खुद को कामयाबी की किसी दौड़ में नहीं मानता क्योंकि मैं कोई घोड़ा नहीं हूं : अक्षय कुमार

इंदौर. फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने शुक्रवार को कहा कि वह खुद को पेशेवर सफलता की किसी भी प्रतिस्पर्धा से दूर मानते हैं और अदाकारी के मामले में किसी खास छवि में कैद भी नहीं होना चाहते. कुमार ने इंदौर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘मुझे (सफल अभिनेताओं की फेहरिस्त में) कभी नम्बर एक, कभी नम्बर दो, तो कभी नम्बर तीन पर बताया जाता है. लेकिन मैं खुद को किसी प्रतिस्पर्धा में मानता ही नहीं हूं.’’ उन्होंने अपनी बात में जोड़ा, ‘‘मैं कोई घोड़ा नहीं हूं जो दौड़ में पहले, दूसरे या तीसरे नम्बर पर आता है.’’

कुमार ने कहा कि बतौर अभिनेता उनकी हमेशा कोशिश रहती है कि वह किसी खास छवि में कैद होकर न रह जाएं. उन्होंने कहा, ‘‘मैं अलग-अलग तासीर के किरदार निभाना चाहता हूं.’’ 54 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि उन्होंने कई सितारों वाली फिल्मों में काम करने से कभी गुरेज नहीं किया क्योंकि वह पेशेवर तौर पर खुद को हमेशा ‘‘सुरक्षित’’ मानते हैं.

कुमार अपनी फिल्म ‘‘रक्षाबंधन’’ के प्रचार के लिए इंदौर आए थे जो 11 अगस्त से सिनेमाघरों में लगने वाली है. इसी तारीख को आमिर खान की मुख्य भूमिका वाली फिल्म ‘‘लालंिसह चड्ढा’’ भी बड़े परदे पर उतर रही है. उन्होंने एक सवाल पर खान की इस फिल्म का नाम लिए बगैर कहा कि वह दोनों फिल्मों के बीच कोई प्रतिस्पर्धा महसूस नहीं कर रहे हैं और ‘‘दिल से’’ चाहते हैं कि दोनों फिल्में टिकट खिड़की पर अच्छा प्रदर्शन करें ताकि फिल्म उद्योग को फायदा हो सके.

सोशल मीडिया पर फिल्म ‘‘रक्षाबंधन” के बहिष्कार का हैशटैग प्रचलित होने के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने कहा कि उन्हें इस बारे में कुछ भी नहीं पता है. उन्होंने हालांकि कहा, ‘‘अगर आप जैसे पढ़े-लिखे लोग (प्रश्न करने वाला पत्रकार) इन चीजों पर ध्यान देने लगेंगे, तो हमारे देश में सबकुछ बायकॉट (बहिष्कृत) हो जाएगा. मैं तो यही कहूंगा कि हम अपने दिमाग का इस्तेमाल करें और आपको जो पसंद आता है, वह करें और जो नापसंद है, वह ना करें.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button

हर घर तिरंगा अभियान


This will close in 10 seconds