जम्मू-कश्मीर के पुलवामा और बारामूला जिलों में मुठभेड़, चार आतंकवादी ढेर

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा और बारामूला जिलों में मंगलवार को सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में चार आतंकवादी मारे गए. पुलिस ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इनमें से एक आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद गुट का था.
पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने बारामूला जिले के सोपोर इलाके के तुलिबल गांव में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था. आतंकवादियों के सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाने से अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया.

उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में दो अज्ञात आतंकवादी मारे गए. इन पंक्तियों के लिखे जाने तक अभियान जारी था. प्रवक्ता ने बताया कि दूसरी मुठभेड़ दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के तुज्जान इलाके में हुई, जिसमें दो आतंकवादी मारे गए.कश्मीर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने बताया कि मारे गए आतंकवादियों में एक की पहचान मजीद नजीर के तौर पर हुई है, जो जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ा था. उन्होंने बताया कि कुछ दिन पहले उप-निरीक्षक फारूक अहमद मीर की हत्या कर दी गई थी, जिसमें नजीर शामिल था.

‘हाइब्रिड’ आतंकी, आतंकवादियों के तीन सहयोगी गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर के बारामूला जिले में सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा के एक ‘‘हाइब्रिड आतंकवादी’’ को गिरफ्तार किया, जबकि आतंकवादियों के तीन सहयोगियों को बडगाम जिले में गिरफ्तार किया गया. यह जानकारी पुलिस ने मंगलवार को दी. पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि आतंकवादियों की आवाजाही के संबंध में विशेष सूचना पर कार्रवाई करते हुए मंगलवार शाम करीब चार बजे पुलिस और सेना के 52 आरआर द्वारा बारामूला में जुहामा चौराहे के पास एक संयुक्त जांच चौकी स्थापित की गई.

उन्होंने बताया कि जांच के दौरान एक संदिग्ध व्यक्ति की हरकत देखी गई और सुरक्षाबलों को देखकर उसने भागने का प्रयास किया. उन्होंने बताया कि हालांकि, सतर्क संयुक्त दल ने उसे पकड़ लिया. प्रवक्ता ने बताया कि गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान बांदीपोरा जिले के हाजिन क्षेत्र के कठपोरा निवासी शाहिद अहमद पर्रे के रूप में हुई है.

उन्होंने कहा, ‘‘उसकी व्यक्तिगत तलाशी में उनके पास से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद, एक पिस्तौल, पिस्तौल की एक मैगजीन, सात कारतूस और दो हथगोले बरामद किए गए.’’ प्रवक्ता ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि आरोपी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े ‘‘हाइब्रिड आतंकवादी’’ के रूप में काम कर रहा था. उन्होंने बताया कि वह बारामूला कस्बे और आसपास के इलाकों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की कोशिश कर रहा था. बडगाम जिले में सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों के तीन सहयोगियों को गिरफ्तार कर लश्कर-ए-तैयबा के एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया.

प्रवक्ता ने कहा कि उनकी पहचान आशिक हुसैन हाजम, गुलाम मोहि-उद-दीन डार और ताहिर बिन अहमद के रूप में हुई है. उन्होंने कहा, ‘‘प्रारंभिक जांच से पता चला है कि गिरफ्तार तीनों बडगाम जिले में आतंकवादियों, हथियारों/विस्फोटक सामग्री के परिवहन और प्रतिबंधित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सक्रिय आतंकवादियों को रसद सहायता प्रदान करने में शामिल थे.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button