प्रवर्तन निदेशालय अब केंद्र सरकार के ‘प्रवर्तन निर्देशों की संस्था’ बन गया है: कांग्रेस

नयी दिल्ली/कोलकाता. कांग्रेस ने बृहस्पतिवार को प्रवर्तन निदेशालय पर केंद्र सरकार के ‘प्रवर्तन निर्देशों की संस्था’ बन जाने का आरोप लगाया और सवाल किया कि उन आरोपों पर अडाणी समूह से पूछताछ कब होगी जिनमें कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने श्रीलंका में एक परियोजना के संदर्भ में इस समूह की कथित तौर पर पैरवी की थी. मुख्य विपक्षी दल का यह आरोप मीडिया के एक हिस्से में आई खबरों पर आधारित है. इस आरोप को श्रीलंका की सरकार और अडाणी समूह दोनों ने खारिज किया है.

कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘राहुल गांधी जी से ईडी ने पिछले कई दिनों में कई बार पूछताछ की है. यह सिर्फ उनकी प्रतिष्ठा धूमिल करने की कोशिश और राजनीतिक नाटक था.’’ उन्होंने उन खबरों का हवाला दिया जिनमें दावा किया गया था कि श्रीलंका की सरकारी कंपनी ‘सेलोन इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड’ के प्रमुख ने वहां की एक संसदीय समिति के समक्ष कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री ने एक परियोजना को हासिल करने के लिए श्रीलंकाई राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे पर कथित तौर पर दबाव डाला था.
वल्लभ ने सवाल किया, ‘‘इस मामले में पूछताछ क्यों नहीं हुई? ईडी और दूसरी एजेंसियां क्यों सोई हुई हैं?’’ उन्होंने आरोप लगाया कि प्रवर्तन निदेशालय अब मोदी सरकर के ‘प्रवर्तन निर्देशों की संस्था’ बन गया है.

श्रीलंका से जुड़े इस विवाद के प्रकाश में आने के बाद अडाणी समूह ने एक बयान में आरोपों को खारिज करते हुए कहा था, ‘‘श्रीलंका में निवेश करने का हमारा इरादा पड़ोसी की जरूरतों का निदान करने से जुड़ा है….ध्यान भटकाने के लिए जो हुआ है उससे हम निराश हैं. सच्चाई यह है कि श्रीलंका सरकार द्वारा इस मामले का निवारण कर दिया गया.’’ श्रीलंका के राष्ट्रपति राजपक्षे ने आरोपों को सिरे से खारिज किया था.

अगर ईडी ने अभिषेक, उनके परिवार को प्रताड़ित करना जारी रखा तो विरोध-प्रदर्शन करेंगे : तृणमूल कांग्रेस

तृणमूल कांग्रेस सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी से ईडी की पूछताछ पर विरोध जताते हुए पार्टी ने बृहस्पतिवार को भाजपा नीत केंद्र सरकार पर ‘‘राजनीतिक प्रतिशोध’’ के चलते एजेंसी के दुरुपयोग का आरोप लगाया. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बृहस्पतिवार को तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजिरा नरुला बनर्जी से कोलकाता स्थित अपने कार्यालय में करोड़ों रुपये के कोयला चोरी घोटाले की जांच के सिलसिले में पूछताछ की.

रुजिरा यहां सीजीओ कॉम्प्लेक्स स्थित ईडी के कार्यालय में पूर्वाह्न 11 बजे पहुंचीं. उस समय रुजिरा की गोदी में उनका बेटा था.
तृणमूल कांग्रेस ने चेतावनी दी कि अगर अभिषेक बनर्जी और उनके परिवार को ‘‘केंद्रीय एजेंसी द्वारा प्रताड़ित’’ करना बंद नहीं किया गया तो उसके कार्यकर्ता विरोध-प्रदर्शन करेंगे.

तृणमूल कांग्रेस सांसद शांतनु सेन ने आरोप लगाया, ‘‘ सीबीआई और ईडी भाजपा के ‘एजेंट’ की तरह काम कर रहीं हैं और विपक्षी नेताओं को प्रताड़ित किया जा रहा है. जिस तरह से बिना किसी कारण अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी को प्रताड़ित किया जा रहा है, वह अस्वीकार्य है. इसे बंद करना होगा, अन्यथा हम चुपचाप नहीं बैठेंगे. हम इसका विरोध करेंगे.’’ तृणमूल कांग्रेस के प्रदेश सचिव कुणाल घोष ने दावा किया कि पार्टी को भयभीत करने के लिए भाजपा ‘घटिया हथकंडे’ अपना रही है.

हालांकि, भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने आरोपों को बेबुनियाद करार देते हुए कहा कि ईडी एक स्वतंत्र जांच एजेंसी है. उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा का सीबीआई जांच से कोई संबंध नहीं है. आरोप बेबुनियाद हैं. अगर उन्हें कोई शिकायत है तो वे अदालत का रुख कर सकते हैं.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button