मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शुरू किया ‘भेंट-मुलाकात’ अभियान, पहले ही दिन नगर पंचायत सीएमओ निलंबित

रायपुर. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार को राज्य के आदिवासी बहुल बलरामपुर जिले से राज्यव्यापी जनसंपर्क अभियान की शुरुआत की. बघेल इस ‘भेंट-मुलाकात’ अभियान के दौरान राज्य के सभी 90 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगे तथा किसी एक गांव में रात्रि विश्राम करेंगे.

मुख्यमंत्री ने अपने ‘भेंट-मुलाकात’ अभियान के पहले दिन ग्रामीणों से मुलाकात की और उनकी समस्याओं का निराकरण किया. वहीं एक महिला की शिकायत पर उन्होंने कुसमी नगर पंचायत के सीएमओ को निलंबित करने का निर्देश दिया. राज्य के राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक मुख्यमंत्री का यह दौरा अगले वर्ष राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए अहम है. राज्य के जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज से राज्य के सभी 90 विधानसभा क्षेत्र में ‘भेंट-मुलाकात’ अभियान की शुरुआत की.

इस अभियान की शुरुआत बघेल ने छत्तीसगढ़ के उत्तरी जिले बलरामपुर से की. इस दौरान बघेल बलरामपुर जिले के सामरी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कुसमी गांव पहुंचे. बघेल ने कुसमी के श्रीराम जानकी मंदिर में पूजा-अर्चना की. इस दौरान वह स्वामी आत्मानंद स्कूल के बच्चों से रूबरू हुए और बच्चों से पढ़ाई को लेकर बातचीत की.

अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान मुख्यमंत्री ने बच्चों को स्वस्थ रहने के लिए रोज योग और व्यायाम करने की सलाह दी. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल जब कुसमी नगर पंचायत के उचित मूल्य राशन दुकान में पहुंचे तब वहां शशिकला बरगाह नाम की महिला ने मुख्यमंत्री से शिकायत की कि उनका नाम गरीबी रेखा सूची से काट दिया गया है, और उसके पास राशन कार्ड नहीं है.

अधिकारियों ने बताया कि शिकायत मिलने पर मुख्यमंत्री बघेल ने कलेक्टर बलरामपुर से बात की और जनसमस्या निवारण में लापरवाही बरतने पर नगर पंचायत के मुख्य नगर पालिका अधिकारी (सीएमओ) एस के दुबे को निलंबित करने का निर्देश दिया. वहीं मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद शशिकला को तत्काल राशन कार्ड जारी कर दिया गया. अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा है ”यदि जनता परेशान होगी तब कार्रवाई निश्चित है.” उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने इस दौरान उचित मूल्य दुकानदार से भंडार पंजी मांग कर देखा और राशन कार्ड के संबंध में जानकारी ली.

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने आम जनता की मांग पर कुसमी-सामरी-बलरामपुर पहुंच मार्ग में कंठी घाट के करीब आठ किलोमीटर सड़क का डामरीकरण, कुसमी में आलू, टमाटर और मिर्ची के खाद्य प्रसंस्करण संयंत्र की स्थापना, कुसमी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में नयी तकनीक वाली एक्सरे मशीन, आईटीआई में नए ट्रेड खोलने, आईटीआई के नए भवन निर्माण तथा नगर पंचायत कुसमी में फायर ब्रिगेड वाहन की व्यवस्था करने की घोषणा की.

उन्होंने बताया कि कुसमी के भ्रमण के दौरान मुख्यमंत्री ने लोगों से पूछा कि पुलिस से संबंधित कोई समस्या तो नहीं है. उन्होंने थाने में रोजनामचा का अवलोकन किया और मालखाने का निरीक्षण किया. इस दौरान नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री डॉक्टर शिव कुमार डहरिया और संसदीय सचिव ंिचतामणि महाराज भी मौजूद थे. अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल इस अभियान के दौरान राज्य के सभी विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करके आमजनों से भेंट-मुलाकात करेंगे तथा शासन की जन कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन का जमीनी स्तर पर अवलोकन करेंगे.

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अपने दौरे में आम लोगों, जनप्रतिनिधियों, सामाजिक संगठनों से चर्चा करेंगे और राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी भी लेंगे. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री दौरे के दौरान गांवों, तहसील कार्यालयों, पुलिस थानों, जनपद कार्यालयों, स्कूलों, आंगनवाड़ियों, स्वास्थ्य केंद्रों के कामकाज तथा सड़क, पानी, बिजली जैसी मूलभूत अधोसंरचनाओं की उपलब्धता का जायजा लेंगे. उन्होंने बताया कि साथ ही वह ग्रामीणों, प्रमुख व्यक्तियों और जनप्रतिनिधियों के भेंट करेंगे और मुख्यमंत्री विधानसभा क्षेत्र में रात्रि विश्राम भी करेंगे.

इधर राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार राज्य में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए मुख्यमंत्री का दौरा महत्वपूर्ण है.
मुख्यमंत्री बघेल के इस दौरे को लेकर राजनीतिक विश्लेषक आर कृष्णा दास कहते हैं, ‘‘यह दौरा इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि राज्य में अगले वर्ष विधानसभा के चुनाव होने हैं, इसे चुनाव की तैयारी के रूप में ही देखा जाना चाहिए.’’ दास ने कहा, ‘‘ मुख्यमंत्री इस दौरे के माध्यम से जमीनी हकीकत की जानकारी लेना चाह रहे हैं. यह अधिकारियों के लिए भी कठिन समय रहेगा क्योंकि मुख्यमंत्री ने शिकायतों पर सीधी कार्रवाई का मन बना लिया है. आज कुसमी नगर पंचायत के सीएमओ के निलंबन की कार्रवाई इसका उदाहरण है.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button