देशव्यापार

बाजार में एक दिन में एक दशक की सबसे बड़ी तेजी, सेंसेक्स 1862 अंक उछला

मुंबई. घरेलू शेयर बाजारों सेंसेक्स और निफ्टी में बुधवार को जोरदार तेजी आयी. यह किसी एक दिन में एक दशक की सबसे बड़ी तेजी है. वैश्विक बाजारों में मजबूती और कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिये सरकार के प्रोत्साहन पैकेज की उम्मीद में बाजार में उछाल आया. बीएसई सेंसेक्स में कारोबार की शुरूआत में उतार-चढ़ाव देखा गया. पर अंत में यह 1,861.75 अंक यानी 6.98 प्रतिशत मजबूत होकर 28,535.78 अंक पर बंद हुआ. इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 516.80 अंक यानी 6.62 प्रतिशत मजबूत होकर 8,317.85 अंक पर बंद हुआ. दोनों सूचकांकों में यह तेजी किसी एक दिन में एक दशक की सबसे बड़ी तेजी है. वैश्विक बाजारों में तेजी का भी घरेलू बाजार पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा. अमेरिका में सरकार और संसद के ऊपरी सदन सीनेट के बीच अमेरिकी अर्थव्यवस्था को संभालने के लिए 2,000 अरब डॉलर के प्रोत्साहन पैकेज को लेकर समझौते की घाषणाा से वैश्विक बाजारों में तेजी आयी.

सेंसेक्स के शेयरों में रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे लाभ में रही. कंपनी का शेयर 15 प्रतिशत मजबूत हुआ. उसके बाद कोटक बैंक, मारुति, एचडीएफुसी बैंक औेर एसडीएफसी, टाइटन, एल एंड टी और एक्सिस बैंक का स्थान रहा. वहीं दूसरी तरफ इंडसइंड बैंक, ओएनजीसी, आईटीसी और बजाज आॅटो नुकसान में रहे.सभी खंडवार सूचकांकों में तेजी रही. ऊर्जा, वित्त, बैंक, वाहन और तेल वं गैस सूचकांकों में 10 प्रतिशत तक की तेजी आयीआनंद राठी के प्रमुख (इक्विटी रिसर्च)नरेंद्र सोलंकी ने कहा कि कोरोना संबधी सार्वजनिक पाबंदी की नये सिरे से घोषणा से अनिश्चितता कम हुई है. साथ ही सरकार के प्रोत्साहन उपायों के आश्वासन से निवेशकों की धारणा सुधरी है.प्रधानमंत्री ने मंगलवार को कोरोना वायरस संकट से निपटने और एक-दूसरे से होने वाले संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने के लिये 21 दिन के बंद की घोषणा की. सोलंकी ने कहा कि वायदा एवं विकल्प खंड के अनुबंधों के कल (बृहस्पतिवार) समाप्त होने से पहले ‘शार्ट कवंिरग’ (सौदों को पूरा करने के लिये खरीदारी) से बाजार में आयी यह तेजी चौतरफा रही. बड़ी, मझोली एवं छोटी कंपनियों के शेयरों में भी बढ़त दर्ज की गयी.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close