रायपुर

शराबबंदी को लेकर छत्तीसगढ़ विधानसभा में हंगामा

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा में सोमवार को मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने राज्य में पूर्ण शराबंदी की मांग को लेकर जमकर हंगामा किया. विधानसभा में आज प्रश्नकाल के बाद पूर्व मुख्यमंत्री रमन ंिसह, विपक्ष के नेता धरमलाल कौशिक और भाजपा के अन्य सदस्यों ने राज्य में अवैध शराब की बिक्री का मामला उठाया और सदन में काम रोककर इस पर चर्चा कराए जाने की मांग की.

भाजपा सदस्यों ने कहा कि राज्य में शराब की दुकानें अब अवैध शराब के धंधे के रूप में बदल गयी है. शराब निर्माताओं से मिलीभगत के कारण राज्य की शराब दुकानों में कुछ खास किस्म की शराब ही बेची जा रही है तथा अन्य किस्में उपलब्ध नहीं हो पा रही है. वहीं शराब दुकानों में ग्राहकों से निर्धारित दर से ज्यादा पैसा लेकर शराब दी जा रही है.

उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य में अवैध शराब की बिक्री में बढ़ोतरी के कारण शासन को 200 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है. ंिसह और कौशिक ने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता में आने के लिए जनता से राज्य में पूर्ण शराब बंदी का वादा किया था. लेकिन यह दुर्भाग्यजनक है कि राज्य सरकार के संरक्षण में ही अवैध शराब की बिक्री को बढ़ावा दिया जा रहा है.

विपक्षी सदस्यों की बहस के बाद आसन पर बैठे कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सत्यनारायण शर्मा ने स्थगन प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया तब भाजपा सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी तथा राज्य में पूर्ण शराबबंदी की मांग करने लगे. बाद में विपक्षी सदस्य अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी करते हुए सदन के ‘वेल’ में प्रवेश कर गए. जिससे वह नियमों के तहत निलंबित हो गए. बाद में उनका निलंबन समाप्त कर दिया गया.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close