Home रायपुर 60 माह बनाम 60 दिन का रिपोर्ट कार्ड देख लें

60 माह बनाम 60 दिन का रिपोर्ट कार्ड देख लें

16
0

रायपुर. लोकसभा चुनाव के एलान के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने फिर ताल ठोंकी. उन्होंने भाजपा एवं पीएम नरेन्द्र मोदी को चुनौती दी कि 60 साल बनाम 60 माह की बात करने वाले पहले छत्तीसगढ़ के 60 दिनों की सरकार के कामकाज की तुलना कर लें.

यहां रमन सरकार के 15 सालों के बेहतरीन दो माह छांटकर कांग्रेस सरकार के 60 दिनों के रिपोर्ट कार्ड देख लें. किसानों के मुद्दों को लेकर हम जनता के बीच जाकर सभी 11 सीटों में जीत दर्ज कराएंगे. मुख्यमंत्री ने पूछा कि 2014 में मोदी ने जो वादा किया था
क्या वह पूरा हो पाया.

राजीव भवन में चर्चा के दौरान बतौर पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने दो टूक कहा कि चुनाव में कांग्रेस सरकार के 60 दिनों का कामकाज बड़ा मुद्दा होगा. 60 सालों की बात करने वाले अपने 60 माह की तुलना राज्य सरकार के 60 दिनों के रिपोर्ट कार्ड से कर लें तो पता चल जाएगा. चाहें तो रमन सरकार के कार्यकाल का कोई दो माह निकालकर देख लें.

प्रत्याशी चयन के मापदंड और मंत्रियों को उतारने के सवाल पर सीएम ने कहा कि कैबिनेट के साथी लड़ेंगे या नहीं इसके लिए थोड़ा इंतजार करना चाहिए. नए चेहरों को भी मौका
मिलेगा. लोकसभा सीटों के मामले में कांग्रेस के पास खोने को कुछ नहीं है. अपने कामकाज को लेकर और किसानों, आदिवासियों के मुद्दों पर बात करेंगे.

भूपेश ने आरोप लगाए कि मोदी सरकार ने पहले नोटबंदी लादकर अर्थव्यवस्था तबाह कर दी. फिर जीएसटी लागू कर व्यापार बर्बाद कर दिया. महंगाई कम करने का वादा पूरा करने में नाकाम रहे. हमने किसानों से कर्जमाफी, समर्थन मूल्य 2500 रुपए का वादा किया था.

आदिवासियों की जमीन वापस करने का वादा किया था. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जो बात कही वह हमने कर दिखाया है. वे यथार्थवादी नेता हैं. भाजपा के लिए देश नहीं दल बड़ा पुलवामा मामले में भाजपा द्वारा श्रेय बटोरने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के लिए देश नहीं दल बड़ा है.

सेना के शौर्य पर हम राजनीतिक लाभ नहीं लेंगे. मोदी जब विफल होने लगे तब फिर से राम मंदिर और सीमा में तनाव पैदा करने की चर्चाएं होती रही. लोग कहते थे चुनाव से 50 दिन पहले इस तरह की घटनाएं होगी.

फोटोशूट पर इस्तीफा क्यों नहीं
मुख्यमंत्री ने पूछा कि आखिर पुलवामा पर जवाब कौन देगा. सूट बदलने पर जब गृहमंत्री का इस्तीफा हो सकता है तो फोटोशूट कराने पर प्रधानमंत्री को इस्तीफा क्यों नहीं देना चाहिए.

ईवीएम का मुद्दा रहेगा, जोगी अप्रासंगिक
लोकसभा चुनाव में भी ईवीएम का मुद्दा रहेगा. मुख्यमंत्री ने संकेत दिए कि कांग्रेस अपने स्टैंड पर कायम है. वहीं जोगी को लेकर सवालों पर कहा कि वे पहले ही अप्रासंगिक हो चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here