Home रायपुर बारहवीं में श्रेणी सुधार वाले बच्चे पुराने कोर्स से देंगे परीक्षा

बारहवीं में श्रेणी सुधार वाले बच्चे पुराने कोर्स से देंगे परीक्षा

3904
1

रायपुर. बारहवीं में श्रेणी सुधार वाले बच्चे इस बार पुराने कोर्स के अनुसार ही परीक्षा देंगे. जबकि बारहवीं में फेल होने के बाद पुन: प्रवेश लेने वाले बच्चों को एससीईआरटी के बजाय एनसीईआरटी की किताबें पढ़नी होंगी. राज्य शासन के निर्देशानुसार माध्यमिक शिक्षा मंडल ने इस साल से बारहवीं में गणित, साइंस और कॉमर्स की किताबें एनसीईआरटी की लागू की हंै. पहले साल ग्यारहवीं में एनसीईआरटी की किताबों से पढ़ाई हुई थी. इस वर्ष ग्यारहवीं में सभी किताबें एनसीईआरटी की लागू कर दी गई हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार बारहवीं में श्रेणी सुधार के अंतर्गत पढ़ाई करने वाले बच्चे इस बार पुराने कोर्स की ही परीक्षा देंगे. पिछले साल 8300 विद्यार्थी श्रेणी सुधार के लिए बारहवीं की परीक्षा में सम्मिलित हुए थे.

श्रेणी सुधार के लिए वही विद्यार्थी दोबारा परीक्षा देते हैं जिनके अंक कम होते हैं अथवा इंजीनियरिंग व मेडिकल में प्रवेश के लिए आवश्यक प्राप्तांक नहीं ला पाते. साथ ही पुनर्गणना और पुनर्मूल्यांकन में भी कामयाबी नहीं मिल पाती. वर्ष 2018-19 की परीक्षा नए कोर्स और नए पैटर्न से होगी. लिहाजा श्रेणी सुधार वाले विद्यार्थियों को दिक्कतें होंगी. ऐसे में माशिमं ने श्रेणी सुधार वाले बच्चों की परीक्षा पुराने कोर्स पर आधारित लेने का निर्णय लिया है. इन बच्चों के लिए अलग से प्रश्नपत्र तैयार किए जाएंगे. माना जा रहा है कि इस बार भी बड़ी संख्या में विद्यार्थी श्रेणी सुधार के लिए परीक्षा देंगे. इसी तरह क्रेडिट योजना वाले बच्चे भी पुराने कोर्स से ही परीक्षा देंगे. दूसरी ओर, बीते शिक्षा सत्र में बारहवीं की परीक्षा में फेल होने वाले उन विद्यार्थियों को एनसीईआरटी की किताबें पढ़नी होंगी

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here