आस्ट्रेलिया के खिलाफ क्लीनस्वीप से बचने उतरेगी भारतीय महिला क्रिकेट टीम

मैकॉय (आस्ट्रेलिया). दबाव का सामना कर रही भारत की गेंदबाजों को रविवार को यहां तीसरे और अंतिम महिला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय में टीम को क्लीन स्वीप से बचाना है तो आस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ बेहतर प्रदर्शन करना होगा जो लगातार 27वां मुकाबला जीतने के इरादे से उतरेगी। दूसरे एक दिवसीय में झूलन गोस्वामी की मैच की अंतिम गेंद को विवादास्पद हालात में नोबॉल दिया गया और भारत को हार का सामना करना पड़ा।

मैच काफी करीबी रहा लेकिन मिताली राज की टीम का 274 रन के बड़े स्कोर का बचाव नहीं कर पाना निराशाजनक रहा।
राशेल हेन्स की गैरमौजूदगी में ताहलिया मैकग्रा और निकोला कैरी के साथ पारी का आगाज करने वाली बेथ मूनी ने शानदार प्रदर्शन किया है। इस साल झूलन गोस्वामी के अलावा भारत की अन्य सभी गेंदबाजों ने निराश किया है। अमिता शर्मा के एक दशक पहले जाने के बाद भी झूलन के लिए नई गेंद का कोई विश्वसनीय साझेदार नहीं मिल पाया है।

शिखा पांडे ने प्रभावित किया लेकिन वह कभी झूलन की नियमित साझेदार नहीं बन पाई। मानसी जोशी, पूजा वस्त्रकार, मोनिका पटेल भी उम्मीदों पर खरी नहीं उतरी। निरंजना नागराजन की अनदेखी की गई जबकि मेघना ंिसह को अभी और समय की जरूरत है।
स्पिन विभाग भारत का मजबूत पक्ष है लेकिन मजबूत टीमों ने पूनम यादव की लेग स्पिन का तोड़ निकाल लिया है। दीप्ति शर्मा के प्रदर्शन में निरंतरता है लेकिन वह विकेट चटकाने से अधिक रन रोकने वाली गेंदबाज हैं।

पूनम और दीप्ति के प्रदर्शन में आत्ममुग्धता झलकती है क्योंकि उन्हें पता है कि फिलहाल उनकी जगह लेने के लिए अच्छी गेंदबाज मौजूद नहीं हैं। खराब स्ट्राइक रेट के लिए आलोचना का सामना कर रही मिताली क्या टीम के मनोबल में इजाफा कर पाएंगी यह भी बड़ा सवाल है। इंग्लैंड के खिलाफ महज औपचारिकता के मुकाबले के जीत के अलावा मिताली की अधिकतर पारियों से उनके 20 हजार अंतरराष्ट्रीय रनों में ही इजाफा हुआ है और टीम का अधिक फायदा नहीं हुआ।

भारत अगर 0-3 से हार जाता है तो यह 50 ओवर के पिछले 11 मुकाबलों में टीम की नौवीं हार होगी जो अगले साल की शुरुआत में न्यूजीलैंड में होने वाले महिला एक दिवसीय विश्व कप की अच्छी तैयारी नहीं है। तेजी से रन बनाने की बात करें तो मिताली और दीप्ति बल्लेबाजी में दो कमजोर कड़ियां हैं। इन दोनों ने पिछले एक साल में काफी गेंदें बर्बाद की जिससे अन्य बल्लेबाजों पर दबाव बना और कई मौकों पर टीम प्रतिस्पर्धी स्कोर खड़ा करने में विफल रही।

हरमनप्रीत कौर अगर उपलब्ध होती हैं तो बल्लेबाजी क्रम को मजबूती मिल सकती है लेकिन भारतीय उप कप्तान भी खराब फॉर्म से जूझ रही है।

टीमें इस प्रकार हैं:

भारत: मिताली राज (कप्तान), हरमनप्रीत कौर, स्मृति मंधाना, शेफाली वर्मा, पूनम राउत, जेमिमा रोड्रिग्स, दीप्ति शर्मा, स्रेह राणा, यास्तिका भाटिया, तानिया भाटिया, शिखा पांडे, झूलन गोस्वामी , मेघना ंिसह, पूजा वस्त्रकार, राजेश्वरी गायकवाड़, पूनम यादव, ऋचा घोष और एकता बिष्ट।

आस्ट्रेलिया: मेग लेंिनग (कप्तान), डार्सी ब्राउन, मैटलन ब्राउन, स्टेला कैंपबेल, निकोला कैरी, हन्ना डार्लिंगटन, एशलेग गार्डनर, एलिसा हीली, ताहलिया मैकग्रा, सोफी मोलिनक्स, बेथ मूनी, एलिस पैरी, जॉर्जिया रेडमायने, मौली स्ट्रेनो, एनाबेल सदरलैंड, टायला व्लामिनक और जॉर्जिया वेयरहैम।

समय: मैच भारतीय समयानुसार सुबह पांच बजकर 35 मिनट पर शुरू होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close