हड़प्पा युगीन राखीगढ़ी में मिले दो मानव कंकालों के डीएनए नमूने जांच के लिए भेजे

राखीगढ़ी. हरियाणा में हड़प्पा कालीन शहरी केंद्र राखीगढ़ी में मिले दो मानव कंकालों से एकत्रित डीएनए नमूने को जांच के लिए भेजा गया है. जांच रिपोर्ट से हजारों साल पहले राखीगढ़ी क्षेत्र में रहने वाले लोगों की वंश परंपरा (पूर्वजों) और उनकी भोजन की आदतों के बारे में जानकारी मिल सकती है. दो महिलाओं के कंकाल कुछ महीने पहले टीला संख्या 7 (भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा आरजीआर 7 नामित) में पाए गए थे, माना जाता है कि यह लगभग 5,000 वर्ष पुराना है.

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के अधिकारियों ने बताया कि एक गड्ढे में कंकाल के बगल में दबे हुए बर्तन और अन्य कलाकृतियां मिलीं, जो हड़प्पा सभ्यता में अंतिम संस्कार संबंधी कर्मकांड का हिस्सा थीं. एएसआई के संयुक्त महानिदेशक एसके मंजुल ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘हिसार जिले में दो गांवों (राखी खास और राखी शाहपुर) के आसपास बिखरे हुए सात टीले (आरजीआर 1 से आरजीआर 7) राखीगढ़ी पुरातात्विक स्थल का हिस्सा हैं.

आरजीआर 7 हड़प्पा काल का वह स्थान है जहां शवों का अंतिम संस्कार किया जाता था, जब यह एक सुव्यवस्थित शहर था. हमारी टीम ने दो महीने पहले दो कंकालों का पता लगाया था. विशेषज्ञों द्वारा लगभग दो सप्ताह पहले डीएनए नमूने एकत्र किए गए.’’ फिलहाल आरजीआर 1, आरजीआर 3 और आरजीआर 7 में जांच की जा रही है. मंजुल ने कहा कि वह दिल्ली से लगभग 150 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में राखीगढ़ी स्थल पर उत्खनन दल का नेतृत्व 24 फरवरी, 2022 से कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि नमूनों की प्रारंभिक जांच और वैज्ञानिक तुलना का काम बीरबल साहनी इंस्टीट्यूट आॅफ पैलियोसाइंसेज, लखनऊ करेगा. इसके बाद मानवशास्त्रीय दृष्टिकोण से फोरेंसिक विश्लेषण के लिए इसे आगे भेजा जाएगा. मंजुल ने कहा कि डीएनए विश्लेषण के नतीजे इस प्राचीन शहर में रहने वाले लोगों के पूर्वजों के बारे में बताने में मदद करेंगे मसलन क्या वे मूल निवासी थे या कहीं बाहर से बसने के लिए आए थे. इसके अलावा दांत से लिए गए नमूने उनके भोजन की आदतों के बारे में बताएंगे, मसलन वे किस तरह का भोजन करते थे.

डीएनए नमूना लेने के लिए विशेषज्ञों ने विशेष वर्दी पहन रखी थी, ताकि नमूने दूषित न हों. राखीगढ़ी में जारी खुदाई कार्य में पंडित दीन दयाल उपाध्याय पुरातत्व संस्थान, ग्रेटर नोएडा और एएसआई की खुदाई शाखा- दो के सदस्य शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button