दिल्ली नगर निकायों के अतिक्रमण विरोधी अभियान के खिलाफ प्रदर्शन, आप MLA अमानतुल्ला हिरासत में

नयी दिल्ली. दिल्ली के नगर निकायों ने बृहस्पतिवार को विभिन्न इलाकों में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया. वहीं, इसके खिलाफ मदनपुर खादर इलाके में ंिहसक प्रदर्शन हुआ और स्थानीय लोगों ने दावा किया कि वैध ढांचे भी ध्वस्त किए जा रहे हैं. पुलिस के मुताबिक दक्षिणपूर्व दिल्ली के मदनपुर खादर इलाके में स्थानीय लोगों ने बुलडोजर को रोकने की कोशिश की और सुरक्षा र्किमयों पर पथराव किया. हालांकि, उन्हें मौके से तितर-बितर कर दिया गया.

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मदनपुर खादर में हुए प्रदर्शन में शामिल आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक अमानतुल्ला खान को भी अन्य लोगों के साथ हिरासत में लिया गया है. खान ने हालांकि, आरोप लगाया कि दिल्ली पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली पुलिस ने मुझे गिरफ्Þतार कर लिया है. मुझे कैद कर सकते हैं, मेरे हौसलों को नहीं.’’ दक्षिणी दिल्ली नगर निगम (एसडीएमसी) ने मदनपुर खादर और धीरसेन मार्ग पर से अवैध और अस्थायी ढांचों को हटाया जबकि उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) ने रोहिणी और करोल बाग इलाके में कार्रवाई की.

दिल्ली के तीनों नगर निगमों- एसडीएमसी, एनडीएमसी और पूर्वी दिल्ली नगर निगम- में भाजपा का शासन है. दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों और पुलिस की सुरक्षा में बुलडोजर से मदनपुर खादर के कंचन कुंज में कथित अवैध ढांचों को ध्वस्त किया गया जिसका विरोध करने के लिए महिलाओं सहित स्थानीय लोग सड़कों पर आ गए और कुछ लोग इमारतों की छत पर चढ़ गए.

आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने मदनपुर खादर के कंचन कुंज में अपने समर्थकों और स्थानीय लोगों के साथ इस अभियान का विरोध किया. कुछ लोगों ने वहां भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विरोध में नारे लगाए. पुलिस के मुताबिक लोगों ने सुरक्षार्किमयों पर पथराव किया लेकिन उन्हें तितर-बितर कर दिया गया. दक्षिण दिल्ली नगर निगम के अधिकारियों ने बताया कि कंचन कुंज इलाके में दो से तीन अवैध इमारतों और अन्य अस्थायी ढांचों को ध्वस्त किया गया है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने हालांकि कहा, ‘‘हमने आप विधायक अमानतुल्ला खान और अन्य को अभियान का विरोध करने पर हिरासत में लिया है. हमने पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की है ताकि सुनिश्चित कर सकें कि कोई अवांछित घटना नहीं हो.’’ प्रदर्शन के दौरान भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सुरक्षार्किमयों को हेलमेट पहने और हाथों में लाठियां लिए हुए देखा गया. स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि नगर निकाय के अधिकारियों ने निर्माण की अनुमति देने के लिए ‘‘रुपये लिए थे.’’ उन्होंने इस कार्रवाई को ‘‘राजनीति से प्रेरित’’बताया.

इलाके के रहने वाले 32 वर्षीय नौशाद ने कहा कि कार्रवाई पूर्वाह्न 11 बजे शुरू हुई और ध्वस्त किए गए ढांचों में उनके भाई की इमारत भी शामिल है. उन्होंने दावा किया, ‘‘ पुलिस के साथ-साथ नगर निकाय ने रुपये लेकर 20 दिन पहले ही निर्माण को मंजूरी दी थी. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने निर्माण को गिरा दिया. मेरे भाई के पास जमीन के कागज है जिसे उसने किसान से खरीदी है. नगर निकाय ने मेरे भाई से तीन लाख रुपये लिए थे. अब वे हमसे बात करने को भी तैयार नहीं हैं.’’ एक अन्य निवासी ने संवाददाताओं से कहा कि यह कार्रवाई ‘‘राजनीति से प्रेरित’’है.

उन्होंने सवाल किया, ‘‘यह कोई अतिक्रमण नहीं है. अगर कोई ढांचा अवैध तरीके से बना है तो एसडीएमसी कहां था जब ऐसी इमारतों का निर्माण किया जा रहा था?’’ इससे पहले खान ने कहा कि यह अभियान गरीबों के खिलाफ है. उन्होंने ट्वीट के माध्यम से अपने समर्थकों से विरोध के लिए कंचन कुंज पहुंचने की अपील की.

खान ने कहा, ‘‘गÞरीबों के मकान पर बुलडोजÞर नहीं चलने दूंगा. मेरी गिरफ्तारी से गरीबों के मकान बचते हों तो गिरफ्तार करें. हम अतिक्रमण के खिलाफ हैं… यहां कोई अतिक्रमण नही है.’’ एसडीएमसी मध्य जोन के अध्यक्ष राजपाल सिंह ने खान के आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि यह अभियान ‘‘माफिया’’ के खिलाफ है जिन्होंने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किया है.

राजपाल ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ”पर्याप्त पुलिस बल और बुलडोजर, ट्रक आदि के साथ हमारे दल ने मदनपुर खादर में अवैध रूप से बनी गुमटियों, अस्थायी ढांचों को हटाना शुरू कर दिया है. अतिक्रमण के खिलाफ हमारा अभियान जारी रहेगा और इसमें बाधा डालने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.’’ नवीनतम कार्रवाई नगर निकाय द्वारा अप्रैल के मध्य में शुरू किए गए अतिक्रमण विरोधी अभियान का हिस्सा है.

नगर निकाय ने 20 अप्रैल को जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया था जहां कुछ दिन पहले हनुमान जयंती पर निकाली गई शोभा यात्रा के दौरान सांप्रदायिक झड़प हो गई थी. इस अभियान को उच्चतम न्यायालय के आदेश के बाद रोक दिया गया.
इसके बाद शाहीन बाग, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी, द्वारका और नजफगढ़ जैसे इलाकों में अतिक्रमण विरोधी अभियान चलाया गया.
सोमवार को भी शाहीन बाग में एक अभियान के दौरान आप विधायक अमानतुल्ला खान ने विरोध प्रदर्शन किया था. अधिकारियों के काम में ‘‘अवरोध’’ उत्पन्न करने के लिए उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी.

उत्तर दिल्ली क्षेत्र में एनडीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा,‘‘हमें पुलिस और अन्य कर्मी उपलब्ध करा दिए गए हैं. रोहिणी और करोल बाग क्षेत्रों में अतिक्रमण रोधी अभियान चलाया जा रहा है.’’ उन्होंने कहा कि रोहिणी में केएन काटजू मार्ग पर अवैध अस्थायी ढांचे को हटाया जा रहा है जबकि पटेल नगर में प्रेम गली में कार्रवाई की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button