क्रिकेट प्रेमी देश को महिला टीम से भी समान रूप से प्यार करना चाहिए : तापसी पन्नू

मुंबई. अभिनेत्री तापसी पन्नू का कहना है कि उन्होंने बायोपिक ‘‘शाबाश मिठू’’ में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की पूर्व कप्तान मिताली राज की भूमिका निभाई है जो उनकी अब तक की सबसे कठिन भूमिकाओं में से एक है. अब तक की सबसे महान महिला क्रिकेटरों में से एक के रूप में भारतीय बल्लेबाज मिताली राज ने देश में उस खेल को फिर से परिभाषित किया, जिसे आमतौर पर ‘‘जेंटलमैन गेम’’ कहा जाता है.

‘’पिंक’’, ‘‘नाम शबाना’’, ‘‘मुल्क’’ और ‘‘थप्पड़’’ जैसी फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवा चुकीं पन्नू ने कहा ‘‘हमारे देश में दो धर्म हैं- क्रिकेट और फिल्म. अगर आप खुद को क्रिकेट प्रेमी कहते हैं तो आपको महिला क्रिकेट से भी उतना ही प्यार करना चाहिए. आप सिर्फ पुरुषों के क्रिकेट के प्रेमी नहीं हैं. क्रिकेट मायने रखता है न कि लिंग.’’ अभिनेत्री ने ‘‘पीटीआई-भाषा’’ से कहा, ‘‘उसी तरह कलाकार का लिंग मायने नहीं रखता. यह इस बारे में होना चाहिए कि फिल्म कैसी है. यदि फिल्म किसी पुरुष नायक के बारे में है तो आप फिल्म की पहले से ही बुकिंग कर लेते हैं, लेकिन एक महिला नायिका की फिल्म के लिए समीक्षाओं की प्रतीक्षा की जाती है. ’’

पन्नू ने कहा कि वह ‘‘शर्मिंदगी’’ महसूस करती हैं, क्योंकि वह पूर्व भारतीय कप्तान, उनकी यात्रा और उपलब्धियों से तब तक अनजान थीं, जब तक कि मिताली राज ने क्रिकेट में उनके पुरुष समकक्षों के साथ तुलना को लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त नहीं की. उल्लेखनीय है कि 2017 आईसीसी महिला विश्व कप की पूर्व संध्या पर, मिताली राज से पूछा गया कि भारत और पाकिस्तान टीम के बीच उनका पसंदीदा पुरुष क्रिकेटर कौन है.

इस पर उन्होंने तीखा जवाब देते हुए पूछा था, ‘‘क्या आप किसी पुरुष क्रिकेटर से पूछते हैं कि उनकी पसंदीदा महिला खिलाड़ी कौन है?’’ अभिनेत्री ने कहा, ’’मैं इस प्रश्न का उत्तर दस वर्षों से अधिक समय से दे रही हूं कि आपका पसंदीदा पुरुष सितारा कौन है? आप किसके साथ काम करना चाहती हैं?’’ उन्होंने कहा ‘‘मैं शायद ही पुरुष सितारों को (उसी) सवाल का जवाब देते हुए देखती हूं.’’ अनुभवी अभिनेता विजय राज अभिनीत ‘‘शाबाश मिठू’’ 15 जुलाई को सिनेमाघरों में रिलीज होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

हर घर तिरंगा अभियान


This will close in 10 seconds