IPL स्थगित होने के बाद UAE में आयोजित किया जा सकता है टी20 विश्व कप

आईपीएल के विदेशी खिलाड़ियों को वापस भेजने का तरीका ढूंढ लेंगे: आईपीएल अध्यक्ष

नयी दिल्ली/मुंबई. इस साल भारत में होने वाला टी20 विश्व कप यूएई में आयोजित किया जा सकता है क्योंकि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को लगता है कि कोई भी टीम उस समय यहां आने में सहज महसूस नहीं करेगी.

इस बारे में अंतिम फैसला एक महीने में कर दिया जाएगा लेकिन पता चला है कि जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में कोविड-19 के कुछ मामले पाये जाने के कारण इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) स्थगित किये जाने के बाद बीसीसीआई भी अक्टूबर – नवंबर में होने वाले 16 टीमों के टूर्नामेंट को आयोजित करने से कतरा रहा है.

पीटीआई को पता चला है कि बीसीसीआई के अधिकारियों की हाल में केंद्र सरकार के कुछ शीर्ष अधिकारियों से चर्चा हुई तथा टूर्नामेंट को यूएई में आयोजित करने पर काफी हद तक सहमति बन गयी है. यह टूर्नामेंट नौ स्थानों पर खेला जाना है जिनकी घोषणा अभी नहीं की गयी है.

बीसीसीआई के सूत्रों ने गोपनीयता की शर्त पर कहा, ‘‘आईपीएल का चार सप्ताह के अंदर निलंबन इस बात का संकेत है कि जबकि देश पिछले 70 वर्षों में अपने सबसे बुरे स्वास्थ्य संकट से जूझ रहा है तब इस तरह की वैश्विक प्रतियोगिता की मेजबानी करना वास्तव में सुरक्षित नहीं होगा.’’

स्टार इंडिया ने आईपीएल को स्थगित करने के बीसीसीआई के फैसले का किया समर्थन
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आधिकारिक प्रसारणकर्ता स्टार इंडिया ने जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में कोविड-19 के मामले आने के बाद इस लुभावनी टी20 लीग को मंगलवार को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करने के भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के फैसले का समर्थन किया है.

आईपीएल के विदेशी खिलाड़ियों को वापस भेजने का तरीका ढूंढ लेंगे: आईपीएल अध्यक्ष
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के चेयरमैन बृजेश पटेल ने मंगलवार को कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) जैविक रूप से सुरक्षित वातावरण में कोविड-19 संक्रमण के मामले सामने आने पर लीग को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित किए जाने के बाद विदेशी खिलाड़ियों की वापसी का तरीका ढूंढ लेगा.

विदेशी खिलाड़ी कैसे वापस जाएंगे इस बारे में पूछे जाने पर बृजेश ने पीटीआई से कहा, ‘‘हमें उन्हें स्वदेश भेजने की जरूरत है और हम ऐसा करने का तरीका ढूंढ लेंगे.’’ इस लुभावनी लीग से जुड़े विदेशी खिलाड़ी अपने देशों में लौटने को लेकर ंिचतित हैं क्योकि भारत में घातक महामारी फैलने के कारण कई देशों ने यात्रा पाबंदियां लगाई हैं. बीसीसीआई इससे पहले भी विदेशी खिलाड़ियों की सुरक्षित वापसी का आश्वासन दे चुका है.

कुछ दिन पहले आस्ट्रेलिया के तीन खिलाड़ियों के हटने के बाद आईपीएल में इस देश के 14, न्यूजीलैंड के 10 और इंग्लैंड के 11 खिलाड़ी बचे हैं. दक्षिण अफ्रीका के 11, वेस्टइंडीज के नौ, अफगानिस्तान के तीन और बांग्लादेश के दो खिलाड़ी भी आईपीएल के लिए भारत में हैं.

न्यूजीलैंड क्रिकेट (एनजेडसी) ने इस स्थिति से निपटने में बीसीसीआई की क्षमता पर भरोसा जताया है. ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ ने एनजेडसी के बयान के हवाले से कहा, ‘‘खिलाड़ियों संभवत: सुरक्षित माहौल में हैं और प्रभावित टीमों के खिलाड़ी पृथकवास में हैं.’’

बयान के अनुसार, ‘‘स्थिति के प्रबंधन के लिए हम बीसीसीआई, इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) और न्यूजीलैंड सरकार के अधिकारियों के साथ काम करते रहेंगे लेकिन इस समय संभावित विकल्पों के बारे में चर्चा करना जल्दबाजी होगी.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close