रायपुर

समुद्री लुटेरों द्वारा अगवा किए गए तिवारी दम्पत्ति को मुक्त कराने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएंगे: भूपेश बघेल

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि समुद्री लुटेरों द्वारा अगवा किए गए भनपुरी, रायपुर के तिवारी दम्पत्ति की सुरक्षा और उन्हें मुक्त कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. राज्य सरकार के अधिकारी भारत सरकार के विदेश मंत्रालय और संबंधित दूतावास से लगातार सम्पर्क में हैं. मैंने विजय तिवारी के भाई पवन तिवारी से टेलीफोन पर बात की और उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है. उनके लिए जो भी बेहतर होगा, वह किया जाएगा. पुलिस अधीक्षक ने भी उनसे मुलाकात की है. मुख्यमंत्री आज सवेरे जशपुर के लिए रवाना होने के पहले माना विमान तल पर मीडिया प्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे.

मुख्यमंत्री ने यह खबर मिलने पर कि छत्तीसगढ़ रायपुर भनपुरी के विजय तिवारी और उनकी पत्नी को समुद्री लुटेरों ने अगवा कर लिया है, तत्काल अधिकारियों को तिवारी दम्पत्ति की मदद के लिए हर संभव उपाय के निर्देश दिए हैं.

मुख्यमंत्री के निर्देश पर कलेक्टर और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने विजय तिवारी दंपत्ति के घर पहुंचकर परिजनों से मुलाकात की
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर आज सुबह रायपुर जिले के कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोहम्मद आरिफ एच. शेख ने रायपुर निवासी एवं जहाज के चीफ मैक्निकल इंजीनियर विजय तिवारी के भनपुरी स्थित घर पहुंचकर उनके छोटे भाई पवन तिवारी तथा दीनदयाल उपाध्याय कॉलोनी पहुंचकर विजय तिवारी की पत्नि अंजु तिवारी के भाई एस. पी. उपाध्याय से मुलाकात की.

उन्होंने नाइजीरिया के बोन्नी आफशोर टर्मिनल के पास से एंग्लों ईस्टर्न शिप मैनेजमेंट कंपनी के जहाज में सवार 19 लोगों को अगवा किये की घटना पर संवेदना व्यक्त किया और कहा कि शासन-प्रशासन उनके परिवार के इस कठिनाई के समय में उनके साथ है और राज्य शासन द्वारा जो भी सहयोग या मदद की जरूरत होेगी वह किया जाएगा.

कलेक्टर ने बताया कि माननीय मुख्यमंत्री ने प्रदेश के मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव (गृह) को इस संबंध में आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए है और राज्य शासन इस संबंध में भारतीय दूतावास के साथ-साथ भारत सरकार के गृह एवं अन्य संबंधित विभागों के संपर्क में है. कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक से बातचीत करते हुए तिवारी दंपत्ति के परिजनों ने बताया कि उन्हें इस घटना की जानकारी परसो मुम्बई के अंधेरी स्थित कंपनी के माध्यम से मिली. अपहरणकर्त्ताओं ने जहाज के इस दम्पत्ति सहित 19 लोगों को बंधक बनाया है लेकिन जहाज को छोड़ दिया है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close