राज ठाकरे के उत्तरी भारतीयों से माफी मांगने संबंधी भाजपा सांसद के बयान पर कांग्रेस ने भाजपा को घेरा

मुबंई. कांग्रेस ने शुक्रवार को महाराष्ट्र के भाजपा नेताओं से उत्तर प्रदेश से भाजपा सांसद द्वारा मनसे प्रमुख राज ठाकरे को दी गई चेतावनी पर उनका रुख साफ करने को कहा. उत्तर प्रदेश के कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र से भाजपा सांसद और राम मंदिर आंदोलन के अग्रणी नेताओं में से एक ब्रजभूषण शरण सिंह ने बृहस्पतिवार को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे के पांच जून को प्रस्तावित अयोध्या दौरे का विरोध किया. सिंह ने चेतावनी देते हुए कहा था, ‘‘जब तक वह उत्तर भारतीयों से सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांग लेते तब तक उन्हें अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं देंगे.’’ हालांकि, महाराष्ट्र की भाजपा इकाई ने कहा कि ब्रजभूषण शरण सिंह का बयान पार्टी का आधिकारिक रुख नहीं है.

सिंह ने बृहस्पतिवार को ट्वीट किया था, ”उत्तर भारतीयों को अपमानित करने वाले राज ठाकरे को अयोध्या की सीमा में घुसने नहीं दूंगा. अयोध्या आने से पहले सभी उत्तर भारतीयों से हाथ जोड़कर माफी मांगें राज ठाकरे.” गौरतलब है कि राज ठाकरे ने महाराष्ट्र की मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने की मांग उठायी, जिसका भाजपा ने समर्थन किया है.

कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई के प्रवक्ता अतुल लोंधे ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार मनसे प्रमुख राज ठाकरे के स्वागत की तैयारी में जुटी है जबकि पार्टी के सांसद ने ठाकरे से माफी मांगने को कहा है. उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस और चंद्रकांत पाटिल को उत्तर प्रदेश के सांसद के बयान पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए.

लोंधे ने आरोप लगाया कि राज ठाकरे पूर्व में उत्तर भारतीयों को निशाना बनाते रहे हैं और उनके पार्टी कार्यकर्ताओं ने रेलवे परीक्षा देने आने वाले उत्तर भारतीयों छात्रों को पीटा था. वहीं, भाजपा की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कोल्हापुर में संवाददाताओं से कहा, ”सांसद का यह व्यक्तिगत बयान है. राज ठाकरे से माफी की मांग करना पार्टी का आधिकारिक रुख नहीं है. पार्टी द्वारा सांसद को तलब किया जाएगा (स्पष्टीकरण के लिए).”

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button