बग्गा की गिरफ्तारी गैरकानूनी, केजरीवाल कर रहे प्रतिशोध की राजनीति: भाजपा

नयी दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने शुक्रवार को पंजाब पुलिस पर अपने नेता तेंिजदर पाल बग्गा को ‘‘अगवा’’ करने का आरोप लगाया और कहा कि आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरंिवद केजरीवाल राज्य की पुलिस के जरिए प्रतिशोध की राजनीति कर रहे हैं.

राजधानी स्थित पार्टी मुख्यालय में पत्रकारों को संबोधित करते हुए दिल्ली प्रदेश भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता और अन्य नेताओं ने इस मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंिवद केजरीवाल को आड़े हाथ लिया और कहा कि बग्गा ने उनके झूठ को ‘‘बेनकाब’’ किया है, इसलिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है. गुप्ता ने किहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि यदि पुलिस उनके अधीन आ जाएगी तो उन्हें निशाना बनाने वालों को वह सबक सिखाएंगे.

उन्होंने कहा, ‘‘कहावत है कि जब किसी का असली चेहरा देखना हो तो उसे पावर (सत्ता) देकर देखो. आज केजरीवाल का असली चरित्र और चेहरा सामने आ गया है.’’ बग्गा पर हुई कार्रवाई को शर्मनाक करार देते हुए गुप्ता ने कहा कि पंजाब पुलिस इस कदर ‘‘गुंडागर्दी’’ पर उतारू है कि उसने एक सिख को अपनी पगड़ी तक भी नहीं बांधने दी और उसके पिता के साथ दुर्व्यव्हार किया. भाजपा नेता मनंिजदर ंिसह सिरसा ने आरोप लगाया कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान खुद एक सिख हैं, लेकिन इसके बावजूद पंजाब में एक सिख का ‘‘अपमान’’ किया गया है. ज्ञात हो कि भाजपा की दिल्ली इकाई के प्रवक्ता बग्गा भी सिख हैं.

दिल्ली प्रदेश भाजपा की एक अन्य नेता नुपूर शर्मा ने अदालत के एक फैसले का हवाला देते हुए कहा कि एक राज्य की पुलिस दूसरे राज्य में अगर किसी को गिरफ्तार करती है तो उसे स्थानीय पुलिस को इस बारे में सूचना देनी होती है. उन्होंने कहा कि बग्गा के मामले में पंजाब पुलिस की कार्रवाई गैरकानूनी थी क्योंकि उसने दिल्ली पुलिस को इस संबंध में कोई सूचना नहीं दी.

पंजाब पुलिस ने इससे पहले एक बयान जारी कर कहा कि उसने भाजपा की दिल्ली इकाई के प्रवक्ता तेंिजदर पाल ंिसह बग्गा को पिछले महीने मोहाली में उनके खिलाफ दर्ज एक मामले के सिलसिले में राष्ट्रीय राजधानी स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया है.पंजाब पुलिस के अनुसार, बग्गा को पंजाब ले जाया जा रहा है, जहां उन्हें एक अदालत में पेश किया जाएगा.

इस बीच, दिल्ली पुलिस ने बग्गा के पिता की शिकायत पर जनकपुरी थाने में अपहरण का मामला दर्ज किया है. बग्गा के पिता ने शिकायत की है कि शुक्रवार सुबह करीब आठ बजे कुछ लोग उनके घर आए और उनके बेटे को ले गए. गौरतलब है कि पंजाब पुलिस ने पिछले महीने भड़काऊ बयान देने, शत्रुता को बढ़ावा देने और आपराधिक धमकी देने के आरोप में बग्गा के खिलाफ मामला दर्ज किया था. पुलिस ने मोहाली में रहने वाले सन्नी अहलूवालिया नामक एक व्यक्ति की शिकायत के आधार पर यह मामला दर्ज किया था.

पंजाब पुलिस ने बताया कि एक अप्रैल को दर्ज की गई प्राथमिकी के मुताबिक, 30 मार्च को बग्गा ने दिल्ली में मुख्यमंत्री आवास के बाहर भाजपा युवा मोर्चा के विरोध-प्रदर्शन में हिस्सा लिया था और कथित तौर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी. इस बीच, दिल्ली पुलिस की एक टीम ने ‘बेहद नाटकीय घटनाक्रम’ में कुरुक्षेत्र में बग्गा को पंजाब पुलिस से अपने संरक्षण में ले लिया.

पंजाब पुलिस की टीम को कुरुक्षेत्र के पीपली में रोका गया था. हरियाणा पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि उन्हें बताया गया कि बग्गा को उनके आवास से ‘‘जबरन’’ उठाया गया था. कुरुक्षेत्र के एक पुलिस अधिकारी ने फोन पर बताया कि दिल्ली पुलिस की एक टीम कुरुक्षेत्र पहुंची और बग्गा को अपने साथ लेकर राष्ट्रीय राजधानी के लिए रवाना हो गई.

सवाल पूछने पर गिरफ्तारी भाजपा और उसकी ‘बी टीम’ का एक प्रयोग है: कांग्रेस

कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी के नेता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने को लेकर शुक्रवार को भाजपा एवं आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि सवाल पूछने पर गिरफ्तारी करना केंद्र की सत्तारूढ़ पार्टी और उसकी ‘बी टीम’ (आप) का एक प्रयोग है.

पार्टी प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘क्रोनोलॉजी समझिए. पहले ‘होंिल्डग कंपनी’ (भाजपा) ने जिग्नेश मेवानी को गिरफ्तार का लिया.फिर सब्सिडरी कंपनी (आप) ने तेजिंदर बग्गा को गिरफ्तार कर लिया. यह संयोग नहीं, बल्कि प्रयोग है. प्रयोग यह बताने के लिए है कि अगर आप सवाल पूछोगे तो आप गिरफ्तार कर लिऐ जाओगे. आप, भाजपा की ‘बी टीम’ है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘अचानक से पुलिस राज की स्थापना क्यों की जा रही है? यह क्रोनोलॉजी यह होंिल्डग कंपनी और उसकी सब्सिडरी कंपनी दोनों चल रहे हैं.’’

बग्गा को पंजाब में सांप्रदायिक तनाव और हिंसा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है: आप

आम आदमी पार्टी (आप) ने शुक्रवार को दावा किया कि तेजिंदर पाल ंिसह बग्गा को पंजाब पुलिस ने राज्य में सांप्रदायिक तनाव और ंिहसा भड़काने की कोशिश करने के आरोप में दिल्ली से गिरफ्तार किया है. पार्टी ने भाजपा के प्रतिशोध के आरोप को खारिज कर दिया.

एक ओर, आप के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने बग्गा की गिरफ्तारी को लेकर 29 अप्रैल को पटियाला में हुई झड़पों का जिक्र किया, तो दूसरी ओर पंजाब पुलिस ने कहा कि उसने दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता बग्गा को एक अप्रैल को मोहाली में दर्ज एक मामले के सिलसिले में राष्ट्रीय राजधानी में उनके आवास से गिरफ्तार किया गया है. एक अप्रैल की प्राथमिकी में 30 मार्च की बग्गा की उस

टिप्पणी का जिक्र है, जो उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के आवास के बाहर भाजपा की युवा शाखा के विरोध प्रदर्शन के दौरान की थी.
भारद्वाज ने पंजाब पुलिस की कार्रवाई का बचाव करते हुए संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य की पुलिस ने पिछले महीने बग्गा के खिलाफ मामला दर्ज किया था जब उन्होंने अपनी सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से ‘‘राज्य में सांप्रदायिक तनाव पैदा करने और ंिहसा भड़काने की कोशिश की’’ थी.

भारद्वाज ने आरोप लगाया,”इस तरह के बयानों के कारण, पंजाब पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की और अब बग्गा को गिरफ्तार कर लिया. उनके बयान सांप्रदायिक थे. भाजपा से जुड़े बहुत से लोग पटियाला में ंिहसा भड़काने में शामिल थे.” एक अप्रैल की प्राथमिकी आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत दर्ज की गई थी, जिसमें 153-ए (धर्म, जाति, स्थान आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना), 505 (अफवाहबाजी) और 506 (आपराधिक धमकी) शामिल हैं.

बग्गा ‘द कश्मीर फाइल्स’ फिल्म को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरंिवद केजरीवाल के खिलाफ अपने ट्वीट के लिए दिल्ली और पंजाब दोनों में सत्तारूढ़ आप के निशाने पर थे. बग्गा की गिरफ्तारी के बाद, भाजपा ने पंजाब पुलिस पर उनका ”अपहरण” करने का आरोप लगाया. पार्टी ने कहा कि आप के राष्ट्रीय संयोजक नेता अरंिवद केजरीवाल राज्य पुलिस के माध्यम से बदला ले रहे हैं.

भारद्वाज ने पलटवार करते हुए कहा कि पंजाब पुलिस ने बग्गा को इसलिये गिरफ्तार किया क्योंकि वह पांच समन भेजे जाने के बावजूद जांच में शामिल नहीं हुए. भाजपा के प्रतिशोध के आरोपों को खारिज करते हुए उन्होंने कहा, ”प्रतिशोध की कोई बात नहीं है. पंजाब पुलिस निष्पक्ष रूप से अपना काम कर रही है.”

पंजाब पुलिस के अधिकारियों ने मारपीट की और बेटे तेजिंदर को पगड़ी भी नहीं पहनने दी : प्रीतपाल सिंह

पंजाब पुलिस द्वारा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता तेंिजदर पाल सिंह बग्गा को गिरफ्तार किए जाने के बाद दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को इस सिलसिले में अपहरण का मामला दर्ज किया. पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी. दिल्ली पुलिस ने कहा कि बग्गा की गिरफ्तारी से पहले स्थानीय पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी गयी थी.

दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि पंजाब पुलिस ने बग्गा को गिरफ्तार करने से पहले दिल्ली में स्थानीय पुलिस को सूचित नहीं किया. बग्गा के पिता प्रीतपाल सिंह ने आरोप लगाया कि पंजाब पुलिस के जवानों ने उनके चेहरे पर मुक्के मारे और उनके बेटे तेंिजदर को गिरफ्तार करते समय उसे पगड़ी भी नहीं पहनने दी. प्रीतपाल सिंह ने कहा कि उनके बेटे को गिरफ्तार करने के लिए पंजाब पुलिस के 10 से 15 जवान जनकपुरी स्थित उनके घर में जबर्दस्ती घुस गए और बग्गा को गिरफ्तार कर लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button