लोगों को इस तरह के आपत्तिजनक पर्चे कतई नहीं थमा सकती. वह अपने हिसाब से आम लोगों को समाज के दुश्मन की उपमा देकर उन्हें सार्वजनिक रूप से जलील नहीं कर सकती.”

मिश्र ने कहा, “पुलिस द्वारा लोगों को इस तरह के पर्चे थमाकर उन्हें तस्वीरें ंिखचवाने पर मजबूर करना नागरिकों की निजता और मानवीय गरिमा के भी खिलाफ है.” इस बीच, लॉकडाउन के दौरान यहां खाकी वर्दी वालों का मानवीय चेहरा भी नजर आया जब कुछ पुलिस र्किमयों ने फुटपाथ पर रहने वाले बेघर लोगों के हाथ सेनेटाइजर से साफ कराये और उन्हें फल भी बांटे.

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के कारण प्रशासन ने जिले में सोमवार से तीन दिन का लॉकडाउन घोषित किया है. हालांकि, अधिकारियों ने संकेत दिये हैं कि इसे 31 मार्च तक बढ़ाया जा सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close