गांवों में छोटे-छोटे उद्यम से रोजगार एवं स्वावलंबन का शुरू हुआ नया दौर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि विकास का सही मतलब लोगों के जीवन में सुख, शांति और समृद्धि लाना है. प्रदेश सरकार द्वारा आमजनता के जीवन में खुशहाली लाने के लिए सुराजी गांव योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी कार्यक्रम, राजीव गांधी किसान न्याय योजना, गोधन न्याय योजना, वनोपज संग्रहण एवं प्रसंस्करण के जरिए ग्रामीण अंचल में छोटे-छोटे उद्यम एवं स्वरोजगार की शुरूआत की गई है. इससे पूरे राज्य में स्वावलंबन का नया वातावरण दिखाई पड़ रहा है. गांवों में उद्यम से रोजगार के नए रास्ते खुले हैं.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज अपने रायपुर निवास कार्यालय में आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम में सूरजपुर और कोरिया जिले को 460 करोड़ 14 लाख रुपए की लागत के विकास कार्यों के लोकार्पण एवं भूमिपूजन समारोह को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने इस मौके पर कोरिया एवं सूरजपुर जिले में जनसुविधा के विकास के लिए 368 निर्माण कार्यों का लोकार्पण व भूमिपूजन किया, जिनमें 184 करोड़ 28 लाख 75 हजार रूपए की लागत वाले 187 कार्यों का लोकार्पण और 275 करोड़ 85 लाख 39 हजार रूपए की लागत वाले 180 कार्यों का भूमिपूजन शामिल है.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कार्यक्रम के दौरान स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल के बच्चों, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी किसान न्याय योजना सहित विभिन्न योजनाओं के लाभान्वित किसानों और महिला स्व- सहायता समूह के सदस्यों से चर्चा की और दोनों जिलों के लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दीं.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम के आग्रह पर सरहरी- सिंघरा-चरमपुर मार्ग स्थित बांकी नदी में पुल निर्माण कराए जाने तथा संसदीय सचिव पारसनाथ राजवाड़े की मांग पर सूरजपुर जिले के ओडगी एवं लटोरी में सहकारी बैंक की शाखा खोले जाने की घोषणा की.

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव एवं विधायक डॉ. विनय जायसवाल के आग्रह पर कोरिया में जिला अस्पताल भवन तथा चिरमिरी में एडवेंचर पार्क के निर्माण कार्य को अतिशीघ्र शुरू करने के निर्देश कलेक्टर को दिए. सूरजपुर जिले में तेलाईकछार-केनापारा में विकसित पर्यटन स्थल के प्राकृतिक सौंदर्य की मुख्यमंत्री ने सराहना की और यहां पर्यटकों की सुविधा एवं विश्राम के लिए हट एवं विश्राम भवन का निर्माण कराए जाने के भी निर्देश कलेक्टर को दिए.

कार्यक्रम में वर्चुअल रूप से शामिल हुए विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को अपनी सरकार की योजनाओं एवं कार्यक्रमों से एक नई गति दी हैं. उन्होंने कहा कि ग्रामीण विकास के सभी सूचकों को छत्तीसगढ़ सरकार ने सही समय पर प्रभावी ढंग से लागू किया है. इससे पूरे छत्तीसगढ़ का सम्बल बढ़ा है. उन्होंने अनुपपुर-अंबिकापुर रेल लाईन के उन्नयन के लिए राज्य सरकार की ओर से बजट प्रावधान किए जाने तथा एलीफेंट अभ्यारण्य के विकास की ओर ध्यान आकर्षित किया.

कार्यक्रम को शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव एवं पारसनाथ राजवाड़े, विधायक डॉ. विनय जायसवाल एवं गुलाब कमरो ने भी सम्बोधित किया. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ तेजी से आगे बढ़ रहा है. कोरोना काल में जब देश आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है वहीं छत्तीसगढ़ में राज्य के सभी क्षेत्रों के विकास के लिए मुख्यमंत्री रोज सैकड़ों करोड़ रूपए की सौगात दे रहे हैं.

इस अवसर में मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविंद्र चौबे, नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया, शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम, संसदीय सचिव पारसनाथ राजवाड़े, सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष एवं विधायक गुलाब कमरो, विधायक डॉ. विनय जायसवाल, अपर मुख्य सचिव सुब्रत साहू उपस्थित थे. कार्यक्रम में विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत, कोरबा सांसद ज्योत्सना महंत, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, संसदीय सचिव अंबिका सिंहदेव, विधायकगण एवं अन्य जनप्रतिनिधि वर्चुअल रूप से कार्यक्रम में शामिल हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close