रायपुर

जगदलपुर के कोपागुड़ा में बनेगा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, मुख्य सचिव ने निर्माण कार्य जल्द शुरू करने के निर्देश

रायपुर. मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में एन.एम.डी.सी. परिक्षेत्र विकास निधि हेतु गठित हाईपावर कमेटी की बैठक सम्पन्न हुई. बैठक में बस्तर संभाग में एन.एम.डी.सी के समन्वय से किए जा रहे विकास कार्यो से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गयी.

मण्डल ने बस्तर संभाग के लघु वनोपज ईमली, चिरौंजी, तिखूर, शहद, काजू आदि का गुणवत्तापूर्वक प्रसंस्करण करने और इसके माध्यम से वनवासियों के आजीविका में सुधार लाने के निर्देश भी दिए है. बैठक में वर्ष 2020-21 में बस्तर संभाग के सभी जिलों में एन.एम.डी.सी. द्वारा सामुदायिक सहभागिता मद में कराए जाने वाले नवीन कार्यो का अनुमोदन किया गया.

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार तहसील जगदलपुर के ग्राम कोपागुड़ा में ’सुपर स्पेशलिटी अस्पताल’ का निर्माण एवं संचालन एन.एम.डी.सी. द्वारा किया जाना है. बैठक में जानकारी दी कि अस्पताल के निर्माण के हेतु ग्राम कोपागुड़ा में भूमि का चिन्हांकन कर लिया गया है. मुख्य सड़क से अस्पताल निर्माण स्थल तक पहुंच मार्ग का निर्माण भी कर लिया गया है. मुख्य सचिव ने एन.एम.डी.सी. के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का निर्माण कार्य जल्द से जल्द शुरू किया जाए.

नगरनार के ग्राम चोकाबाड़ा में प्रस्तावित आई.टी.आई. भवन और पॉलिटेक्निक कॉलेज तथा उससे जुड़े आधारभूत संरचनाओं के निर्माण के लिए आवश्यक भूमि का प्रस्ताव वनमण्डाधिकारी कार्यालय रायपुर में यथा शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए. एन.एम.डी.सी. द्वारा सीएसआर मद में कराए गए कार्यो का उपयोगिता प्रमाण पत्र छायाचित्रों सहित प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए.

सीएसआर मद में स्वीकृत एवं अपूर्ण कार्यो को समय-सीमा के भीतर पूरा करने सतत् निगरानी रखने के निर्देश बस्तर संभागायुक्त को दिए गए. बैठक में आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास के सचिव डी.डी. सिंह, राज्यपाल के सचिव अमृत कुमार खलखो एवं बस्तर संभागायुक्त जी.आर. चुरेन्द्र सहित विभागीय वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे.

जल्द शुरू होगा विधानसभा भवन और दो जल परियोजनाओं के निर्माण का कार्य
मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में परियोजना निर्माण एवं क्रियान्वयन समिति की बैठक का आयोजन किया गया. बैठक में मुख्य रूप से लोक निर्माण विभाग द्वारा नवा रायपुर के सेक्टर-19 में निर्मित किए जाने वाले नए विधानसभा भवन और जल संसाधन विभाग द्वारा बिलासपुर जिले के खारंग-अहिरन जलाशय परियोजना और छपराटोला फीडर जलाशय परियोजना के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया.

बैठक में लोक निर्माण विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने नवा रायपुर के सेक्टर-19 में निर्मित किए जाने वाले नए विधानसभा भवन के विषय में विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने बताया कि नए विधानसभा भवन के निर्माण की प्रस्तावित लागत लगभग 275 करोड़ 76 लाख 19 हजार रूपए होगी. विधानसभा भवन का निर्माण मुख्य रूप से भूतल-प्रथमतल-द्वितीय तल के रूप में किया जाएगा. भूतल में विधानसभा की कार्यवाही के लिए सदन, विधानसभा अध्यक्ष कार्यालय, मुख्यमंत्री कार्यालय, मंत्रियों के कक्ष, विधानसभा उपाध्यक्ष के कार्यालय, नेता प्रतिपक्ष का कार्यालय, समिति बैठक कक्ष और अधिकारियों के कक्ष का निर्माण किया जाएगा.

प्रथम तल में विधानसभा सदन की गैलेरी का निर्माण किया जाएगा. जिसमें मुख्य रूप से मीडिया, पब्लिक और अति विशिष्ट जनों को प्रवेश दिया जाएगा. प्रथम तल में ही 200 सीटर कॉन्फ्रेंस हॉल का निर्माण किया जाएगा. द्वितीय तल में मुख्य रूप से विधानसभा की लाईब्रेरी और सेन्ट्रल हॉल का निर्माण किया जाएगा. मुख्य सचिव ने विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि नवीन विधानसभा भवन में बैठकों के लिए प्रस्तावित कक्षों का निर्माण सही तरीके से किया जाए.

ताकि बैठक व्यवस्था में कोई बाधा न हो. उन्होंने सचिव एवं विभागाध्यक्ष स्तर के अधिकारियों और उनके कार्यालयों के लिए सुव्यवस्थित बैठक व्यवस्था करने के निर्देश दिए है. साथ ही महिला अधिकारियों के लिए कामन रूम का निर्माण भी करने के निर्देश दिए है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close