मोदी की प्रामाणिकता और पारर्दिशता पर विरोधी भी आरोप नहीं लगा सकते: शाह

नयी दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच में देश सबसे ऊपर है और वह वोट बैंक की राजनीति नहीं करते, बल्कि रचनात्मक तरीके से उच्च लक्ष्यों को लेकर आगे बढ़ते हुए सबसे बेहतर परिणाम लाने के लिए काम करते हैं। शाह ने यह बात ‘‘मोदी@20 : ड्रीम्स मीट डिलीवरी’’ पुस्तक के विमोचन के अवसर पर अपने संबोधन में कही। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने इस पुस्तक का विमोचन किया। इस अवसर पर विदेश मंत्री एस जयशंकर, कई केंद्रीय मंत्री, सांसद व वरिष्ठ नेता उपस्थित थे।

शाह ने मोदी को देश का ‘‘निर्विवाद’’ नेता करार दिया और कहा कि उनकी प्रामाणिकता व पारर्दिशता पर उनके राजनीतिक विरोधी भी आरोप नहीं लगा सकते। उन्होंने कहा, ‘‘उनकी हर सोच में व्यापक दृष्टिकोण होता है। वह हमेशा रचनात्मक तरीके से और उच्च लक्ष्यों के लिए सोचते हैं। वह देश के लिए सबसे ज्यादा सोचते हैं। वह सबसे ज्यादा और बेहतर परिणाम लाने की सोचते हैं। इसलिए देश को उनपर भरोसा है।’’ शाह ने कहा कि मोदी में राष्ट्रभक्ति कूट-कूट कर भरी है और उनकी प्रामाणिकता व पारर्दिशता पर विरोधी भी आरोप नहीं लगा सकते।

उन्होंने मोदी को एक बेहतरीन श्रोता बताया और कहा कि अक्सर व्यक्ति अपने स्वयं की, आसपास व परिवार की सोचता है और उसके बाद समाज की सोचता है लेकिन प्रधानमंत्री ने समाज को ही परिवार माना। शाह ने कहा कि मोदी ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को वैश्विक पहचान दी और इसके लिए उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया है और खुद को सर्मिपत किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘शब्द या पुस्तक उनका (मोदी) वर्णन नहीं कर सकते हैं।’’ इस अवसर पर उपराष्ट्रपति नायडू ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने विश्व के सामने साबित किया है कि सपनों को साकार भी किया जा सकता है। यह पुस्तक पीएम मोदी के पिछले 20 वर्षों के राजनीतिक जीवन को दर्शाती है, जिसमें गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में उनके कार्यकाल से लेकर भारत के प्रधानमंत्री बनने तक का ब्यौरा शामिल हैं और इसे उद्योग और राजनीति के प्रख्यात बुद्धिजीवियों और व्यक्तित्वों द्वारा संकलित किया गया है।

पुस्तक ब्लूक्राफ्ट डिजिटल फाउंडेशन द्वारा संपादित और संकलित है। यह प्रख्यात बुद्धिजीवियों और विशेषज्ञों द्वारा लिखित अध्यायों का संकलन है। पुस्तक में योगदान देने वालों में सुधा मूर्ति, सद्गुरु, नंदन नीलेकणी, गृह मंत्री अमित शाह, विदेश मंत्री एस जयशंकर, दिवंगत महान गायिका लता मंगेशकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, उद्योगपति उदय कोटक, अभिनेता अनुपम खेर, बैडंिमटन स्टार पीवी ंिसधु और प्रधानमंत्री के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button