युद्ध के कारण बढ़े आर्थिक संकट से नागरिकों पर पड़े बोझ को कम करने का प्रयास कर रही सरकार: मोदी

भोपाल. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण पिछले दो साल से आर्थिक मुसीबत से घिरी दुनिया अब लड़ाई (यूक्रेन-रूस युद्ध की ओर इशारा करते हुए) के मैदान में उतर गई है, जिसके कारण आर्थिक संकट और अधिक गहरा गया है. उन्होंने कहा कि भारत के नागरिकों पर इस संकट के कारण पड़ने वाले आर्थिक बोझ को कम करने और उन्हें मदद पहुंचाने के लिए सरकार प्रयास कर रही है.

मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत मध्यप्रदेश के 5.21 लाख लाभार्थियों का ‘गृह-प्रवेश’ कराने के लिए डिजिटल माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में यह बात कही. राज्य स्तरीय इस कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज ंिसह चौहान छतरपुर जिले से शामिल हुए. मोदी ने कहा, ‘‘पहले कोरोना के कारण दुनिया मुसीबत में फंस गई, अब दुनिया लड़ाई के मैदान में उतरी हुई है. इसके कारण अनेक प्रकार की आर्थिक व्यवस्थाओं पर नया संकट पैदा होता जा रहा है.

भारत के नागरिकों पर बोझ कम से कम कैसे हो, इसके लिए देश के नागरिकों को जितना हो सके उतनी मदद पहुंचाने का प्रयास चल रहा है.’’ कोविड-19 महामारी की ओर इशारा करऐ हुए उन्होंने कहा कि यह 100 साल में आई सबसे बड़ी महामारी है और केंद्र सरकार गरीबों के लिए मुफ्त राशन सुनिश्चित करने के लिए 2.60 लाख करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है. उन्होंने कहा कि अगले छह महीने में इस पर 80,000 करोड़ रुपये और खर्च किए जाएंगे. मोदी ने कांग्रेस सहित विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारे देश में कुछ दलों ने गरीबी दूर करने के लिए नारे बहुत लगाए, लेकिन गरीबों को सशक्त करने के लिए काम नहीं किया. एक बार जब गरीब सशक्त होता है, तो उसमें गरीबी से लड़ने का हौसला आता है.

मोदी ने कहा कि किसान और पशुपालक को ड्रोन जैसी आधुनिक तकनीक और प्राकृतिक खेती जैसी पुरातन व्यवस्था की ओर प्रोत्साहित किया जा रहा है. इसके साथ ही गांव की दूसरी क्षमताओं को भी निखारा जा रहा है. प्रधानमंत्री ने कहा कि हर जिले में 75 अमृत सरोवरों का निर्माण मानवता का बहुत बड़ा काम है, जिसे हमें जरूर करना चाहिए. उन्होंने सभी राज्य सरकारों, स्थानीय निकायों और पंचायतों से इस दिशा में कार्य करने का आग्रह किया.

मोदी ने कहा, ‘‘हम सब मिलकर एक काम कर सकते हैं. हम संकल्प करें कि इस वर्ष प्रतिपदा से अगली वर्ष प्रतिपदा तक, हर जिले में 75 अमृत सरोवर बनाएंगे. संभव हो तो हर जिले में ये अमृत सरोवर नए हों, बड़े हों.’’ उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज ंिसह चौहान की सरकार को बधाई देते हुए कहा कि अनाज की सरकारी खरीद में मध्यप्रदेश ने नया रिकॉर्ड बनाया और देश के कई राज्यों को पीछे छोड़ दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button