Home देश शेयर बाजार में जारी रही गिरावट; बैकिंग-वित्तीय कंपनियों पर रहा दबाव

शेयर बाजार में जारी रही गिरावट; बैकिंग-वित्तीय कंपनियों पर रहा दबाव

24
0

मुंबई. कंपनियों के तिमाही परिणाम के नरम परिदृश्य के बीच बैंंिकग, वाहन और धातु कंपनियों की शेयर कीमतों में तेज गिरावट के चलते बृहस्पतिवार को देश का प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स करीब 300 अंक लुढ़क गया. बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स कारोबार के दौरान एक समय 375 अंक तक नीचे चला गया था. अंत में यह 297.55 अंक यानी 0.78 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,880.40 अंक पर बंद हुआ.

एनएसई का निफ्टी भी 78.75 अंक यानी 0.70 प्रतिशत गिरकर 11,234.55 अंक पर बंद हुआ. कारोबारियों ने कहा कि कंपनियों के तिमाही परिणाम के कमजोर परिदृश्य के कारण निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई. मूडीज द्वारा जीडीपी वृद्धि का पूर्वानुमान घटाने से भी निवेशकों की धारणा पर असर पड़ा.

सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक, येस बैंक, टाटा मोटर्स, वेदांता, आईसीआईसीआई बैंक, भारतीय स्टेट बैंक, एचडीएफसी बैंक और टाटा स्टील के शेयर 6.15 प्रतिशत तक गिर गये. इसके विपरीत भारती एयरटेल, रिलायंस इंडस्ट्रीज, ंिहदुस्तान यूनिलीवर्स, एचसीएल टेक, पावरग्रिड, सन फार्मा, एशियन पेंट्स और बजाज आॅटो जैसे कुछ शेयरों में 5.05 प्रतिशत तक सुधार हुआ.

जियोजीत फाइनेंशियल र्सिवसेज के शोध प्रमुख विनोद नायर ने कहा, ‘‘दूसरी तिमाही के परिणामों की घोषणा की शुरुआत के साथ बाजार पिछले दिन की तेजी को आगे बढ़ाने में असफल रहा. निकटभविष्य में निफ्टी के 11,300 अंक से 11,100 अंक के दायरे में रहने का अनुमान है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘परिणाम खराब रहने के अनुमान तथा क्षेत्र में जारी संकट के कारण बैंकों पर अच्छा प्रदर्शन नहीं किया. इस महीने के दौरान बाजार के प्रदर्शन पर कंपनियों के तिमाही परिणाम का असर रहेगा.’’ बीएसई के समूहों में बैंंिकग, रियल्टी, वित्त, धातु और वाहन के सूचकांक 2.61 प्रतिशत तक गिर गये.

हालांकि, दूरसंचार, ऊर्जा, टेक तथा तेल एवं गैस सूचकांक 3.76 प्रतिशत तक की बढ़त में रहे. बीएसई का मिडकैप और स्मालकैप 0.87 प्रतिशत तक गिर गया. वैश्विक स्तर पर अमेरिका और चीन के बीच नये दौर की व्यापार वार्ता के कारण निवेशक सतर्क रहे. एशियाई बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, हांगकांग का हैंग सेंग और जापान का निक्की बढ़त में बंद हुआ. हालांकि दक्षिण कोरिया का कोस्पी नुकसान के साथ बंद हुआ.

यूरोपीय बाजार कारोबार के दौरान तेजी में चल रहे थे. इस बीच रुपया दिन में मामूली बढ़त के साथ 71.04 रुपये प्रति डॉलर पर चल रहा था. ब्रेंट क्रूड का वायदा 0.74 प्रतिशत गिरकर 57.89 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here