बीरेन सिंह दूसरी बार बनेंगे मणिपुर के मुख्यमंत्री, गोवा में सावंत और उत्तराखंड में धामी पहली पंसद

इम्फाल/देहरादून/पणजी/लखनऊ. मणिपुर में रविवार को भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद एन बीरेन सिंह लगातार दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री का पद संभालेंगे जबकि भाजपा के विधायक सोमवार को गोवा और उत्तराखंड के लिए अपने नेता का चयन करेंगे. गोवा में प्रमोद सावंत और उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी मुख्यमंत्री पद की दौड़ में आगे नजर आ रहे हैं. हालांकि, दोनों को कुछ विरोध का भी सामना करना पड़ रहा है.

इस बीच, चार राज्यों में सरकार गठन के लिए जारी मशक्कत के बीच नयी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में एक बैठक हो रही है, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा मौजूद हैं.
इससे पहले, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को घोषणा की कि एन बीरेन सिंह दूसरे कार्यकाल के लिए मणिपुर के मुख्यमंत्री बने रहेंगे. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में मणिपुर भेजी गईं सीतारमण ने कहा कि सिंह को सर्वसम्मति से पार्टी के राज्य विधायक दल ने अपना नेता चुना.

पिछले 10 दिनों से जारी अनिश्चितता के बाद विधायक दल की बैठक और यह घोषणा हुई है, क्योंकि प्रतिद्वंद्वी नेता बीरेन सिंह और भाजपा के वरिष्ठ विधायक टी बिस्वजीत सिंह केंद्रीय नेताओं से मिलने के लिए दो बार दिल्ली पहुंचे, जिसे प्रतिद्वंद्वी खेमों द्वारा लामबंदी की कवायद के तौर देखा गया था. हालांकि, पार्टी के भीतर मतभेद का खंडन किया गया था. सीतारमण तथा सह-पर्यवेक्षक बनाए गए केंद्रीय विधि एवं न्याय मंत्री किरेन रिजिजू राज्य में नवनिर्वाचित भाजपा विधायकों की बैठक में भाग लेने के लिए रविवार को इंफाल पहुंचे.

केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव, भाजपा के राज्यसभा सदस्य लैशेम्बा सनाजाउबा और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी महत्वपूर्ण बैठक में शिरकत की. मणिपुर में हाल में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने 60 सदस्यीय सदन में 32 सीट जीतकर सत्ता में वापसी की है. वहीं, उत्तराखंड में नया मुख्यमंत्री चुनने के लिए भाजपा विधायक दल की बैठक सोमवार को देहरादून में बुलाई गई है. प्रदेश भाजपा मीडिया प्रभारी मनवीर सिंह चौहान ने बताया कि भाजपा ने अपने ?नवनिर्वाचित विधायक दल की बैठक यहां राज्य मुख्यालय में सोमवार को चार बजे बुलाई है जिसमें उसके नेता का चयन किया जाएगा.

उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री कौन होगा, इसका फैसला सोमवार को देहरादून में होने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक दल की बैठक में हो जाएगा. सूत्रों की मानें तो इस दौड़ में कार्यवाहक मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सबसे आगे हैं.
इस पहाड़ी प्रदेश में चुनावी नतीजे आने के बाद ही भाजपा की सरकार बननी तय हो गयी थी लेकिन 10 दिनों तक सरकार गठन को लेकर पार्टी में शीर्ष स्तर पर चली कवायद के बाद भी आधिकारिक रूप से यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा.

बहरहाल, यह कवायद रविवार को अंतिम दौर की ओर पहुंचती दिखाई दी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के आवास पर भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई. सूत्रों के मुताबिक पार्टी के शीर्ष नेताओं ने इस बैठक में प्रदेश भाजपा के नेताओं से भावी मुख्यमंत्री के नाम को लेकर रायशुमारी की. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस बैठक में भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा, संगठन महासचिव बी एल संतोष और राज्य के केंद्रीय चुनाव प्रभारी प्र‘‘ाद जोशी मौजूद थे.

इन नेताओं ने धामी, प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, वरिष्ठ नेता सतपाल महाराज और पूर्व केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से भावी मुख्यमंत्री के नाम पर विचार विमर्श किया. बैठक के बाद धामी ने बताया कि सोमवार को विधायक दल की बैठक होगी और इसमें मुख्यमंत्री के नाम पर मुहर लगाई जाएगी. उधर, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सोमवार को गोवा के राज्यपाल से मुलाकात कर राज्य में अगली सरकार बनाने का दावा पेश करेगी. भाजपा की गोवा इकाई के अध्यक्ष सदानंद शेट तानावडे ने रविवार को यह जानकारी दी. सदन का नेता चुनने के लिये भाजपा विधायक दल की बैठक भी सोमवार को होगी. विधायक दल के नेता ही राज्य के अगले मुख्यमंत्री बनेंगे.

तानावडे ने प्रेसवार्ता में कहा, ” भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने सूचित किया है कि पार्टी विधायक दल की बैठक सोमवार को होगी, जिसके बाद पार्टी नेता राज्यपाल पी एस श्रीधरन पिल्लै से मुलाकात करेंगे और अगली सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे.” उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक दल की बैठक सोमवार को शाम चार बजे होगी और इस दौरान भाजपा के पर्यवेक्षक नरेंद्र सिंह तोमर और सह-पर्यवेक्षक एल मुरुगन, गोवा के चुनाव प्रभारी देवेंद्र फडणवीस, डेस्क प्रभारी सी टी रवि भी मौजूद रहेंगे. तानावडे ने कहा कि सोमवार को राज्यपाल से मुलाकात के बाद नयी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह की तारीख को लेकर फैसला किया जाएगा.

उत्तराखंड की तरह ही गोवा में भी कार्यवाहक मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत को नये मुख्यमंत्री की दोड़ में सबसे आगे बताया जा रहा है. सावंत और उनकी पार्टी के सहयोगी विश्वजीत राणे ने शनिवार शाम को नयी दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी, जहां पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा और महासचिव बी एल संतोष भी मौजूद थे. राणे की तरफ से भी मुख्यमंत्री बनने के लिए जोर लगाया जा रहा है.
हाल में भाजपा राज्य की 40 विधानसभा सीट में से 20 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. भाजपा को महाराष्ट्रवादी गोमंतक पार्टी (एमजीपी) के दो और तीन निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है. दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक दल की बैठक नई सरकार के शपथ लेने के एक दिन पहले आगामी 24 मार्च को होने की संभावना है और इसमें औपचारिक रूप से योगी आदित्यनाथ को इसका नेता चुना जाएगा. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने यह जानकारी दी.

योगी आदित्यनाथ का शपथ ग्रहण कार्यक्रम लखनऊ में शहीद पथ पर स्थित इकाना स्टेडियम में 25 मार्च को होगा. शपथ ग्रहण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा समेत कई वरिष्ठ भाजपा नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों के शामिल होने की उम्मीद है. प्रदेश भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने रविवार को ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया ‘‘वैसे तो नवनिर्वाचित भाजपा विधायकों की बैठक की कोई समय, तारीख तय नहीं है लेकिन संभावना है कि आगामी 24 मार्च को यह बैठक हो सकती है.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button