राम मंदिर निर्माण के लिए 115 देशों से पहुंचा पानी, जलाभिषके लिए विश्व के सभी देशों से जल आना चाहिए

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 115 देशों से पानी लाया गया है। शनिवार को इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने शनिवार को कहा कि राम लला के जलाभिषेक के सभी देशों से जल आना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे ऋषियों ने पूरे विश्व को अपना परिवार माना है। हमने दुनिया को ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ का संदेश दिया है। इसलिए राम मंदिर निर्माण व जलाभिषके लिए विश्व के सभी देशों से जल आना चाहिए।

बता दें, हाल ही में मीडिया में खबरें आई थीं कि राम मंदिर निर्माण के लिए 115 देशों से जल लाया जाएगा। इस जल को प्राप्त करने के बाद रक्षा मंत्री का यह बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि यह अभिवन सोच है। हर भारतवासी के लिए गौरव का विषय है।

जाति-धर्म के आधार पर नहीं बांट सकते भारत को

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत कभी हिंसा का समर्थन नहीं करता। राम मंदिर का निर्माण तब शुरू हुआ जब सुप्रीम कोर्ट ने इस पर फैसला सुना दिया। यह सकारात्मक शुरुआत है। भारत को कभी जाति, धर्म या समुदाय के आधार पर नहीं बांटा जा सकता।

गैर सरकारी संगठन ने किया था दावा
बता दें, अभी हाल ही में दिल्ली के एक गैर सरकारी संगठन ने दावा किया था कि उसने राम मंदिर निर्माण के लिए 115 देशों से पानी मंगवाया है। इन देशों में ऑस्ट्रेलिया, बांग्लोदेश, अफगानिस्तान, कनाडा, कंबोडिया, जर्मनी, इटली जैसे देश शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close