कपिल सिब्बल को पार्टी से निष्कासित करने करने की मांग

रायपुर. छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव ने पार्टी नेतृत्व के खिलाफ टिप्पणी करने को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के निष्कासन की मांग की है. सिंहदेव ने ट्वीट किया है, कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के फैसले के खिलाफ अपनी व्यक्तिगत और अप्रिय राय को सार्वजनिक करने के लिए उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया जाना चाहिए.

मंत्री सिंहदेव ने अपने ट्वीट में अंग्रेजी के एक अखबार के उस हिस्से को साझा किया है जिसमें सिब्बल ने साक्षात्कार में कांग्रेस नेतृत्व पर सवाल उठाया है. सिब्बल के इस साक्षात्कार में लिखा गया है कि ‘गांधियों को हटना चाहिए, किसी अन्य नेता को मौका देना चाहिए.’ अखबार के इस हिस्से को साझा करते हुए सिंहदेव ने इसे ‘हर तरह से कपिल सिब्बल का अपमानजनक बयान!’ कहा है.

सिंहदेव ने कहा है, ‘‘सुधार के लिए किए जा रहे कड़े फैसलों के बीच सिब्बल को सीडब्ल्यूसी के संयुक्त निर्णय के खिलाफ अपनी व्यक्तिगत और अप्रिय राय जाहिर करने के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया जाना चाहिए.’’ कांग्रेस नेता सिब्बल ने कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना साधते हुए हाल ही में एक बयान में कहा था कि गांधियों को हटना चाहिए और किसी अन्य नेता को पार्टी का नेतृत्व करने का मौका देना चाहिए.

सिब्बल के इस बयान से गांधी परिवार के करीबी लोग उनके खिलाफ हो गए तथा उन्होंने सिब्बल पर भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की भाषा बोलने का आरोप लगाया है. सिब्बल कांग्रेस ‘जी 23’ समूह का हिस्सा हैं. ‘जी 23’ समूह के नेता इससे पहले भी कांग्रेस नेतृत्व की आलोचना कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button