देश में प्रजातंत्र के लिए खतरा हैं पारिवारिक पार्टियां : नड्डा

जयपुर. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को कहा कि ‘पारिवारिक पार्टियां देश के प्रजातंत्र के लिये खतरा हैं और यह प्रजातंत्र के लिये अच्छा नहीं है.’ इसके साथ ही उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि केवल उनकी पार्टी (भाजपा) विचारधारा पर आधारित है. उन्होंने यह बात सवाईमाधोपुर में प्रदेश भाजपा के अनुसूचित जनजाति विशिष्ट जन सम्मेलन को संबोंधित करते हुए कही.

नड्डा ने कहा कि भाजपा भारत की एकमात्र राजनीतिक पार्टी है जो विचारधारा पर आधारित हैं. भाजपा अध्यक्ष ने सवाल किया, ‘‘जम्मू कश्मीर का संविधान, भारत का अभिन्न अंग होना चाहिए था या नहीं होना चाहिए था? आप कांग्रेसवालों से पूछिए क्या हो गया था उनको उस दिन (जिस दिन अनुच्छेद 370 को निष्क्रिय करने के लिए विधेयक आया था) संसद के अंदर, जो वे इसके विरोध में खड़े हो गये.’’

उन्होंने कहा कि ‘‘ आप पूछिये पारिवारिक पार्टियों से कि क्या हो गया था ङ्घ क्यों चले गये थे वे विचारधारा छोड़कर, क्यों भटक गये थे…ङ्घ कहते हो इंडियन नेशनल कांग्रेस .. ना तुम इंडियन रह गये हो.. न भारतीय रहेङ्घ, न तुम नेशनल रह गये हो.. कांग्रेस तो परिवार की पार्टी बन गई है, भाई -बहन की पार्टी बन गई है.’’ उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश में समाजवादी पार्टी, हरियाणा की लोकदल, पश्चिम बंगाल की टीएमसी (तृणमूल कांग्रेस), तेलंगाना और तमिलनाडु की पार्टियां और तो और महाराष्ट्र में एनसीपी (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी)और शिवसेना भी परिवार की पार्टियां बन गई हैं,ङ्घ यह देश के लिये खतरनाक है.. कहने को ये क्षेत्रीय पार्टी बनती है और बाद में ये पारिवारिक पार्टियां हो जाती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button